Home /News /lifestyle /

देसी-विदेशी फूड को लेकर क्या आप भी हैं कन्फ्यूज? इनके बारे में जानें

देसी-विदेशी फूड को लेकर क्या आप भी हैं कन्फ्यूज? इनके बारे में जानें

पिछले कुछ दशकों में हमारे फूड कल्चर में काफी अंतर आया है. Image - Shutterstock.com

पिछले कुछ दशकों में हमारे फूड कल्चर में काफी अंतर आया है. Image - Shutterstock.com

Food types: हमारे किचन में कई बार ऐसे फल या सब्जियां मौजूद रहती हैं जिन्हें हम देसी समझते हैं लेकिन वो विदेशी होती हैं. हम आपको ऐसे ही कुछ फ्रूट्स, सब्जियों के बारे में बताने जा रहे हैं.

    Food types: देसी फूड (Desi Food)और विदेशी फूड जैसे शब्द आजकल बहुत कॉमन हो गए हैं. हर कोई इसके बारे में जानता है, लेकिन कई बार हम इन फूड्स को लेकर कन्फ्यूज हो जाते हैं कि कौन सा देसी है और कौन सा विदेशी. ऐसा भी होता है कि हमारे किचन में कई ऐसे फूड आइट्म्स होते हैं जिन्हें हम देसी समझते हैं लेकिन वास्तव में वे विदेशी होते हैं. इसकी वजह भी है कि पिछले कुछ वक्त में हमारा फूड कल्चर काफी तेजी से बदला है और फास्ट फूड (Fast Food) सहित कई विदेशी फूड्स अब हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल हो गए हैं. रुटीन में इनका इस्तेमालकरने की वजह से कई बार हम देसी-विदेशी फूड के अंतर को समझने में भी कन्फ्यूज हो जाते हैं.

    फूड हैबिट के साथ ही तकनीकी तौर पर हुआ तेजी से बदलाव भी इसकी एक वजह है. देसी-विदेशी फूड में सही तरह से अंतर न जान पाने पर कई बार इसका सेहत के लिहाज से भी नुकसान उठाना पड़ सकता है. ज्यादातर देसी फ्रूट्स या सब्जियों में विदेशी की अपेक्षा ज्यादा पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं लेकिन इसके बारे में कम जानकारी होने पर हम गलती कर बैठते हैं.

    इसे भी पढ़ें: Corn Palak Recipe: बिना प्याज-लहसुन के बनाएं कॉर्न पालक, चाटते रह जाएंगे उंगलियां

    उदाहरण के लिए कई बार हम ब्रोकली और एवाकाडो जैसी विदेशी फल-सब्जियों को तो अपने किचन में जगह दे देते हैं लेकिन बाजरा और शकरकंद फूड हमारी रसोई से नदारद रह जाते हैं. इसी तरह लंबे अर्से पहले विदेश से आए कई व्यंजन भी ऐसे हैं जो कि हमारी संस्कृति में रच-बस गए हैं. हमें अंदाजा ही नहीं कि ये विदेशी व्यंजन थे. इनमें हमारा पसंदीदा फूड आइटम समोसा और जलेबी भी शामिल हैं. नान और मोमोज भी भारतीय डिश नहीं है.

    पिछले कुछ वक्त में हमारे द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली रोजमर्रा की सब्जियों में भी देसी और विदेशी का फर्क लगभग खत्म हो चुका है. बाजार में देसी टमाटरों के मुकाबले जहां विदेशी टमाटरों की भरमार है, वहीं उसकी खपत भी ज्यादा हो चुकी है. इसके अलावा देसी और विदेशी भुट्टे का अंतर भी आप आसानी से पहचान सकते हैं ये दोनों ही किस्म बाजार में मिल जाती है. यही बात अंडा खाने वाले लोगों के लिए भी है. मार्केट में देसी और विदेशी अंडे बिकते हुए मिल जाते हैं.  देसी और विदेशी फूड्स की वैसे तो लंबी फेहरिस्त है, लेकिन हम आपको उसके कुछ उदाहरण बताने जा रहे हैं.

    इसे भी पढ़ें: दूध उबालते वक्त इन टिप्स को करें फॉलो, नहीं होगी दूध की बर्बादी

    देसी फूड्स
    राजगीरा
    बाजार
    शकरकंद
    गोभी
    चावल
    देसी गाय का घी
    सब्जा
    नारियल

    विदेशी फूड्स
    जई
    काएल
    चिआ
    क्विनोआ
    ब्रोकोली
    एवाकाडो

    Tags: Food, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर