लाइव टीवी

पुरुषों के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्शन तैयार, 13 साल तक की चिंता खत्म

News18Hindi
Updated: November 23, 2019, 9:54 AM IST
पुरुषों के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्शन तैयार, 13 साल तक की चिंता खत्म
इंजेक्शन भारत में क्लीनिकली प्रूव हो गया है और अगले 6 महीने के अंदर बाजारों में उपलब्ध हो सकेगा.

दुनिया का पहला पुरुष गर्भनिरोधक इंजेक्शन तैयार हो गया है. खास बात ये है कि ये इंजेक्शन भारत में क्लीनिकली प्रूव हो गया है और अगले 6 महीने के अंदर बाजारों में उपलब्ध हो सकेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2019, 9:54 AM IST
  • Share this:
भारत और चीन विश्व के उन देशों में है, जिनकी जनसंख्या लगातार बढ़ रही है. जनसंख्या में इस तरह की बढ़ोतरी इन देशों के लिए एक बड़ी चिंता का कारण बन गई है. वहीं इस बीच एक बड़ी खबर चर्चा का विषय बन गई है. दरअसल दुनिया का पहला पुरुष गर्भनिरोधक इंजेक्शन तैयार हो गया है. खास बात ये है कि ये इंजेक्शन भारत में क्लीनिकली प्रूव हो गया है और अगले 6 महीने के अंदर बाजारों में उपलब्ध हो सकेगा.

इसे भी पढ़ेंः सनस्क्रीन लोशन लगाने से पहले जरूर पढ़ें ये खबर, कहीं आप अपना नुकसान तो नहीं कर रहे

यह तरीका 13 सालों तक प्रभावी रहेगा
रिसर्च के बाद पता चला है कि इस गर्भनिरोधक इंजेक्शन को पुरूषों को लगए जाने पर कुछ पॉलिमर्स रिलीज होंगे, जो स्पर्म को ब्लॉक करके फर्टिलाइजेशन के वक्त टेस्टीकल्स को बाहर निकलने से रोक देगा. वहीं वैज्ञानिकों का ये भी मानना है कि एक बार यह इंजेक्शन लगवाने के बाद बर्थ कंट्रोल का यह तरीका 13 सालों तक प्रभावी रह सकेगा. आइए आपको बताते हैं ये कैसे काम करेगा.

गर्भनिरोधक इंजेक्शन पूरी तरह इस्तेमाल के लिए तैयार है
आजतक में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार भारतीय मेडिकल रिसर्च काउंसिल ने पुरुषों को लगने वाले गर्भनिरोधक इंजेक्शन का सफल ट्रायल किया है. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक इंजेक्शन के सफल ट्रायल के बाद इसे ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के पास मंजूरी के लिए भेजा गया है. भारतीय मेडिकल रिसर्च काउंसिल के सीनियर साइंटिस्ट डॉक्टर आरएस शर्मा ने बताया कि ये गर्भनिरोधक इंजेक्शन पूरी तरह इस्तेमाल के लिए तैयार है और बस ड्रग कंट्रोलर की मंजूरी मिलने की देर है.

तीसरे फेस का ट्रायल 303 लोगों पर किया गया था इंजेक्शन के तीनों फेज के ट्रायल पूरे कर लिए गए हैं. इंजेक्शन के तीसरे फेस का ट्रायल 303 लोगों पर किया गया था जिसमें 97.3 फीसदी सफलता मिली है. इस इंजेक्शन से किसी भी तरह के साइड इफेक्ट्स की खबर नहीं आई है. ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से इस इंजेक्शन को मंजूरी मिलने के बाद ये दुनिया का पहला पुरुष गर्भनिरोधक इंजेक्शन कहलाएगा. रिपोर्ट की मानें तो वैज्ञानिकों का दावा है कि एक बार लगवाने के बाद यह इंजेक्शन 13 साल तक प्रभावी रहेगा.

इंजेक्शन को लोकल ऐनस्थीसिया के साथ दिया जाएगा
आपको बता दें कि 2016 में अमेरिका में भी इसी तरह के ड्रग पर काम किया जा रहा था लेकिन इसके साइड इफेक्ट सामने आने के बाद इसके ट्रायल को रोक दिया गया. आईसीएमआर के कॉन्ट्रासेप्टिव इंजेक्शन को लोकल ऐनस्थीसिया के साथ दिया जाएगा. इंजेक्शन को टेस्टिकल के पास स्पर्म ट्यूब में लगाया जाएगा. ये पॉलिमर स्पर्म को टेस्टिकल्स बाहर निकालने से रोकेगा.

इसे भी पढ़ेंः डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में आते हैं ये बदलाव, जान लें ये जरूरी बात

गर्भनिरोधक गोलियों पर भी शोध कार्य चल रहा है
वहीं पुरूषों के लिए गर्भनिरोधक गोलियों पर भी शोध कार्य चल रहा है. हालांकि इस काम को पूरा होने में अभी 10 साल और लग सकते हैं. गर्भनिरोधक गोली, जिसे 11-बीटा-एमएनटीडीसी कहा जाता है, एक संशोधित टेस्टोस्टेरोन है, जो एक पुरुष हॉर्मोन और प्रोजेस्टेरोन के कार्यों को जोड़ती है. महिला गर्भनिरोधक गोली की तरह, गर्भधारण की संभावना को कम करने के लिए दिन में एक बार 11-बीटा-एमएनटीडीसी लिया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 23, 2019, 9:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर