अपना शहर चुनें

States

चाणक्य नीति: दोस्त और दुश्मन की इस तरह करें पहचान

chanakya niti signs of friend and enemy
chanakya niti signs of friend and enemy

जब तक आप अपने दुश्मन की कमजोरी नहीं जान जाते तब तक उससे दोस्ती रखने में ही भलाई है: चाणक्य नीति

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2019, 7:19 AM IST
  • Share this:
महान कूटनीतिज्ञ और चंद्रगुप्त जैसे चरवाहे की प्रतिभा को पहचानकर उसे तराश कर राजा बना देने वाले गुरु चाणक्य ने जीवन से संबंधित कई पहलुओं पर नीति की बातें बताई हैं. कूटनीति का अच्छा ज्ञान होने की वजह से चाणक्य का एक नाम कौटिल्य भी था. उसने मनुष्य के जीवन में दोस्त और दुश्मनों का क्या प्रभाव पड़ता है यह भी बताया था. दोस्त जहां जिंदगी के हर बुरे समय में काम आते हैं और हमें प्रेरणा देते हैं तो वहीं दुश्मन हमें नीचा दिखाने से कभी बाज नहीं आते हैं और हमें तोड़ने का पूरा प्रयास करते हैं. आइए जानते हैं राजनीति के महान जानकार आचार्य चाणक्य ने दोस्त और दुश्मनों को पहचानने के लिए क्या संकेत बताये हैं और उनके साथ हमें किस तरह व्यवहार करना चाहिए.

आचार्य चाणक्य ने लिखा कि अगर हम जिंदगी में सफलता पाना चाहते हैं तो हमें ऐसे दोस्तों की जरूरत होती है जो हमें आगे बढ़ने की प्रेरणा दें, लेकिन अगर हम बहुत ज्यादा सफल होना चाहते हैं तो हमें दुश्मनों की जरूरत होती है. इसे ऐसे समझ सकते हैं कि जब कोई आपका बुरा करने का प्रयास करे या आपको नीचा दिखाए तो आप अपनी प्रतिभा और खुद को सही साबित करने के लिए ज्यादा मेहनत करते हैं.

ज्यादातर युवाओं को शादी लगती है बोझ, रहना चाहते हैं सिंगल- सर्वे



जब तक आप अपने दुश्मन की कमजोरी नहीं जान जाते तब तक उससे दोस्ती रखने में ही भलाई है. इस दौरान आपको उसकी कमियां पता चल जाएंगी. ऐसे में जब वो आप पर अपना कोई पैंतरा आजमाएगा तो आपके पास पहले से ही उसका तोड़ मौजूद रहेगा.
इस दिन सबसे ज्यादा होता है ब्रेकअप, रिसर्च में हुआ खुलासा

आचार्य चाणक्य ने बताया कि जिन लोगों का चरित्र बुरा हो, जिनकी नजर अच्छी न हो और जो लोग बुरे लोगों की संगत में रहते हैं उन्हें गलती से भी दोस्त नहीं बनाना चाहिए.

कम होगा मोटापा, रोज बस इतनी देर चलें पैदल

दोस्त और दुश्मन की पहचान को लेकर आचार्य चाणक्य ने बताया कि जिस प्रकार चन्दन का पेड़ अपनी मादक सुगंध और शीतल प्रकृति के लिए विख्यात है लेकिन इस गुण की वजह से ही उसपर दुनिया के सबसे ज्यादा विषैले सांप लिपटे रहते हैं. इसी प्रकार ये जरूरी नहीं कि जो व्यक्ति आपके सामने अच्छा व्यवहार कर रहा है वह वास्तव में आपका दोस्त या हितैषी हो. इस बात की भी संभावना है कि वो आपके प्रति अपने मन में कुविचार और शत्रुता का भाव रखता हो.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज