Dance Benefits: डांस सिर्फ शौक नहीं सेहत के लिए भी है फायदेमंद, जानें कैसे

Dance Benefits: डांस सिर्फ शौक नहीं सेहत के लिए भी है फायदेमंद, जानें कैसे
अब डांस के जरिये रहें फिट. (सांकेतिक तस्‍वीर)

चाहे आप तनाव (Stress) में हों, वजन की समस्‍या (Weight Problem) से दुखी हों या फिर कोई अन्‍य शारीरिक, मानसिक समस्‍या (Mental Problem) ही क्‍यों न हो, डांस आपकी कई समस्‍याओं का एक इलाज है.

  • Share this:
डांस (Dance) एक कला है और यह लोगों का शौक भी है. जहां इसे करने से मन खुश रहता है. वहीं इससे एक और फायदा होता है. वह यह कि नियि‍मत तौर पर डांस करने से शारीरिक तौर पर आप फिट रह सकते हैं. फिर चाहे आप तनाव (Stress) में हों, वजन की समस्‍या (Weight Problem) से दुखी हों या फिर कोई अन्‍य शारीरिक, मानसिक समस्‍या (Mental Problem) ही क्‍यों न हो, डांस आपकी कई समस्‍याओं का एक इलाज है. दरअसल, डांस एक तरह से मूवमेंट एक्सरसाइज (Movement Exercise) है. इससे मानसिक तनाव कम होता है और डांस करने की आदत भावानात्मक तौर पर भी आपको सेहतमंद बनाए रखती है.

आज कल वजन का बढ़ना एक आम समस्‍या है. ज्‍यादातर लोग इससे जूझ रहे हैं. ऐसे लोगों को डांस करना फायदा देता है. अगर यह कहें कि डांस एक तरह की थेरेपी है, तो गलत नहीं होगा, क्योंकि इससे कैलोरी तेजी से बर्न होने लगती है. यानी बॉडी को शेप में रखने के लिए डांस एक अच्‍छा विकल्‍प है.

अगर नियमित तौर पर डांस को अपनी दिनचर्या में शामिल करते हैं तो इससे रक्त संचार बेहतर रहता है और इस वजह से कई बीमारियों से बचे रहते हैं. साथ ही स्किन में भी निखार आता है.



आज कल अकेलापन और डिप्रेशन इनसे ज्‍यादातर लोग पीड़ित हैं. ऐसे में डांस अच्‍छा विकल्‍प है. यह तनाव दूर करता है और इससे डिप्रेशन भी दूर होता है. इसलिए अगर आप इन समस्‍याओं से दो-चार हैं तो डांस जरूर करें.
जब आप डांस करते हैं तो इससे शरीर में थकावट पैदा होती है और फिर नींद अच्‍छी आती है. ऐसे में जो लोग अनिद्रा की समस्‍या से जूझ रहे हैं उनके लिए डांस एक बेहतर ऑप्‍शन है.

ये भी पढ़ें - जब हो जाए पार्टनर से नोंक-झोंक, तो खुद को यूं रिलेक्‍स करें

डांस करने से शरीर फुर्तीला बना रहता है. अगर आप बहुत जल्‍दी थकावट महसूस करने लगते हैं तो डांस आपके शरीर में स्टैमिना को बढ़ाने में मददगार रहेगा. साथ ही जोड़ों में दर्द की समस्‍या से भी छुटकारा मिलता है, क्‍योंकि जब आप नियमित तौर पर डांस करते हैं तो इससे बॉडी फ्लैक्सिबल हो जाती है. ऐसे में जोड़ों में दर्द की समस्या से बचे रहते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज