आप भी बिताते हैं एसी रूम में पूरा दिन? हो सकती हैं ये समस्याएं

आप भी बिताते हैं एसी रूम में पूरा दिन? हो सकती हैं ये समस्याएं
लंबे समय तक एसी में बैठना आपकी सेहत और आपकी स्किन को नुकसान पहुंचा सकता है.

एसी (Air Conditioner) में लगातार रहने से कई शारीरिक समस्‍याएं हो सकती हैं. जिन लोगों को ब्लडप्रेशर की समस्‍या होती है. उन्‍हें लगातार एसी में रहने से लो ब्‍लडप्रेशर (Low Blood Pressure) की समस्‍या हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 15, 2020, 3:57 PM IST
  • Share this:
एयर कंडीशनर (Air Conditioner) का चलन आजकल तेजी से बढ़ रहा है. इसकी वजह यह है कि एसी में गर्म तापमान (Warm Temperature) से राहत मिलती है और ठंडक के साथ सुकून का एहसास होता है. ऐसे में दफ्तर में भी सुकून के साथ पूरे आठ घंटे बिताना आसान हो जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि लंबे समय तक एसी में बैठना आपकी सेहत और आपकी स्किन (Skin) को नुकसान पहुंचा सकता है. चेहरे पर समय से पहले झुर्रियां हावी हो सकती हैं और कई अन्‍य शारीरिक समस्‍याएं (Physical Problems) पनप सकती हैं. आज हम आपको इसी से जुड़ी कुछ अहम जानकारी दे रहे हैं.

लगातार एसी के कम तापमान में बैठना जोड़ों की समस्‍या से जूझ रहे लोगों को नुकसान पहुंचा सकता है. ज्‍यादा समय एसी रूम में रहने से शरीर के जोड़ों में दर्द के साथ अकड़न हो सकती है. अगर आपको हड्ड‍ियों की बीमारी है, तो यह बढ़ सकती है या इससे जुड़ी समस्‍या हो सकती है.

एयर कंडीशनर में ज्‍यादा समय तक रहने से मोटापा बढ़ता है. दरअसल ठंडी जगह पर हमारे शरीर की ऊर्जा खर्च नहीं होती है, जिससे शरीर की चर्बी बढ़ने लगती है.



लंबे समय तक अगर आप एसी में रहते आए हैं, तो इससे आपको 'सिक बिल्डिंग सिंड्रोम' हो सकता है. इससे थकान बने रहने की समस्या हो सकती है. इसके अलावा आपको सिरदर्द और चिड़चिड़ाहट महसूस हो सकती है. इसके अलावा अगर आप एसी से निकलकर सामान्य तापमान या गर्म स्थान पर जाना चाहते हैं, तो आप लंबे समय तक बुखार की समस्‍या हो सकती है.
जिन लोगों को ब्लडप्रेशर की समस्‍या होती है. उन्‍हें लगातार एसी में रहने से बचना चाहिए. ब्लडप्रेशर की समस्‍या से जूझ रहे लोगों को लो ब्‍लडप्रेशर की समस्‍या हो सकती है.

एसी का तापमान बहुत कम होने पर मस्तिष्क की कोशिकाएं भी संकूचित होती है, जिससे मस्तिष्क की क्षमता और क्रियाशीलता प्रभावित होती है. इतना ही नहीं आपको लगातार चक्कर आने की समस्या भी हो सकती है.

लगातार एसी में रहने से आपको स्किन संबंधी समस्‍याएं हो सकती हैं. इससे स्किन की नमी छिन सकती है और इससे स्किन का लचीलापन कम हो सकता है. ऐसे में चेहरे पर झुर्रियां आ सकती हैं. इसके अलावा आंखों की नमी कम होने से आंखें भी प्रभावित हो सकती हैं. ये लाल हो सकती हैं और आपको धुंधली दृष्टि की समस्या हो सकती है.

एसी में लगातार रहने से एक बड़ी समस्‍या यह हो सकती है कि आप ठंडे तापमान में रहने के आदी होने लगते हैं. इसकी वजह से आप गर्म तापमान में ज्‍यादा देर नहीं रह सकते और इसमें आते ही आपको सेहत से जुड़ी समस्‍याएं हो सकती हैं.

ये भी पढ़ें - सफर करते समय क्‍या आपको भी होती हैं पेट से जुड़ी परेशानियां? अपनाएं ये तरीके

लगातार एसी के कम तापमान में बैठना सिर्फ घुटनों की समस्या ही नहीं देता, बल्कि आपके शरीर के सभी जोड़ों में दर्द के साथ-साथ अकड़न पैदा करता है और उनकी कार्यक्षमता धीरे-धीरे कम होने लगती है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading