लाइव टीवी

कोरोना वायरसः इम्यूनिटी को बूस्ट कर सकते हैं आयुर्वेदिक नुस्खे- अध्ययन


Updated: April 6, 2020, 10:49 AM IST
कोरोना वायरसः इम्यूनिटी को बूस्ट कर सकते हैं आयुर्वेदिक नुस्खे- अध्ययन
ये औषधियां वायरल संक्रमण से बचाव के लिए शरीर की रक्षात्मक शक्ति को बढ़ावा देती है.

आयुष इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता मजूबत होने से वायरस या बैक्टीरिया के शरीर में प्रवेश होने के बावजूद रोग का संक्रमण नहीं हो पाता है.

  • Share this:
वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कहर से परेशान है. दुनिया के ज्यादातर देश इस संक्रमण के कारण लॉकडाउन हैं. कोरोना वायरस का टीका खोजने के साथ-साथ डॉक्टर्स लोगों को अपनी इम्यूनिटी को स्ट्रांग करने की सलाह दे रहे हैं.

आयुर्वेदिक विशेषज्ञों ने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए आयुर्वेद की दवाओं और नुस्खे को अपनाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है. आयुष इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता मजूबत होने से वायरस या बैक्टीरिया के शरीर में प्रवेश होने के बावजूद रोग का संक्रमण नहीं हो पाता है.

कई दवाएं बढ़ सकती हैं रक्षात्मक शक्ति
भोपाल स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डॉक्टरों ने अध्ययन में पाया कि फीफाट्रोल एक मल्टी ड्रग कॉम्बिनेशन है, जिसमें मृत्युंजय रासा, संजीवनी वटी, तुलसी और गिलोय का इस्तेमाल किया गया है. ये औषधियां वायरल संक्रमण से बचाव के लिए शरीर की रक्षात्मक शक्ति को बढ़ावा देती है.



कई बीमारियों से लड़ने में होता है फायदा


केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने भी नुस्खों को मददगार बताया केंद्रीय आयुष मंत्रालय के अनुसार, कोविड-19 महामारी के इस वक्त में आयुर्वेद के जरिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर संक्रमण से बचाव किया जा सकता है. वहीं विशेषज्ञों के अनुसार, कोरोना वायरस एक इन्फ्लुएंजा है, जिसके लक्षण एक फ्लू की भांति ही हैं. आमतौर पर बुखार, सर्दी, जुकाम, नजला, सूखी खांसी जैसी परेशानी से निपटने में आयुर्वेद के नुस्खे काफी मददगार साबित होते हैं.

सलाह लेना है जरूरी
उत्तरी दिल्ली नगर निगम के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरपी पाराशर ने कहा कि लेकिन कोई भी दवा लेने या नुस्खा आजमाने से पहले किसी चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए.

ऐसे कर सकते हैं अपना बचाव

- प्रतिदिन गर्म पानी का सेवन करें.

-हल्दी, जीरा, लहसुन और धनिए का खाने में इस्तेमाल करें.

- 10 ग्राम च्वयनप्राश सुबह और शाम लें. मधुमेह होने पर शुगर फ्री च्वयनप्राश ले सकते हैं.

- दिन में एक या दो बार 150 एमएल गर्म दूध में आधी चम्मच हल्दी डालकर लें.

- नारियल का तेल या देशी घी सुबह और शाम नाक में डालें.

- एक चम्मच नारियल तेल मुंह में रखें, इसे पीना नहीं है. 2 से 3 मिनट बाद इसे गर्म पानी के साथ बाहर निकाल देना है.

- कफ या गले में खराश होने पर लौंग पाउडर के साथ शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार लें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हेल्थ & फिटनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 10:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading