स्नान दान अमावस्या: इस दिन दान करने से मिलता है कई गुना फल, तर्पण से मिलती है पूर्वजों को मुक्ति

हिंदू धर्म में स्नानदान की अमावस्या के दिन स्नान कर गरीब और जरूरतमंदों को दान देने को बहुत महत्व दिया गया है.

News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 7:41 AM IST
स्नान दान अमावस्या: इस दिन दान करने से मिलता है कई गुना फल, तर्पण से मिलती है पूर्वजों को मुक्ति
स्नानदान अमावस्या
News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 7:41 AM IST
हिंदू पंचांग के अनुसार, मार्गशीष माह यानी कि अगहन में स्नान दान की अमावस्या का काफी महत्व है. इस बार स्नान दान की अमावस्या 7 दिसंबर 2018 यानी कि शुक्रवार के दिन पड़ रही है. हिंदू धर्म में स्नान दान की अमावस्या के दिन स्नान कर गरीब और जरूरतमंदों को दान देने को बहुत महत्व दिया गया है.
स्नान दान की अमावस्या के दिन तर्पण करने से इसका सीधा लाभ पूर्वजों को मिलता है और उनकी आत्मा तृप्त होती है. ऐसा करने से पूर्वजों का आशीर्वाद भी बना रहता है.

गंगा स्नान करें:
स्नान दान की अमावस्या के दिन यदि श्रद्धालु अपने परिवार के साथ गंगा स्नान करता है तो उसे इसका काफी शुभ फल मिलता है. साथ ही उसके पूर्वज भी प्रसन्न होते हैं. हिन्दू धर्म शास्त्रों में भी स्नान दान की अमावस्या का काफी महत्व बताया गया है. आइए आज आपको बताते हैं इस दिन स्नान और पूजन की क्या अहमियत है.

जन्म की तारीख में छुपे हैं कई राज, इस तरह मूलांक निकालकर जानें अपनी किस्मत

भगवान शिव के करें दर्शन:
स्नान दान की अमावस्या के दिन विधि-विधान से सभी नियमों का पालन करने से आपको अपने सभी पितृ ऋणों से मुक्ति मिलेगी. साथ ही इस दिन गंगा स्नान का विशेष महत्व है. स्कंद पुराण में भी इस बात का वर्णन है कि स्नान दान की अमावस्या के दिन भगवान शिव का दर्शन और पूजा अर्चना करने से भक्त को विशेष फल की प्राप्ति होती है.
Loading...

'Y' अक्षर से शुरू होता है नाम? जानें सारे राज!
दान का मिलता है कई गुना फल:
स्नान दान की अमावस्या के दिन किया गया दान सूर्य ग्रहण काल में किए गए दान से कई गुना अधिक फलदायी होता है. साथ ही इस दिन सभी नियमों का पालन करने से आपको पितृ ऋणों से मुक्ति मिलेगी. अगर आप इस दिन अपने पितरों के निमित पिंडदान, तर्पण, दान, अन्नदान, वस्त्र दान करने से उन्हें मोक्ष की प्राप्ति मिलती है.

बाथरूम बनवाते समय इन बातों का रखें ख्याल, नहीं तो आ सकती है बड़ी परेशानी!

स्नान दान की अमावस्या के दिन तर्पण करने से इसका सीधा लाभ पूर्वजों को मिलता है और उनकी आत्मा तृप्त होती है. ऐसा करने से पूर्वजों का आशीर्वाद भी बना रहता है.

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->