चंद्र दर्शन: आज करें ऐसे पूजा तो मिलेगा शुभ फल, करें इस मंत्र का पाठ

chandra darshan: इस दिन चंद्रमा की पूजा करने से ग्रह दोष शांत होता है.

News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 8:46 AM IST
चंद्र दर्शन: आज करें ऐसे पूजा तो मिलेगा शुभ फल, करें इस मंत्र का पाठ
चंद्र दर्शन
News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 8:46 AM IST
मार्गशीष माह यानी कि अगहन में शुक्ल पक्ष को चंद्र दर्शन आज 8 दिसंबर 2018 यानी कि शनिवार को मनाया जा रहा है. प्रतिमाह अमावस्या की तिथि समाप्त होने के बाद शुक्ल पक्ष में चंद्र दर्शन मनाया जाता है. शास्त्रों के मुताबिक़, आज के दिन चंद्रमा के दर्शन करने से काफी शुभ फलों की प्राप्ति होती है. ऐसी मान्यता है कि चंद्रमा ज्ञान, बुद्धि और मन का स्वामी ग्रह है. इसलिए जिन जातकों की जन्मपत्री में चंद्रमा नीच का है तो ऐसे लोग यदि इस दिन चंद्र भगवान की पूजा-अर्चना करें तो उनका ग्रह दोष शांत होता है.

यदि जातक की जन्मपत्री में चंद्रमा नीच का है तो उसे गुस्सा जल्दी आता है इस कारण जातक मानसिक तनाव में रहता है. ऐसे लोगों की मां को भी कई परेशानियां होती हैं साथ ही पैसा भी पानी की तरह खर्च होता है. ऐसे लोग यदि इस दिन चंद्र भगवान की पूजा-अर्चना कर उनके दर्शन करते हैं तो उन्हें कई प्रकार के मानसिक रोगों से मुक्ति मिलती है और उनपर मां लक्ष्मी की भी कृपा बनी रहती है.

जन्म की तारीख में छुपे हैं कई राज, इस तरह मूलांक निकालकर जानें अपनी किस्मत

चंद्र दर्शन की पूजा विधि:

मान्यता है कि, इस दिन शाम के समय चंद्र देव का दशोपचार तरीके से पूजा-अर्चना करें. दशोपचार मतलब भगवान का आह्वाहन, आचमन, अर्घ्य, स्नान करकर और रोली और चावल से तिलक कर, फूल अर्पित करें. इसके बाद धूप दीप करके चंद्र भगवान को भोग के तौर पर कुछ खीर का प्रसाद अर्पित करें.

'Y' अक्षर से शुरू होता है नाम? जानें सारे राज!

खीर का भोग लगाएं:
Loading...

ध्यान रहे कि पूजन करते समय घी के दिए का ही इस्तेमाल करें. इसके बाद पंचामृत से अर्घ्य देकर. चन्दन की माला से 108 बार चंद्रमा के मंत्र का जाप करें. भोग लगाने के बाद इसे किसी महिला को दे दें और उसे इसे प्रसाद के तौर पर लोगों को बांटने को कहें.

बाथरूम बनवाते समय इन बातों का रखें ख्याल, नहीं तो आ सकती है बड़ी परेशानी!

इस मंत्र का करें पाठ:
चंद्र दर्शन पर भगवान चंद्रमा की पूजा समय 'ॐ क्षीरपुत्राय विद्महे अमृत तत्वाय धीमहि, तन्नो चन्द्र: प्रचोदयात॥' मंत्र पाठ करें.

मिलती है शिव की कृपा:
ऐसी भी मान्यता है कि शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को भोलेशंकर माता पार्वती के पास होते हैं. इसलिए इस दिन भगवान शिव की पूजा और रुद्राभिषेक करने से भी विशेष फल की प्राप्ति होती है.

चंद्र दर्शन से होते हैं तनाव मुक्त:
इस दिन चंद्र भगवान के दर्शन करने से मन का सारा तनाव गायब हो जाता है और हर प्रकार के रोग दोष से मुक्ति मिलती है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर