अपना शहर चुनें

States

अगर नाश्ते में मिल जाए ये 'चाऊ चाऊ भात', तो दिन की शुरुआत होगी शानदार

चाऊ-चाऊ भात
चाऊ-चाऊ भात

Chow-Chow Bath: सूजी का हलवा और सूजी उपमा को एक साथ परोसने को ही चाऊ-चाऊ भात कहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 3:12 PM IST
  • Share this:
(विवेक कुमार पांडेय)

वैसे तो दक्षिण भारतीय खाना अब धीरे-धीरे नॉर्थ इंडिया में भी मशहूर होने लगा है. यहां तक की सामान्य ऑफिस जाने वाले दंपति जल्दी से बनने वाले हेल्दी खाने के तौर पर साउथ इंडियन खाने (South Indian Food) को ही तरजीह देते हैं. स्वाद और स्वास्थ्य दोनों के लिए यह बेहतर ही होता है. ऐसे में आज मैं एक ऐसी डिश की जानकारी देने जा रहा हूं जो आपके नाश्ते का नाज बढ़ा सकती है. 'चाऊ चाऊ भात'- नाम देख डरिए मत. अमूनन अगर दिल्ली में आप चाऊ-चाऊ भात का नाम लेते हैं तो सुनने वाला कह सकता है कि यह कोई 'इंडियन चाइनीज' डिश होगी. लेकिन, असल में यह दक्षिण भारत के कर्नाटक से निकली हुई खास पेशकश है. चाऊ-चाऊ भात किसी एक डिश का नाम न होकर दो खानों के एक साथ परोसने की व्यवस्था है.

नमकीन और मीठे की संगम
एक बहुत ही हेल्दी इंग्रीडिएंट, सूजी से यह बनाया जाता है. साधारण भाषा में कहूं तो सूजी का हलवा और सूजी उपमा को एक साथ परोसने को ही चाऊ-चाऊ भात कहते हैं. हालांकि स्थानीय भाषा में उपमा को कारा भात और हलवे को केसरी भात कहते हैं. दोनों को एक प्लेट में नाश्ते के तौर पर पेश किया जाता है.
पारंपरिक नहीं, एडवांस वर्जन है


वैसे तो कारा भात और केसरी भात बहुत पुरानी डिश हैं. लेकिन, इनको साथ में परोसने का अंदाज बिल्कुल नया ही है. बेंगलुरु में खाने के जानकार लोगों का कहना है कि मॉर्डन रेस्तरां कल्चर में ही इसे पेश किया जाता है. घरों में चाऊ-चाऊ भात खाने की कोई पुरानी परंपरा नहीं रही है.

नाम भी देसी ही है
असल में चाऊ-चाऊ का इस डिश से कोई अमेरिकन या चाइनीज कनेक्शन नहीं कराता है. बल्कि यह पूरी तरह से लोकल भाषा ही है. चायोटे सब्जी को तमिलनाडु में चाऊ चाऊ कहते हैं. साथ ही कर्नाटका में मिक्सचर आदि को चाऊ चाऊ कहते हैं. चूंकि इस डिश में दो अलग-अलग प्रकार के खानों को मिलाया जाता है इसलिए इसका नाम चाऊ-चाऊ भात पड़ा होगा, ऐसा माना जाता है.

पूरे साउथ इंडिया में धूम है इसकी
पारंपरिक ढंग से कहीं पर केसरी भात या उपमा एक साथ नहीं परोसा जाता है. लेकिन, अब धीरे-धीरे कई रेस्तरां इस नई परंपरा को अपना रहे हैं. मिनी प्लेटर आदि में तो इनके साथ ही डोसा और इडली भी परोस दी जाती है. लोगों को भी यह खाना काफी पसंद आ रहा है. लोगों का कहना है कि इसे नारियल चटनी के साथ खाने में मजा आता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज