इन संकेतों के जरिए ब्रह्मांड की शक्ति बताती है, हो सकता है कुछ अशुभ, टूट चुके हैं आप

जीवन में कुछ पड़ाव ऐसे भी आते हैं जब हम अंदुरुनी तौर पर खुद को बेहद टूटा और बिखरा हुआ महसूस करते हैं. आइए जानते हैं कि कब महसूस होता है मानों हाथों से रेत की तरह फिसल रही हैं जिंदगी.

News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 1:31 PM IST
इन संकेतों के जरिए ब्रह्मांड की शक्ति बताती है, हो सकता है कुछ अशुभ, टूट चुके हैं आप
इन संकेतों के जरिए ब्रह्मांड की शक्ति देती है संकेत, हो सकता है कुछ अशुभ, टूट चुके हैं आप
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 1:31 PM IST
जिंदगी धूप और छांव का दूसरा नाम है. एक पल में ख़ुशी और अगले पल ही गम हो इसके बारे में कुछ भी सटीक तरीके से नहीं कहा जा सकता है. जीवन में कुछ पड़ाव ऐसे भी आते हैं जब हम अंदुरुनी तौर पर खुद को बेहद टूटा और बिखरा हुआ महसूस करते हैं. ये बदलाव हमारी मानसिक स्थिति पर बुरा प्रभाव डालता है. हर कुछ बेहतर करने की कोशिश भी करते हैं तो चीजें जैसे हमारे हाथ से छूटती सी महसूस होती हैं. आइए जानते हैं कि कब महसूस होता है मानों हाथों से रेत की तरह फिसल रही हैं जिंदगी.

बुरे और अच्छे दोनों ही समय की ये बात होती है कि बदलता जरूर है. अच्छे वक्त की बुरी बात है कि उसके बीत जाने का पता ही नहीं चलता. वहीँ बुरा वक्त कटने का नाम नहीं लेता. लेकिन क्या आपने गौर किया है कि बुरे वक्त की भी एक अच्छी बात होती है और वो ये है कि चाहे कुछ भी हो ये गुजरेगा जरूर और जीवन में कई अनुभव देकर जाएगा.



Opinion- प्यार की तलाश में हैं लोग! क्या शादी से उठ गया है विश्वास?

कई बार कुछ बुरा होते से पहले हमें पहले ही इसका एहसास हो जाता है. दरअसल, कुछ ईश्वरीय शक्तियां हमें पहले ही इस बात का इशारा कर देती हैं लेकिन जीवन की उहापोह में फंसे होने के कारण हम प्रकृति के इन इशारों को नजरअंदाज कर देते हैं. आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही प्राकृतिक और दैवीय संकेतों के बारे में ताकि वक्त रहते ही हम खुद को संभाल पाएं और बिखरा हुआ न महसूस करें.



अगर आपको ज्यादा गुस्सा नहीं आता है लेकिन हाल में आपको हर छोटी बात पर खीज मचती है तो ये आपके लिए एक संकेत हो सकता है. ये दर्शाता है कि आप अंदर से बेहद टूटा और थका हुआ महसूस कर रहे हैं. इस स्थिति में आप दूसरों के ऊपर चीखने-चिल्लाने भी लगते हैं और आपको एहसास भी नहीं होता है. खुद को थोड़ा समय दें ताकि बदलते हालात को आत्मसात करने में आपको परेशानी न हो.

कपड़े उतारे मर्द, शर्मिंदा हों औरतेंकई बार आपको लगता है जैसे वक्त रेत की तरफ फिसल रहा है और आप घड़ी के कांटों से भी तेज भागने की कोशिश करते हैं लेकिन फिर भी लेट हो जाते हैं. अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो इसका मतलब है कि आप बेहद परेशान हैं.

कई बार आप जीवन से एकदम नाउम्मीद हो जाते हैं और आपको लगता है हालात कभी भी ठीक नहीं होंगे. इस स्थिति में आप खुद का कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं कर पाते हैं और आपमें प्रेरणा का अभाव होता है. ऐसे में खुद को संभालने का प्रयास करें.
बुरे हालात में जब आप अपने दोस्तों और परिवार वालों से दूरी महसूस करने लगते हैं तो इससे पता चलता है कि आप जिंदगी के सामने घुटने टेक चुके हैं.

मंगल दोष से शादी में आ रही है रुकावट, अपनाएं ये अचूक उपाय!

नोट: जब आपको लगे कि जीवन आपके हाथों से फिसल रहा है तो प्रकृति के साथ ज्यादातर वक्त बिताने की कोशिश करें. प्रकृति में वो ऊर्जा होती है जो आपके खालीपन और सूनेपन को भर सकती है. किसी ऐसी जगह पर जाएं जहां, पहाड़, झरने और नदियाँ हों. इन जगहों पर जाकर आप एक बार खुद से मिल पाएंगे और सुकून महसूस कर पाएंगे.



लाइफस्टाइल, खानपान, रिश्ते और धर्म से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार