Bhadariya Navami 2019: आज है भड़ली नवमी, बिना शुभ मुहूर्त देखें इस समय करें काम

उत्तर भारतीय इलाकों में ये मान्यता है कि भड़ली नवमी शादी जैसे शुभ संस्कार के लिए एक अबूझ मुहूर्त है.

News18Hindi
Updated: July 10, 2019, 9:10 AM IST
Bhadariya Navami 2019: आज है भड़ली नवमी, बिना शुभ मुहूर्त देखें इस समय करें काम
Bhadariya Navami 2019, भड़ली नवमी 2019:
News18Hindi
Updated: July 10, 2019, 9:10 AM IST
Bhadariya Navami 2019, भड़ली नवमी 2019: आज 10 जुलाई बुधवार को भड़ली नवमी है. गुप्त नवरात्रि जिस नवमी तिथि को समाप्त होते हैं. उन्हें भड़ली नवमी कहा जाता है. यह अषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को पड़ती है. उत्तर भारतीय इलाकों में ये मान्यता है कि भड़ली नवमी शादी जैसे शुभ संस्कार के लिए एक अबूझ मुहूर्त है. इसके दो दिन बार ही देवशयनी एकादशी है, इस दौरान भगवान विष्णु चार महीने के लिए सोने चले जाते है. इस वजह से चार महीने तक कोई भी शुभ काम नहीं करना चाहिए. आइए जानते हैं क्या है भड़ली नवमी का धार्मिक महत्व और क्यों है ये खास.

भड़ली नवमी का महत्व:


दरअसल, इसके 2 दिन बाद ही देवशयनी एकादशी पड़ती है. इस दिन से लगातार चार महीने तक विष्णु भगवान निद्रा में लीन रहते हैं. हिंदू धर्म में इस दौरान कोई भी शुभ काम करने की मनाही है. इसके बाद जब देवउठनी एकादशी के दिन जब वो जागते हैं तभी कोई शुभ काम शुरू किए जा सकते हैं.

वार्डरोब में शामिल करें फ्लोरल प्रिंट, भारत के प्रमोशन में कटरीना ने भी कैरी किया ये लुक

ये होता है अबूझ मुहूर्त:
अबूझ मुहूर्त उस मुहूर्त को कहते हैं जो शादी विवाह के लिए बेहद शुभ माने जाते हैं. मुहूर्त की वजह से जिन जातकों के विवाह में देरी हो रही है या विवाह टलता जा रहा है वो इस दिन बेझिझक किसी ब्राह्मण से परामर्श किए बिना ही इस दिन विवाह कर सकते हैं. इसके लिए उन्हें किसी विद्वान् से शुभ अशुभ का विचार करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

जब 45°C के ऊपर जाता है पारा, तो शरीर में ये होते हैं बदलाव?
Loading...

जानिए कब पड़ते हैं अबूझ मुहूर्त:
हिंदू पंचांग के मुताबिक़, एक साल में पड़ने वाले अबूझ मुहूर्त इस प्रकार हैं- बसंत पंचमी, फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि, राम नवमी, जानकी नवमी, वैशाख माह की पूर्णिमा, गंगा दशमी और भड़ली नवमी.

लाइफस्टाइल, खानपान, रिश्ते और धर्म से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...