लाइव टीवी
Elec-widget

बच्चों को देना है सुनहरा भविष्य, तो अभी से ऐसे करें प्लान!

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 10:46 AM IST
बच्चों को देना है सुनहरा भविष्य, तो अभी से ऐसे करें प्लान!
बच्चों को देना है सुनहरा भविष्य, तो अभी से ऐसे करें प्लान!

बच्चों के भविष्य के लिए अभी से प्लान करके चलें तो बेहतर है ताकि आगे जाकर परेशानी ना उठानी पड़े...

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 10:46 AM IST
  • Share this:
आज के समय में बच्चों की परवरिश और उनकी पढ़ाई लिखाई काफी मेहनत और खर्चे वाला काम है. स्कूल, कॉलेज की आसमान छूती फीस के चलते आप अपने बच्चों को किस तरह शिक्षा दे पाते हैं ये काम भी कम चुनौतीपूर्ण नहीं है. जाहिर सी बात है कि आपको अपनी सैलरी और इससे हुई बचत के पैसों से ही घर चलाना है. लेकिन बच्चों के भविष्य के लिए अभी से प्लान करके चलें तो बेहतर है ताकि आगे जाकर परेशानी ना उठानी पड़े. आइए जानते हैं कि किस तरह से आप बच्चों के भविष्य के लिए बचत कर सकते हैं....

बच्चों के सुनहरे भविष्य के लिए आपको फाइनेंशियल प्लानिंग में शामिल होना चाहिए. इसमें लिक्विडिटी, फ्लेक्सिबल और बेस्ट रिटर्न्स का होना बेहद जरूरी है.

बच्चे के भविष्य के लिए आप जो योजना बना रहे हैं उसका सटीक ब्लूप्रिंट पहले से तैयार न करें. इसमें गुंजाइश बाकी रखें. जैसे कुछ लोग प्लान करते हैं कि जब बच्चा पोस्ट ग्रेजुएट करेगा तब उसके लिए एफडी से इतने रुपये निकाले जा सकेंगे. लेकिन अगर बच्चे को कोई दूसरा कोर्स करना हुआ और समय से पहले ही ज्यादा पैसों की जरूरत पड़ी तो आप कैसे मैनेज करेंगे. आइए जानते हैं...

इसे भी पढ़ें: प्यार से ज्यादा परिवार का साथ देता है ख़ुशी: रिसर्च

स्टेप 1- वर्तमान समय को देखते हुए बच्चे का भविष्य प्लान करें. सोचिये कि उसकी परवरिश और शिक्षा दीक्षा के लिए आप कितनी बचत कर सकते हैं. इसे इस तरह समझिए कि जब आपका बच्चा 20 साल का होगा तब तक आप उसके लिए डेढ़ लाख रुपये की बचत करना चाहते हैं. तो इसके लिए आज से ही बचत करना शुरू कर दें.
स्टेप 2- 20 सालों के हिसाब से 1 साल का हिसाब निकाल लें. बच्चे के 1 साल के होते आप बीसवें का एक भाग बचत कर लें. इसी तरह से आगे भी करें.

इसे भी पढ़ें: इस कोर्स में हुए फेल तो जिंदगी भर रह जाएंगे कुंवारे, छीन लिया जाएगा शादी का अधिकार
Loading...

स्टेप 3- जब आपका बच्चा दो साल का हो तो बाकी खर्चों का हिसाब अलग लगाकर बचत के हिसाब को अलग करने की कोशिश करें.
स्टेप 4- बचत करते वक्त इस बात का ख्याल रखें कि आने वाले समय में मुद्रास्फीति (inflation) यानी कि पैसों के अवमूल्य के कारण खर्चों पर असर पड़ सकता है. आठ-नौ फीसदी की ऊंची दर से ही बजट का हिसाब बनायें.
स्टेप 5- इस बात को सुनिश्चित करें कि हर साल आपको ब्याज किस रेट पर चाहिए. रिस्क की भी एक लिस्ट जरूर तैयार कर लें.

स्टेप 6- आपने जितने return के बारे में सोचा है उसके आधार पर ही निवेश करने का तरीका चुनें.

स्टेप 7- किसी योजना में धन लगाइए. इससे आने वाले समय में आप अपने बच्चों को एक अच्छा भविष्य दे पाएंगे.

(मनीकंट्रोल)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए यंग पेरेंट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 10:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...