गुप्त नवरात्रि 2019: मां को खुश करने के लिए इस शुभ समय में करें पूजा, ये है शुभ संयोग

गुप्त नवरात्रि में सामान्य लोग नहीं बल्कि तांत्रिक और अघोरी गुप्त नवरात्रि के दौरान आधी रात में मां दुर्गा की पूजा करते हैं.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 12:53 PM IST
गुप्त नवरात्रि 2019: मां को खुश करने के लिए इस शुभ समय में करें पूजा, ये है शुभ संयोग
गुप्त नवरात्रि 2019: मां को खुश करने के लिए इस शुभ समय में करें पूजा, ये है शुभ संयोग
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 12:53 PM IST
गुप्त नवरात्रि 2019: अषाढ़ माह की गुप्त नवरात्रि की शुभारंभ आज से यानी कि 3 जुलाई बुधवार से हो गया है. 3 जुलाई से शुरू होकर नवरात्रि पूरी 10 जुलाई तक रहेगी. नवरात्रि साल में चार बार पड़ती है. मान्यता है कि दो नवरात्रि सामान्य होते हैं और दो नवरात्रि गुप्त होते हैं. गुप्त नवरात्रि के दौरान तांत्रिक और अघोरी अपनी मनोकामना पूरी करने और शक्ति हासिल करने के लिए ख़ास विधि से मां की पूजा करते हैं. इस दौरान तांत्रिक गुप्त तरीके से आधी रात में मां के 9 स्वरूपों की पूजा करते हैं.

गुप्त नवरात्रि में सामान्य लोग नहीं बल्कि तांत्रिक और अघोरी गुप्त नवरात्रि के दौरान आधी रात में मां दुर्गा की पूजा करते हैं. मां दुर्गा की मूर्ति स्थापित करने के दौरान लाल रंग का सिन्दूर और सुनहरे गोटे वाली लाल रंग की चुनरी चढ़ाई जाती है. इसके बाद मां के चरणों में पानी वाला नारियल, केले, सेब, तिल के लडडू, बताशे और खील अर्पित करें. मां पर लाल गुलाब या गुड़हल का पुष्प चढ़ाए जाते हैं. सरसों के तेल से दिया जलाकर 'ॐ दुं दुर्गायै नमः' मंत्र का जाप किया जाता है. लेकिन इस पूजा की ख़ास बात ये होती है कि इसे सबकी नजरों से बचाकर किया जाता है. ऐसा विश्वास है कि गुप्त नवरात्रि की ये साधना तभी पूरी मानी जाती है जब पूजा पर किसी की नजर या किसी प्रकार का खलल न पड़े. आइए जानते हैं इस दौरान 9 दिन तक पड़ने वाले विशेष संयोग के बारे में और गुप्त नवरात्रि में जिन 9 देवियों की पूजा की जाती है उनके नाम.

इसे भी पढ़ें:  गुप्त नवरात्रि से शुरू,रात में ये काम करते हैं तांत्रिक
गुप्त नवरात्रि के खास संयोग:

3 जुलाई बुधवार- प्रतिपदा- गुप्त नवरात्रि शुरू, देवी साधना शुरू

4 जुलाई गुरुवार- द्वितीया- जगदीश रथयात्रा पूर्ण, गुरु-पुष्य संयोग

5 जुलाई शुक्रवार- तृतीया- रवियोग रात 12.19 बजे तक
Loading...

6 जुलाई शनिवार- चतुर्थी- विनायक चतुर्थी

7 जुलाई रविवार- पंचमी- सर्वार्थसिद्धि योग, कुमार षष्ठी, बुध वक्री

8 जुलाई सोमवार- षष्ठी- रवियोग, विवस्वत सप्तमी, षष्ठी तिथि सुबह 7.42 तक रहेगी

9 जुलाई मंगलवार- अष्टमी- दुर्गा अष्टमी, सप्तमी तिथि का क्षय

10 जुलाई बुधवार- नवमी- भड़ली नवमी, नवरात्रि पूर्ण, रवियोग

गुप्‍त नवरात्रि की 9 देवियां:

गुप्‍त नवरात्रि के दौरान 9 दिन तक मां के अलग अलग 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है जो इस प्रकार हैं- मां काली, तारा देवी, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, छिन्न मां, त्रिपुर भैरवी, धूमावति माता, बंगलामुखी, मातंगी और कमला देवी.

लाइफस्टाइल, खानपान, रिश्ते और धर्म से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें
First published: July 3, 2019, 8:26 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...