Amalaki Ekadeshi 2019: आमलकी एकादशी पर ऐसे करें भगवान विष्‍णु की पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना!

Amalaki Ekadeshi 2019: फाल्गुन शुक्ल की एकादशी को आमलकी एकादशी मनाई जाती है. इसी दिन रंगभरनी एकादशी भी होती है और काशी में आज से ही होली की तैयारियां शुरू हो जाती हैं.

News18Hindi
Updated: March 16, 2019, 9:03 AM IST
Amalaki Ekadeshi 2019: आमलकी एकादशी पर ऐसे करें भगवान विष्‍णु की पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना!
Amalaki Ekadeshi 2019, God Vishnu
News18Hindi
Updated: March 16, 2019, 9:03 AM IST
Amalaki Ekadeshi 2019: आमलकी एकादशी 17 फ़रवरी को मनाई जाएगी. इस दिन आंवले के पेड़ के साथ भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. इसी दिन रंगभरनी एकादशी भी मनाई जाती है, जिसमें भगवान शिव को रंग लगाकर होली की तैयारियों की शुरुआत की जाती है. यही वजह है कि ये दिन शिव और विष्णु भक्तों दोनों के लिए महत्व रखता है.

गरुड़ पुराण: मरने से पहले हर इंसान को दिखाई देते हैं ये 10 संकेत!

फाल्गुन शुक्ल की एकादशी को आमलकी एकादशी मनाई जाती है.
पद्म पुराण में ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु के थूकने से आंवले का पेड़ बना. यही कारण है कि इस पेड़ में विष्णु जी का वास माना जाता है. आंवले के पेड़ की जड़ में भगवान विष्णु, बीच में भगवान शिव और ऊपर ब्रह्मा जी का वास होता है. इसकी पूजा से भक्तों को पुण्यलाभ होता है. परिवार में सुख-शांति के लिए आमलकी एकादशी का विशेष महत्व है.

World Sleep Day: खाली पेट रात में सोने से पहले खाएं ये चीजें, कम होगा मोटापा!



पूजा की विधि
आमलकी का मतलब है आंवला. इस एकादशी पर स्नान के बाद भगवान विष्णु एवं आंवले के वृक्ष की पूजा का विधान है. प्रसाद के रूप में भी आंवले को विष्णु भगवान् को चढ़ाया जाता है. घी का दीपक प्रज्जवलित कर विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें. जो लोग व्रत नहीं करते हैं, वे भी विष्णु जी को आंवले का भोग चढ़ाकर फिर खुद इसका प्रसाद खाएं.
Loading...

World Sleep Day: क्या डरावने सपनों की वजह से टूट जाती है आपकी नींद, हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां!
शिवपुराण में ऐसा उल्लेख है कि इस दिन देवी पार्वती का गौना हुआ था और वे शिव के पास आ गई थीं. देवी पार्वती के आने पर शिवभक्तों ने रंग खेलकर अपनी खुशी जताई थी. यही कारण है कि इसे रंगभरनी एकादशी भी कहते हैं. इस दिन काशी में भगवान शिव का विशेष श्रृंगार होता है और भक्त एक-दूसरे को गुलाल लगाकर खुशियां मनाते हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...