कोविड-19: आपका पार्टनर हो गया है संक्रमित? इन तरीकों से करें देखभाल

संक्रमित व्यक्ति को घर में दूसरों से अलग रखें. Image/Shutterstock

संक्रमित व्यक्ति को घर में दूसरों से अलग रखें. Image/Shutterstock

परिवार का कोई सदस्‍य अगर कोरोना संक्रमित (Infected) हो तो यह बहुत नाजुक स्थिति होती है, क्‍योंकि ऐसे में कोरोना पॉजिटिव मरीज (Corona Positive Patient) की देखभाल के साथ खुद का भी ख्‍याल रखना जरूरी होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 2:45 PM IST
  • Share this:
इस समय देश में कोरोना (Coronavirus) का प्रकोप फैला हुआ है. ऐसे में जरूरी है कि इससे बचाव के लिए हम पूरी एहतियात रखें. मगर फिर भी कई बार हमारे परिवार का कोई सदस्‍य कोरोना संक्रमण (Infection) की चपेट में आ सकता है. यह बहुत नाजुक स्थिति होती है, क्‍योंकि अगर घर में ही कोई कोरोना पॉजिटिव मरीज (Corona Positive Patient) हो तो एक ओर तो उसकी पूरी देखभाल रखना जरूरी होता है, वहीं खुद को और अन्‍य लोगों को संक्रमण न फैले इसका भी बचाव जरूरी हो जाता है. हेल्‍थलाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर घर में कोई सदस्‍य संक्रमित हो तो घर के अन्‍य लोगों को संक्रमण का खतरा लगभग 50% होता है. इस स्थिति में जब आपका पार्टनर Covid-19 संक्रमित हो जाए तो उसकी मदद और देखभाल करने के साथ खुद को भी सुरक्षित रखना किसी चुनौती से कम नहीं होता. इसके लिए विशेषज्ञों ने कुछ जरूरी सुझाव दिए हैं-

अलग हो बेडरूम और बाथरूम

अगर आपके पार्टनर या घर में किसी अन्‍य सदस्‍य को कोरोना संक्रमण हो गया है तो Covid-19 वाले व्यक्ति को घर में दूसरों से अलग रखें. वहीं अगर संभव हो तो, संक्रमित व्यक्ति को अलग बेडरूम और बाथरूम का उपयोग करना चाहिए. साथ ही परिवार के अन्‍य सदस्‍य मरीज से पर्याप्‍त दूरी पर रहें. ताकि मरीज को असुविधा न हो और न ही वह अन्‍य लोगों के संपर्क में आ सके.

ये भी पढ़ें - कोरोना काल में जा रहे हैं दफ्तर, तो संक्रमण से बचने को बरतें ये एहतियात
कमरे की खिड़कियां खुली रखें

अपने रहने वाले क्वार्टर में वेंटिलेशन को बेहतर बनाए रखने के लिए कमरे की खिड़कियों को जितना संभव हो सके, उतना खुला रखें. वहीं संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले हर व्यक्ति को कोरोना संक्रमण के बारे में सूचित करना न भूलें.

मास्‍क से कम होगा खतरा



जो व्यक्ति बीमार है उसे अन्य लोगों के आसपास रहते हुए मास्क पहनना चाहिए और उनके साथ रहने वाले, देखभाल करने वाले व्‍यक्ति को भी मास्क पहनना या चेहरा ढक कर रखना चाहिए. मास्‍क पहनने से कोरोना संक्रमण अन्‍य लोगों तक फैलने का खतरा कम रहेगा. इसके अलावा जब आप संक्रमित व्यक्ति के पास हों तो काले चश्मा पहनना चाहिए. इससे वायरस के सीधे आंखों के म्यूकस मेम्ब्रेन में जाने से बचा जा सकता है.

हाथों की सफाई का रखें ध्‍यान

सीडीसी (Centers For Disease Control And Prevention) सुझाव देता है कि हाथ की स्वच्छता बनाए रखें. कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं. खासकर तब जब संक्रमित व्यक्ति के पास से आए हों. अगर साबुन और पानी आसानी से उपलब्ध न हो तो कम से कम 60 प्रतिशत अल्कोहल का उपयोग करें. साथ ही अपनी आंखों, नाक और मुंह को हाथों से छूने से बचें. साथ ही घर के साथ अन्‍य वस्तुओं की सफाई पर भी ध्‍यान दें.

ये भी पढ़ें - कोरोना संक्रमण का खतरा होगा 30 फीसदी तक कम, जानें क्‍या कहती है ये स्‍टडी

ये सावधानियां भी हैं जरूरी

-संक्रमित व्‍यक्ति की खाने की इच्‍छा घटने लगती है. ऐसे में कुछ हल्‍का, सेहत को बेहतर रखने वाला ताजा भोजन जरूर खाने को दें, ताकि शरीर को पोषक तत्‍व मिलें और सेहत में जल्‍दी सुधार हो. मगर साथ में खाने से बचें.

-संक्रमित व्‍यक्ति की इस्‍तेमाल की चीजें अलग होनी चाहिए. वहीं ऐसे व्‍यक्ति के कपड़े भी एहतियात के साथ अलग हो धोएं. ताकि संक्रमण का खतरा अन्‍य लोगों तक न पहुंचे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज