पीरियड्स के दौरान न करें ये गलतियां, सेहत को हो सकते हैं नुकसान

पीरियड्स के दौरान ज्यादातर महिलाओं को टमी पेन की समस्या होती है.

Don't make these mistakes during period: पीरियड्स (Period) में अक्सर महिलाओं को टमी पेन, बेड स्मैल बदन दर्द, ब्लीडिंग अनिद्रा और सिरदर्द जैसी तकलीफें होती हैं.

  • Share this:
    Don't make these mistakes during period: पीरियड्स (Period) में अक्सर महिलाओं को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. इनमें टमी पेन, बेड स्मैल तो आम है ही. बदन दर्द, ब्लीडिंग अनिद्रा और सिरदर्द जैसी तकलीफें भी होती हैं. डॉक्टर्स के अनुसार, महिलाओं को ये दिक्कतें पेनकिलर, असुरक्षित पैड्स और खान-पान की वजह से हो सकती हैं. दरअसल टमी पेन (Stomach pain) और बेड स्मैल से छुटकारा पाने के लिए वो कोई भी तरीका अपनाती हैं. जो उनको तुरंत राहत तो पहुंचाते हैं, लेकिन भविष्य में ये सेहत को बड़ा नुकसान पहुंचा सकते हैं. आइए जानते हैं कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं किन चीज़ों से बचना चाहिए.

    पेन किलर्स खाने से बचें
    पीरियड्स के दौरान ज्यादातर महिलाओं को टमी पेन की समस्या होती है. जिसमें किसी-किसी को असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है. इससे तुरंत छुटकारा पाने के लिए वो पेन किलर्स का सहारा लेती हैं. ये पेन किलर्स उनको फौरी तौर पर तो राहत ज़रूर देते हैं लेकिन भविष्य में सेहत के लिए बेहद नुकसानदेह साबित हो सकते हैं. अमेरिकन नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार पीरियड्स के समय ली जाने वाली पेन किलर्स बहुत नुकसानदायक होती हैं. ये शरीर से अच्छे बैक्टीरिया को खत्म कर देती हैं. इससे भविष्य में किडनी, लिवर और हार्ट सम्बंधित दिक्कतें हो सकती हैं. इसलिए पेन किलर्स लेने से बचना चाहिए.
    परफ्यूम का इस्तेमाल न करें
    बहुत सी महिलाएं पीरियड्स के दौरान आने वाली बेड स्मैल को छुपाने के लिए कई तरह के परफ्यूम का इस्तेमाल करती हैं. इससे कुछ समय के लिए बेड स्मैल से छुटकारा तो मिल जाता है, लेकिन ये आपकी स्किन के लिए नुकसानदायक हो सकता है. परफ्यूम में कई तरह के केमिकल्स होते हैं जो आपकी स्किन में इंफेक्शन पैदा कर सकते हैं. इसलिए ऐसा करने से बचना चाहिए.
    लम्बे समय तक एक ही सैनेटरी नैपकिन का न करें इस्तेमाल
    महिलाएं पीरियड्स के दिनों में लम्बे समय तक एक ही सैनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल करती रहती हैं. ये आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. सैनेटरी नैपकिन इस्तेमाल करने से, एक तो पहले से ही एयर सर्कुलेशन बहुत कम हो जाता है. ऐसे में ज्यादा लंबे समय तक एक ही नैपकिन यूज़ करने से बैक्टिरिया पनपने लगते हैं जो एलर्जी या इन्फेक्शन की वजह बन सकते हैं. इसलिए हर तीन घंटे पर नैपकिन ज़रूर बदलें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)