श्रावण मास: आज से सावन शुरू, भूलकर भी भगवान शिव को न चढ़ाएं ये फूल!

श्रावण मास, सावन: भगवान शिव को कुछ फूल बहुत प्रिय हैं, जिन्हें अर्पित करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है. लेकिन साथ ही कुछ फूल शिव की पूजा में पूरी तरह निषिद्ध हैं.

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 11:10 AM IST
श्रावण मास: आज से सावन शुरू, भूलकर भी भगवान शिव को न चढ़ाएं ये फूल!
श्रावण मास, सावन: भगवान शिव को कुछ फूल बहुत प्रिय हैं, जिन्हें अर्पित करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है. लेकिन साथ ही कुछ फूल शिव की पूजा में पूरी तरह निषिद्ध हैं.
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 11:10 AM IST
श्रावण मास, सावन: आज 17 जुलाई मंगलवार से सावन माह का आगाज हो चुका है. सुबह हुई बेतहाशा बारिश  ने भी सावन की पुष्टि कर दी है. हिंदू धर्म में सावन माह को बेहद पवित्र माना जाता है. इस माह में भगवान शिव की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है. पुराणों में भगवान शिव की पूजा में फूलों का विशेष महत्व बताया गया है. भगवान शिव को कुछ फूल बहुत प्रिय हैं, जिन्हें अर्पित करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है. लेकिन साथ ही कुछ फूल शिव की पूजा में पूरी तरह निषिद्ध हैं. आइए जानते हैं कि वे कौन से फूल हैं, जो भगवान शिव को नहीं चढ़ाने चाहिए.

पुराणों में भगवान शिव को कदम्ब का फूल चढ़ाने की मनाही है.

पुराणों में भगवान शिव को कदम्ब का फूल चढ़ाने की मनाही है.

पुराणों में ऐसा कहा गया है कि भगवान शिव को कभी भी सारहीन फूल या कठूमर का फूल न चढ़ाएं.

पुराणों में ऐसा कहा गया है कि भगवान शिव को कभी भी सारहीन फूल या कठूमर का फूल न चढ़ाएं.

पुराणों के मुताबिक भगवान शिव को केवड़े का फूल नहीं चढ़ाया जाता.
पुराणों के मुताबिक भगवान शिव को केवड़े का फूल नहीं चढ़ाया जाता.


पुराणों में भगवान शिव को शिरीष का फूल चढ़ाने की मनाही है.
Loading...

पुराणों में भगवान शिव को शिरीष का फूल चढ़ाने की मनाही है.

पुराणों में लिखा है कि भगवान शिव को तिन्तिणी का फूल न चढ़ाएं.

पुराणों में लिखा है कि भगवान शिव को तिन्तिणी का फूल न चढ़ाएं.

भगवान शिव को कोष्ठ का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को कोष्ठ का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को कैथ का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को कैथ का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को गाजर का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को गाजर का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को बहेड़ा का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को बहेड़ा का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को कपास का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को कपास का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

पुराणों के मुताबिक भगवान शिव को गंभारी का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

पुराणों के मुताबिक भगवान शिव को गंभारी का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को पत्रकंटक का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को पत्रकंटक का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को सेमल का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को सेमल का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को अनार का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को अनार का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को धव का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को धव का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को केतकी का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को केतकी का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

पुराणों के मुताबिक भगवान शिव को वसंत ऋतु मे खिलने वाला कंद-विशेष नहीं चढ़ाया जाता.

पुराणों के मुताबिक भगवान शिव को वसंत ऋतु मे खिलने वाला कंद-विशेष नहीं चढ़ाया जाता.

पुराणों में लिखा है कि भगवान शिव को कुंद का फूल न चढ़ाएं.

पुराणों में लिखा है कि भगवान शिव को कुंद का फूल न चढ़ाएं.

पुराणों में लिखा है कि भगवान शिव को जूही का फूल न चढ़ाएं.

पुराणों में लिखा है कि भगवान शिव को जूही का फूल न चढ़ाएं.

भगवान शिव को मदन्ती का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

भगवान शिव को मदन्ती का फूल नहीं चढ़ाया जाता.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कल्चर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 10:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...