लाइव टीवी
Elec-widget

Dengue: इस तरह करें डेंगू की पहचान, अगर हो गया है तो करें ये काम

News18Hindi
Updated: October 16, 2019, 4:46 PM IST
Dengue: इस तरह करें डेंगू की पहचान, अगर हो गया है तो करें ये काम
बदलते मौसम में डेंगू से रहें बचकर (प्रतीकात्मक फोटो)

आइए जानते हैं कैसे करें डेंगू की पहचान और अगर आपको डेंगू हो गया है तो क्या करें....

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2019, 4:46 PM IST
  • Share this:
Dengue डेंगू के बुखार में कई बार लोग इसे सामान्य बुखार समझ कर नजरअंदाज कर देते हैं. लेकिन कई बार डेंगू को लेकर उनकी हीलाहवाली उनपर भारी पड़ जाती है. डेंगू की बीमारी में पीड़ित व्यक्ति का प्लेटलेट्स काउंट गिरने लगता है. इस मौसम में मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से डेंगू होता है. डेंगू के मच्छर सुबह के समय लोगों को काटते हैं. जुलाई से लेकर अक्टूबर के बीच डेंगू सबसे ज्यादा फैलता है. आइए जानते हैं कैसे करें डेंगू की पहचान और अगर आपको डेंगू हो गया है तो क्या करें....

डेंगू की पहचान:
1. डेंगू की शुरुआती स्टेज में रोगी में फ्लू जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं.
2. इडेंगू के मरीज को तेज बुखार, चकत्ते, शरीर में तेज दर्द, भूख कम होना, उल्टी आना आदि होता है.

3. डेंगू जब अपनी खतरनाक अवस्था में पहुंचता है तो डेंगू हेमरेजिक फीवर (DHF) बन जाता है, जो जानलेवा भी हो सकता है.

इस तरह करें डेंगू की पहचान, अगर हो गया है तो करें ये काम
इस तरह करें डेंगू की पहचान, अगर हो गया है तो करें ये काम


इसे भी पढ़ेंः बच्चों की आंखों का ऐसे रखें ख्याल, नहीं चढ़ेगा चश्मा
Loading...

डेंगू में करें ये:

कई बार जानकारी के अभाव में लोग डेंगू को सामान्य बुखार समझ करएस्प्रिन दे देते हैं. लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. क्योंकि यह रोगी के रक्त के बहाव को तेज कर सकती है. डॉक्टर बुखार से निजात दिलाने और दर्द से निजात दिलाने के लिए 'पैरासिटामॉल' के प्रयोग का सुझाव देते हैं. लेकिन इसे भी डॉक्टर की सलाह के बाद ही दिया जाना चाहिए. इसमें इस बात का ख्याल रखा जाता है कि रोगी के ब्लड प्लेटलेट कम न हों और शरीर में तरल पदार्थ जाते रहें. साथ ही इस बीमारी के इलाज के दौरान लोगों की प्लेटलेट काउंट न गिरने देने की कोशिश रहती है. अगर 10,000 प्लेटलेट काउंट से कम होने पर ही इस रोग में रोगी की स्थिति जानलेवा होती है.

इसे भी पढ़ेंः नहीं बढ़ रही आपके बच्चे की लंबाई, अपनाएं ये खास 5 टिप्स

ज्यादातर लोग मानते हैं कि डेंगू में प्लेटलेट्स की कमी से रोगी की मौत होती है. लेकिन ऐसा नहीं है रोगी की मौत डेंगू में कैपिलरी लीकेज के चलते होती है. इस अवस्था में लोगों की नसों में से प्रोटीन बह जाता है, जिससे खून भी लीक होने लगता है. ऐसे में ब्लडप्रेशर गिरने के साथ, शरीर में खून की कमी भी हो जाती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 1:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...