Chaitra Navratri 2020: व्रत रखने से शरीर को होते हैं ये 5 खास फायदे, इम्यूनिटी से जुड़ा है कनेक्शन

गेहूं को उगाने पर जो एक पत्ता उग कर ऊपर की तरफ आता है उसे जौ या ज्वारा कहा जाता है. नवरात्रि के समय घरों में छोटे-छोटे मिट्टी के बर्तनों में मिट्टी डालकर इसे बोया जाता है.

नवरात्रि का व्रत रखना आपकी हेल्‍थ के लिए कई तरीके से फायदेमंद हो सकता है. इससे न केवल आपकी बॉडी अच्‍छे से डिटॉक्‍स हो जाती है बल्कि आपकी इम्‍यूनिटी भी बढ़ती है.

  • Share this:
    चैत्र नवरात्रि 25 मार्च से शुरू होने वाली है. इसकी समाप्ति 02 अप्रैल को होगी. इन नौ दिनों में मां के 9 स्वरूपों की पूजा-अर्चना की जाती है. इस अवसर पर घर में न केवल कलश की स्थापना की जाती है बल्कि मां दुर्गा की भक्ति में लोग व्रत भी रखते हैं. व्रत रखना न केवल श्रद्धा और भक्त‍ि का भाव है बल्कि इसके शरीर पर कई तरीके के फायदे भी होते हैं. नवरात्रि का व्रत रखना आपकी हेल्‍थ के लिए कई तरीके से फायदेमंद हो सकता है. इससे न केवल आपकी बॉडी अच्‍छे से डिटॉक्‍स हो जाती है बल्कि आपकी इम्‍यूनिटी भी बढ़ती है. इसके अलावा आपकी स्किन ग्‍लोइंग हो जाती है. आइए आपको बताते हैं कि नवरात्रि व्रत आपके लिए किस तरह से फायदेमंद हो सकता है.

    इसे भी पढ़ेंः दांतों की सुंदरता को बढ़ाने के लिए लगवाना चाहते हैं ब्रेसेस, जान लें फायदे और नुकसान

    कम होता है वजन
    व्रत रखने के दौरान फैट बर्निंग प्रोसेस काफी तेज सो होता है. साथ ही फैट सेल्स में लैप्ट‍िन नाम का हॉर्मोन प्रोड्यूस होता है. व्रत के दौरान कम कैलोरी मिलने से लैप्ट‍िन की सक्रियता पर असर पड़ता है और वजन कम होता है. नवरात्रि में व्रत के दौरान आप अन्य दिनों की अपेक्षा कम कैलोरी लेते हैं. ऐसे में आपको इन नौ दिनों में अतिरिक्त कैलोरी बर्न करने में आसानी होती है.

    इम्यूनिटी बढ़ती है
    आपको बता दें कि व्रत रखने से इम्‍यूनिटी बढ़ती है. इसके साथ ही कोलाइटिस, कब्‍ज, सिरदर्द, थकान जैसी समस्‍याओं से भी छुटकारा मिलता है. व्रत रखने से पेट की कई तरह की समस्याएं दूर होती हैं.

    स्किन होती है ग्‍लोइंग
    नौ दिनों के व्रत में आपकी लाइफस्‍टाइल और डाइट पर काफी असर पड़ता है. इससे न केलव हेल्थ अच्छी रहती है बल्कि व्रत रखने से स्किन भी चमकदार बनी रहती है. फलों, सूखे मेवों के सेवन से स्किन पर भी फर्क नजर आने लगता है और बाल भी बेहतर होने लगते है. व्रत के दौरान आप फलाहार के अलावा खाने-पीने पर अधिक ध्यान नहीं दे पाते जबकि लिक्विड डाइट ज्‍यादा लेते हैं. ऐसे में आपकी बॉडी में पानी की कमी भी पूरी होती है और स्किन हाइड्रेट रहती है.

    स्‍ट्रेस होता है कम
    आज के समय में स्‍ट्रेस एक बहुत बड़ी समस्या है. इससे कई अन्‍य तरह की बीमारियां हो सकती हैं. व्रत करने से स्‍ट्रेस में कमी आती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दिमाग शांत रहता है. व्रत रखने के दौरान आप काफी पॉजीटिव सोचते हैं. व्रत करने से डिप्रेशन और दिमाग से जुड़ी कई समस्याओं से छुटाकारा मिलता है.

    इसे भी पढ़ेंः आंखों की फुंसी 'गुहेरी' का इन घरेलू तरीकों से करें इलाज, जल्द कम होगा दर्द और सूजन

    बॉडी डिटॉक्‍स होती है
    व्रत करने से शरीर के भीतर मौजूद टॉक्सिन साफ हो जाते हैं. इसके साथ ही डाइजेस्टिव सिस्‍टम भी पहले से बेहतर हो जाता है.

    Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.