विनायकी चतुर्थी आज, पूजा करते समय रखें इन नियमों का ध्यान

इस दिन भगवान गणेश की उपासना करने से घर में सुख-समृद्धि, आर्थिक संपन्नता के साथ-साथ ज्ञान व बुद्धि प्राप्त होती है.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 9:33 AM IST
विनायकी चतुर्थी आज, पूजा करते समय रखें इन नियमों का ध्यान
विनायकी चतुर्थी
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 9:33 AM IST
विनायकी चतुर्थी व्रत आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि यानी आज 5 जुलाई शुक्रवार को मनाई जा रही है. इस दौरान भक्त घर में गणपति की स्थापना करेंगे. यह चतुर्थी भगवान गणेश को ही समर्पित है. गणेश चतुर्थी को विनायक चतुर्थी भी कहा जाता है. कई स्थानों पर विनायक चतुर्थी को 'वरद विनायक चतुर्थी' के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन गणेश की उपासना करने से घर में सुख-समृद्धि, आर्थिक संपन्नता के साथ-साथ ज्ञान व बुद्धि प्राप्त होती है.

इसे भी पढ़ें: गुप्त नवरात्रि में इस शुभ संयोग में करें पूजा, मां होगी खुश

विनायकी चतुर्थी पूजा के नियम:
1. तड़के सुबह नित्य कर्म से निवृत्त होकर स्नान करें, लाल रंग के वस्त्र धारण करें.

2. दोपहर पूजन के समय अपने-अपने सामर्थ्य के अनुसार सोने, चांदी, पीतल, तांबा, मिट्टी अथवा सोने या चांदी से निर्मित गणेश प्रतिमा स्थापित करें.

3. श्री गणेश की मूर्ति पर सिन्दूर चढ़ाएं

4. गणेश भगवान का मंत्र- 'ॐ गं गणपतयै नम:' बोलते हुए 21 दूर्वा चढ़ाएं
Loading...

5. श्री गणेश को बूंदी के 21 लड्डुओं का भोग लगाएं. इनमें से 5 लड्‍डू ब्राह्मण को दान दें और 5 गणेश के चरणों में रखें. बाकी को प्रसाद स्वरूप बांट दें.

6. सोने, चांदी, पीतल, तांबा, मिट्टी, सोने या चांदी से निर्मित गणेश प्रतिमा पूजा घर में स्थापित करें. व्रत का संकल्प लेने के बाद षोडशोपचार पूजन कर श्री गणेश की आरती गायें. इसके बाद गणेश भगवान की मूर्ति 21 दूर्वा और सिन्दूर चढ़ाएं.

इसे भी पढ़ें: गुप्त नवरात्रि आज से शुरू, जानिए महत्व और पूजा विधि

लाइफस्टाइल, खानपान, रिश्ते और धर्म से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कल्चर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 4:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...