होम /न्यूज /जीवन शैली /

कॉन्टिनेंटल-इंडियन स्ट्रीट फूड खाने का है मन, तो Yellow Bowl का स्वाद चखें

कॉन्टिनेंटल-इंडियन स्ट्रीट फूड खाने का है मन, तो Yellow Bowl का स्वाद चखें

नूडल्स की वैरायटी देखकर आपके मुंह में पानी आने लगेगा.

नूडल्स की वैरायटी देखकर आपके मुंह में पानी आने लगेगा.

Famous Food Joints Of Delhi-NCR: येलो बाउल आउटलेट पर नूडल्स (Noodles) कई प्रकार के हैं, जिनमें सिंगापुरी, हक्का, चिली-गार्लिक, बटर-चाप, चिली-चाप नूडल्स हैं तो राइज भी कई प्रकार के मिलते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    (डॉ. रामेश्वर दयाल)
    अब पास्ता, पिज्जा, मोमोज, नूडल्स आदि फूड हमारे खानपान में सामान्य हो चले हैं. असल में ये हैं तो कॉन्टिनेंटल डिश लेकिन इनका भारतीयकरण हो चुका है. भारतीयकरण इसलिए कह सकते हैं कि इनके स्वाद और मसालों में ‘देसी’ तड़का लग चुका है. उदाहरण के तौर पर चावल को ले लीजिए. पहले उबले, पुलाव या बिरयानी के रूप में चावल का प्रयोग होता था, लेकिन अब आपको कई प्रकार की चावल की डिश मिलेगी, जिनमें जिंजर-गार्लिंक फ्राइड राइस, सेजवान फ्राइड राइज, चिली-गार्लिक फ्राइड राइज के अलावा चिली-पनीर फ्राइड राइज से लेकर पनीर-बटर फ्राइड राइज शामिल है. कहने का अर्थ यही है कि इस प्रकार के फूड को हम कॉन्टिनेंटल-इंडियन स्ट्रीट फूड कह सकते हैं. आज हम आपको इसी प्रकार के स्ट्रीट फूड का स्वाद चखवाते हैं. इस आउटलेट पर आपको कई प्रकार के पास्ता, मोमोज, नूडल्स मिलेंगे. स्वाद खासा लाजवाब होगा. बड़ी बात है कि इन डिश का रेट भी जेब पर भारी नहीं पड़ता है.

    यहां के खानपान में कई प्रकार की वैरायटी का जलवा
    असल में यह एक फूड चेन है. दिल्ली में इसके चार आउटलेट खुल चुके हैं, जिनमें से तीन में अभी तक टेक-अवे सिस्टम चल रहा है तो एक में बैठने की व्यवस्था है. इस फूड चेन का नाम भी शानदार है. इसे दिल्ली में ‘येलो बाउल’ (Yellow Bowl) के नाम से जाना जाता है. इसके ओनर का कहना है कि असल में यह आउटलेट ‘The Hut of Indian Street Food’ है, जिसमें हमने बेजोड़ स्वाद और वैरायटी को शामिल किया है.

    इसे भी पढ़ेंः ऑरिजनल चाइनीज फूड खाना हो तो एक बार दिल्ली के ‘चाइनीज हॉकर’ पहुंचें

    वैसे इनके आउटलेट का मैन्यू देखें तो हमें लगता है कि ये तो कॉन्टिनेंटल-इंडियन स्ट्रीट फूड से कम नहीं है. इनके यहां मिलने वाले डिश भी एक से एक हैं, जिनमें मोमोज की ही कई वैरायटी है, इनमें स्टीम, फ्राइड, मलाई, पिज्जा, मन्चुरियन मोमोज शामिल है. इनके यहां मिलने वाले बर्गर भी लाजवाब हैं, जिनमें आलू, चीज़, हॉट स्पाइसी, पनीर चंकी, कुरकुरे बर्ग शामिल हैं.

    पास्ता, नूडल्स और बर्गर खाकर पेट और मन तृप्त हो जाएगा
    इस आउटलेट पर नूडल्स भी कई प्रकार के हैं, जिनमें सिंगापुरी, हक्का, चिली-गार्लिक, बटर-चाप, चिली-चाप नूडल्स हैं तो राइज भी कई प्रकार के मिलते हैं. ऊपर जो हम राइज की विविधता बता चुके हैं, वह सब इस आउटलेट पर मिलता है. और तो और आलू के कई व्यंजन भी आपको मिल जाएंगे. इनको खाकर आप को तसल्ली सी महसूस होगी. इस आउटलेट पर तंदूरी चाप, रोल और टिक्का भी कई प्रकार का मिलता है, जिनमें पनीर से जुड़े टिक्के और चाप की कई वैरायटी शामिल हैं.

    मतलब वही है कि कॉन्टिनेंटल-इंडियन स्ट्रीट फूड का इन आउटलेट पर मेला लगा हुआ है. वैसे आप हमसें पूछेंगे कि इस आउटलेट पर एक-दो शानदार डिश खाने हों तो वे कौन से हैं. हम आपको कहेंगे कि एक बार यहां के बाउल पास्ता, नूडल्स और मोमोज के अलावा बर्गर को चख सकते हैं. इनका स्वाद आपको निराश नहीं करेगा. इन सभी डिश की कीमत 90 रुपये से लेकर अधिकतम 200 रुपये है.

    चार आउटलेट हैं, जल्द ही और खुलने वाले हैं
    इस आउटलेट की दिल्ली में चार ब्रांच मौजूद हैं. इनमें सबसे पहला आउटलेट यमुनापार शाहदरा में वर्ष 2016 में खुला था. उसके बाद गीता कॉलोनी, शकरपुर और अब दरियागंज में भी खुल गया है. दरियागंज में बैठने की सुविधा भी मौजूद है, बाकी तीनों आउटलेट पर टेक-अवे सुविधा है. दो आउटलेट के मालिक इशांत कुमार हैं और बाकी दो फ्रेंचाइजी हैं. दरियागंज की जिम्मेदारी सिराज के पास है. उनका कहना है कि हमें लोगों तक बेहतरीन खाना पहुंचाना था, इसलिए हमने इसे शुरू किया और काम चल निकला.

    देसी-विदेशी खानपान की इतनी वैरायटी शायद ही किसी स्ट्रीट फूड आउटलेट पर मिलेगी, जो हमारे पास है. उनका कहना है कि कोरोना वैक्सीन अभियान से हमने भी खुद को जोड़ा है. जिसने कोरोना की एक वैक्सीन लगवाई है, उसे 15 प्रतिशत और दो वैक्सीन लगवा चुके लोगों को 20 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. जल्द ही हमारे और आउटलेट मयूर विहार, नोएडा, वैशाली और पीतमपुरा में खुलने जा रहे हैं.

    Tags: Food, Lifestyle, Street Food

    अगली ख़बर