लाइव टीवी

Delhi Assembly elections 2020: सुरक्षा के साथ नई सरकार से ये चाहती हैं महिला वोटर्स

News18Hindi
Updated: February 7, 2020, 5:13 PM IST
Delhi Assembly elections 2020: सुरक्षा के साथ नई सरकार से ये चाहती हैं महिला वोटर्स
महिलाओं का मानना है कि यह चुनाव सुरक्षा और अधिकार तक सीमित नहीं रहने चाहिए.

राजधानी दिल्ली की महिलाओं को इन चुनाव और आगामी सरकार से कई सारी उम्मीदें हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 7, 2020, 5:13 PM IST
  • Share this:
दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly elections 2020) का प्रचार थम गया है. मतदाताओं को लुभाने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों (Political parties) के उम्मीदवारों ने तमाम कोशिशें की हैं. वहीं, राजधानी दिल्ली की महिलाओं को इन चुनावों से खास उम्मीद है. दिल्ली की महिलाओं को इन चुनाव और आगामी सरकार से कई सारी उम्मीदें हैं.

महिलाओं का मानना है कि यह चुनाव सुरक्षा और अधिकार तक सीमित नहीं रहने चाहिए. दिल्ली विधानसभा चुनाव के मतदान से पहले आइए जानते हैं महिलाओं को इससे क्या उम्मीदें हैं और वो क्या चाहती हैं दिल्ली में सत्तासीन होने वाली सरकार से.

महिलाएं सिर्फ सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि नौकरी, बिजली, पानी समेत उन तमाम अधिकारों के लिए मतदान करती हैं
महिलाएं सिर्फ सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि नौकरी, बिजली, पानी समेत उन तमाम अधिकारों के लिए मतदान करती हैं


एक समान नजर से देखें

दिल्ली के नांगलोई इलाके में रहने वाली इंदु जो कि पेशे से टीचर हैं, का कहना है कि दिल्ली में जब भी चुनाव होते हैं, तो राजनीतिक पार्टियां महिला सुरक्षा के दावे करती हैं. राजनीतिक पार्टियों को लगता है कि वो ऐसा करके हमारा दिल जीत लेंगी. उन्होंने कहा, महिलाएं सिर्फ सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि नौकरी, बिजली, पानी समेत उन तमाम अधिकारों के लिए मतदान करती हैं, जिनकी उन्हें आवश्यकता है. इसलिए जरूरी है कि सभी पार्टियां महिलाओं और पुरुषों को एक निगाह से देखें.

इसे भी पढ़ें : महिलाओं के रोजमर्रा के ये सामान होंगे सस्ते और इन चीजों के बढ़ जाएंगे दाम, देखिए पूरी लिस्ट

परिपक्व मतदाता हैंदिल्ली विश्व विद्यालय में बीए थर्ड ईयर की छात्रा शिल्पा का कहना है कि अब वक्त है कि सभी पार्टियों को अपनी सोच में बदलाव करना चाहिए. अब राजनीतिक पार्टियों को महिला को अबला, बेचारी से ज्यादा परिपक्व मतदाता के तौर पर देखना चाहिए. शिल्पा के अनुसार, आज की महिलाएं, कई क्षेत्रों में पुरुषों से आगे हैं, ऐसे में उन्हें एक लॉलीपॉप देकर फुसलाया नहीं जा सकता है.

फ्री सेवाओं से ज्यादा जमीनी हकीकत है जरूरी
दिल्ली के कोंडली विधानसभा क्षेत्र में रहने वाली रेणु का कहना है कि दिल्ली की सभी सरकारी बसों में महिलाओं को फ्री में यात्रा करने को मिल रही है. उन्होंने कहा कि फ्री और कम दामों से ज्यादा महिलाओं को जमीनी हकीकत पर गौर करना जरूरी है. उनके अनुसार, सभी पार्टियां महिलाओं की सुरक्षा के दावे करती हैं, लेकिन जमीनी हकीकत पर दावे और वादे दोनों ही खरे नहीं उतरते हैं.

वहीं, कुछ महिलाओं और छात्राओं का कहना है कि दिल्ली के विकास की गति में थोड़ी तेजी लाने की आवश्यकता है. खासकर मेट्रो और बस परिचालन की सेवाओं में वह आगामी सरकार से सुधार की उम्मीद करती हैं.

यह भी पढ़ें :-

वो ड्राइवर की पोती थी और डॉयवोर्सी, स्पेन प्रिंस को पहली नजर में हुआ था प्यार

स्किन गोरा करने वाली क्रीम का दावा हुआ फेल तो लगेगा 50 लाख का जुर्माना

कोरोनावायरस से जुड़ी वो खास फैक्ट्स , जिनको जानना आपके लिए बेहद जरूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 4:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर