Chaitra Navratri 2020: नवरात्रि में उगाए जाने वाले गेहूं का ज्वारा आपकी हेल्थ के लिए हो सकता है फायदेमंद, जानें कैसे

Chaitra Navratri 2020: नवरात्रि में उगाए जाने वाले गेहूं का ज्वारा आपकी हेल्थ के लिए हो सकता है फायदेमंद, जानें कैसे
गेहूं को उगाने पर जो एक पत्ता उग कर ऊपर की तरफ आता है उसे जौ या ज्वारा कहा जाता है. नवरात्रि के समय घरों में छोटे-छोटे मिट्टी के बर्तनों में मिट्टी डालकर इसे बोया जाता है.

गेहूं के ज्वार को व्हीट ग्रास के नाम से भी जाना जाता है. यह एक प्रकार की औषधी है जिसे ग्रीन ब्लड भी कहते हैं. इसे खाने से कई प्रकार की बीमारियों से भी बचा जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 8:00 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
चैत्र नवरात्रि 2020 की शुरुवात हो चुकी है, हालांकि लॉकडाउन के चलते लोग इस बार अपने घरों में ही मां दुर्गा की पूजा कर रहे हैं. आपको बता दें कि नवरात्रि के समय कलश स्थापना करते समय इस मौके पर घर में गेहूं के ज्वारे उगाए जाते हैं. गेहूं के ज्वार को व्हीट ग्रास के नाम से भी जाना जाता है. यह एक प्रकार की औषधी है जिसे ग्रीन ब्लड भी कहते हैं. इसे खाने से कई प्रकार की बीमारियों से भी बचा जा सकता है. नवरात्रि में बोए जाने वाले इस जौ की न केवल पूजा की जाती है बल्कि इसका सेवन भी किया जाता है. यह शरीर को हेल्दी बनाए रखता है. व्हीट ग्रास का जूस पीना हर मौसम में हेल्दी होता है, इसमें फैट की मात्रा बहुत कम होती है. यह प्रोटीन, विटामीन, कैल्शियम और मिनरल से भरपूर होता है. व्हीट ग्रास का जूस पीने से स्किन इंफेक्शन, मोटापा और डायबिटीज जैसी बीमारियों से दूर रहा जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंः Chaitra Navratri 2020: व्रत के दौरान जरूर फॉलो करें ये हेल्दी डाइट प्लान, रहें स्वस्थ

क्या होता है व्हीट ग्रास
गेहूं को बोने पर जो एक पत्ता उग कर ऊपर की तरफ आता है उसे जौ या ज्वारा कहा जाता है. नवरात्रि के समय घरों में छोटे-छोटे मिट्टी के बर्तनों में मिट्टी डालकर इसे बोया जाता है. इसके पत्तों को पीसकर जूस निकाला जाता है जिसे व्हीट ग्रास जूस कहा जाता है. यह हेल्थ के लिए बहुत अच्छा होता है. आयुर्वेद के अनुसार व्हीट ग्रास जूस पित्त असंतुलन से होने वाले कई रोगों में बहुत लाभकारी है. इसके अलावा इसे पीने से यूरीन और किडनी संबंधी रोग भी दूर होते हैं. आंखों की रोशनी के लिए भी इसे बहुत ही अच्छा माना जाता है. पिंपल्स, फोड़ा-फुंसी, घांव और जल जाने पर भी व्हीट ग्रास जूस का सेवन किया जाता है. यह स्किन इंफेक्शन को दूर करता है. यह जूस थायरॉयड की बीमारी में भी फायदेमंद होता है. व्हीट ग्रास कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में भी मदद करता है. अगर आप बालों की किसी भी प्रकार की समस्या से जूझ रहे हैं तो व्हीट ग्लास जूस आपकी मदद कर सकता है. इस जूस को बालों की जड़ों में लगाने से बालों का झड़ना बंद होता है और साथ ही डेंड्रफ की समस्या भी दूर होती है.



वजन करता है कम


व्हीट ग्रास में बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं. इसके जूस को पीने से काफी देर तक पेट भरा रहता है जिससे ज्यादा खाने की भूख नहीं लगती और वजन भी कंट्रोल में रहता है.

बॉडी को डिटॉक्स करता है
इसके जूस में मौजूद बीटा ग्लूकेन बॉडी से टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद करता है. इसके अलावा यह पाइल्स के खतरे को भी कम करता है. पेट की कई प्रकार की समस्याओं के साथ-साथ यह कब्ज में भी राहत देता है. साथ ही यह आंतों को भी साफ रखता है और ब्लड सर्कुलेशन को भी ठीक रखता है.

एनीमिया दूर करता है
व्हीट ग्रास जूस को पीने से शरीर में ब्लड की मात्रा बढ़ती है और हीमोग्लोबिन का लेवल सामान्य रहता है. यह एनीमिया को दूर करने में मददगार साबित होता है.

अर्थराइटिस का दर्द होता है दूर
अर्थराइटिस की समस्या होने पर जोड़ो में दर्द और अकड़न होने लगती है. लेकिन व्हीटग्रास जूस पीने से ये समस्या दूर होती है. इसमें मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण ये अर्थराइटिस से परेशान महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है.

इसे भी पढ़ेंः Chaitra Navratri 2020: व्रत में क्यों खाना चाहिए सेंधा नमक, जान लें इसके खास फायदे

एनर्जी से भरपूर
आजकल लोग पोषक तत्वों की कमी के कारण बहुत जल्दी थक जाते हैं. ऐसे में व्हीट ग्रास जूस पीने से बॉडी को एनर्जी मिलती है. अगर आप काफी देर तक बैठकर वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं तो ये जूस आपको एनर्जी देगा.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.
First published: March 26, 2020, 8:00 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading