लाइव टीवी

क्या आपको भी शादी से लगता है डर? आखिर क्या है इसके पीछे का कारण

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 4:15 PM IST
क्या आपको भी शादी से लगता है डर? आखिर क्या है इसके पीछे का कारण
गैमोफोबिया को कमिटमेंट के डर के रूप में जाना जाता है लेकिन यह सिर्फ शादी का डर नहीं है.

गैमोफोबिया क्या है और इस स्थिति के साथ रहना कितना गंभीर है? इसके लिए आपको गैमोफोबिया को पूरी तरह से समझने की जरूरत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 4:15 PM IST
  • Share this:
क्या आप अपने पार्टनर के साथ शादी करने या घर बसाने के विचार से डरने हैं? क्या आप अपनी शादी के बारे में सोचकर चिंतित हो जाते हैं? अगर ऐसा है तो हो सकता है कि आप गैमोफोबिया के शिकार हों. जी हां यह शादी के प्रति कंमिटमेंट से जुड़ा एक डर है. हो सकता है कि आपने इसे अभी तक महसूस न किया हो या जो भी कारण हो, बस यह जान लें कि इन चीजों को महसूस करना पूरी तरह से ठीक है और सही दृष्टिकोण के साथ कमिटमेंट के डर को दूर किया जा सकता है. गैमोफोबिया क्या है और इस स्थिति के साथ रहना कितना गंभीर है? इसके लिए आपको गैमोफोबिया को पूरी तरह से समझने की जरूरत है. आइए आपको बताते हैं गैमोफोबिया के बारे में सबकुछ.

इसे भी पढ़ेंः नई शादी में करने पड़ते हैं कई एडजस्टमेंट, जानें लाइफ को बैलेंस करने के 4 आसान तरीके

गैमोफोबिया क्या है?
आमतौर पर गैमोफोबिया को कमिटमेंट के डर के रूप में जाना जाता है लेकिन यह सिर्फ शादी का डर नहीं है, यह मनोवैज्ञानिक और शारीरिक लक्षणों का सामना करने के लिए संबंधों को बनाए रखने में असमर्थता द्वारा वर्गीकृत कमिटमेंट का डर भी है.

ये लक्षण कभी-कभी चरम स्थिति में हो सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप घबराहट और चिंता भी हो सकती है. एक स्टडी के मुताबि गैमोफोबिया महिलाओं की तुलना में पुरुषों में अधिक देखा जाता है. गैमोफोबिया के कई कारण हैं जिनमें व्यक्तिगत असुरक्षा, छोड़ने का डर, अवसाद, आत्म-विनाशकारी प्रवृत्ति हो सकते हैं.

गैमोफोबिया के लक्षण
कमिटमेंट के किसी भी विचार के कारण डरकिसी भी काम में कमिटमेंट करने में असमर्थता
चिंता और स्ट्रेस
नकारात्मक विचार और फ्लैशबैक
नियंत्रण खोना
आक्रामकता
छाती में दर्द
जी मिचलाना
हल्की-सी चमक या बेहोशी
सांस लेने में दिक्‍कत
दोहरा व्यवहार

गैमोफोबिया का उपचार
यह एक तर‍ह का डर है और अन्य मानसिक विकारों की तरह गैमोफोबिया का भी उपचार और चिकित्सा के साथ इलाज किया जा सकता है. आइए आपको बताते हैं इसके उपचार के बारे में.

सलाह
यह चिकित्सा का सबसे कम गहन रूप है, जिसका इस्‍तेमाल लोगों को उनके अनुभवों, भय और भावनाओं के बारे में खोलने व दूर करने में मददगार है. यह उन लोगों के लिए अत्यधिक जरूरी है, जिन्होंने किसी आघात या प्रतिकूल परिस्थितियों का अनुभव किया है.

हिप्नोथेरेपी
हिप्नोथेरेपी कम लोकप्रिय है लेकिन यह उन लोगों के लिए आदर्श है जो अपनी पिछली यादों को दबाते हैं और एक अंतर्निहित समस्या से इनकार करते हैं.

व्यवहार थेरेपी
एक सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ एक नकारात्मक दृष्टिकोण की जगह इस तरह की चिकित्सा की मुख्य अवधारणा है. यह थोड़ा समय लेनी वाली चिकित्‍सा पद्धति है क्योंकि इसमें किसी भी अवांछनीय व्यवहार या व्यक्ति में देखे गए पैटर्न को बदलना शामिल है. उपचार थोड़ा अपरंपरागत है लेकिन गैमोफोबिया वाले लोगों के लिए ये आदर्श है.

इसे भी पढ़ेंः एक अच्‍छे रिलेशनशिप में महिलाओं से क्या चाहते हैं पुरुष, रिश्ते में ये जानना जरूरी

दवा
गैमोफोबिया वाले लोगों के कुछ मामलों में, चिकित्सक कुछ प्रकार की दवा की सलाह देते हैं. इसे प्रबंधित करना आसान है क्योंकि यह एक सामाजिक विकार है और इसे सकारात्मक दृष्टिकोण और सही उपचार के साथ आसानी से दूर किया जा सकता है. उपचार के थेरेपी और आक्रामक रूपों के अलावा, कोई भी हमेशा दूसरों तक पहुंच सकता है या कुछ आत्मनिरीक्षण कर सकता है.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिश्ते से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 4:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर