कोरोना पॉजिटिव जल्द रिकवरी के लिए अवॉइड करें ये खान-पान

कोविड से पीड़ित मरीजों को मसालेदार भोजन से बचना चाहिए. Image/Shutterstock

कोविड से पीड़ित मरीजों को मसालेदार भोजन से बचना चाहिए. Image/Shutterstock

कोरोना से पीड़ित मरीजों (Corona Patient) के लिए दवा के साथ पोषक तत्वों से भरपूर (Nutrient Rich) भोजन भी जरूरी होता है. यह पचाने में आसान और मरीज की तेजी से रिकवरी (Recovery) में भी मददगार होता है.

  • Share this:
कोरोना संक्रमण (Corona Infection) अपना भयावह रूप दिखा रहा है और तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है. वहीं इससे पीड़ित लोगों की संख्‍या भी बढ़ रही है. ऐसे में जहां सही समय पर इलाज (Medication) मिलने पर सेहत (Health) में सुधार होता है, वहीं सही और पोषक तत्वों से भरपूर (Nutrient Rich) भोजन पचाने में आसान होता है और यह कोरोना पॉजिटिव मरीज की तेजी से रिकवरी के लिए भी जरूरी होता है. कुछ फ़ूड्स जैसे दाल, सब्जी और अनाज से समृद्ध भोजन तेजी से रिकवरी (Recovery) में मदद करता है और कोविड रोगियों की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है. यानी संक्रमित रोगी के दैनिक आहार में विटामिन डी और सी शामिल होना चाहिए. मगर साथ ही इसका ख्‍याल भी रखना है कि इस दौरान किन चीजों को न लें यानी कुछ फूड्स अवॉइड भी करें. कोविड मरीजों की तेजी से रिकवरी के लिए कुछ फूड्स से बचें, क्‍योंकि ये जहां सूजन बढ़ा सकते हैं, वहीं ये जल्‍दी ठीक होने की उपचार प्रक्रिया में भी बाधा डालते हैं.

तला-भुना खाने से करें बचाव 

तले हुए खाद्य पदार्थ वसा में उच्च होते हैं. यह सही है कि अक्सर कोविड पॉजिटिव मरीज मुंह के बिगड़े स्वाद को बेहतर करने की मंशा से तले हुए खाद्य पदार्थों की इच्‍छा प्रकट करें. कर्लीटेल्‍स की एक रिपोर्ट के मुताबिक विशेषज्ञों का सुझाव है कि इलाज की अवधि के दौरान मरीजों को इन तले पदार्थों को खाने की लालसा से बचना चाहिए. इस तरह के खाद्य पदार्थ शरीर के लिए नुकसानदेह हो सकते हैं और रोगों से लड़ने की क्षमता को कमजोर कर सकते हैं, क्‍योंकि ये ऐसा खान पान आंत के रोगाणुओं को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है और खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाकर हृदय रोगों का खतरा भी बढ़ा सकते हैं.

ये भी पढ़ें - फेफड़ों को मजबूती देगा इन 5 चीजों से बना ये आयुर्वेदिक लेप
ठंडी और मीठी ड्रिंक्‍स से बचें

अगर आप कोरोनावायरस से पीड़ित हैं, तो संक्रमण और इलाज के दौरान शीतल पेय का सेवन करने से बचें. ये शरीर में सूजन का कारण बनते हैं और रिकवरी प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न करते हैं. वहीं शराब से भी बचें, क्‍योंकि इनका सेवन कुछ दवाओं को कम प्रभावी बनाता है. इनके बजाय आप छाछ या नींबू के रस का सेवन कर सकते हैं.

प्रोसेस्‍ड फूड करेगा नुकसान



पॉजिटिव मरीज अक्‍सर भूख में पैक किए गए खाद्य पदार्थों का सहारा लेते हैं, लेकिन कोविड रोगियों के लिए ऐसे खाद्य पदार्थ अधिक नुकसानदायक हो सकते हैं. प्रसंस्कृत या डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ सोडियम से भरपूर होते हैं, इससे मरीजों को रोग से उबरने में देरी हो सकती है. साथ ही ये प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर कर सकते हैं और सूजन को बढ़ा सकते हैं. ऐसे में ज्‍यादा सूजन भी प्रतिरक्षा प्रणाली पर दबाव डालती है और आपको ऐसे में अधिक खतरा बढ़ सकता है. इसलिए इस दौरान तो भूल कर भी मैगी, आलू के चिप्स और बिस्किट आदि का सेवन न करें. घर का बना खाना ही खाएं.

रेड मीट का सेवन हानिकारक 

रेड मीट संतृप्त वसा से भरपूर होता है और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों की तरह सूजन को बढ़ावा दे सकता है; प्रोसेस्ड मीट और रेड मीट दोनों ही संतृप्त वसा से भरपूर होते हैं, जिससे अक्सर सूजन बढ़ सकती है. आप कोविड-19 से पीड़ित हैं या नहीं, इसके सेवन से बचना चाहिए. रेड मीट के बजाय प्रोटीन की पूर्ति के लिए आप मछली, चिकन, अंडे, पनीर और यहां तक कि बीन्स और दाल खा सकते हैं. जैतून का तेल, एवोकाडो और मछली ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं.

ये भी पढ़ें - कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद नहीं होंगे साइड इफेक्ट्स, डाइट में लें ये चीजें

मसालेदार भोजन से बचें

अगर आप कोविड संक्रमण से पीड़ित हैं, तो मसालेदार भोजन से बचना आपके लिए अच्छा रहेगा, क्योंकि यह गले में जलन पैदा कर सकता है और आपको अधिक खांसी कर सकता है. सामान्य तौर पर उपचार के दौरान डॉक्टर अक्सर मसालेदार भोजन को छोड़ने के लिए सर्दी, खांसी या फ्लू से पीड़ित रोगियों को सलाह देते हैं. लाल मिर्च पाउडर के बजाय आप अपने फूड में अतिरिक्त मिर्च या जायके के लिए काली मिर्च का उपयोग कर सकते हैं. काली मिर्च में जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी गुण होते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज