Home /News /lifestyle /

क्या आप जानते हैं उन 9 मसालों के बारे में जो सूजन को कम करते हैं..

क्या आप जानते हैं उन 9 मसालों के बारे में जो सूजन को कम करते हैं..

कई मसाले और हर्ब्स ऐसे हैं जिनको डाइट में शामिल करने से शरीर में सूजन की दिक्कत कम या खत्म होती है.

कई मसाले और हर्ब्स ऐसे हैं जिनको डाइट में शामिल करने से शरीर में सूजन की दिक्कत कम या खत्म होती है.

जांच में पता चला है की ऐसे 9 मसालें (Spices) हैं जो सूजन (Inflammation) को कम करने में बेहद सहायक हैं.

    आप जो डाइट लेते हैं, वो आपकी हेल्थ पर खासा असर डालती है, जिसमें कई तरह के मसाले भी शामिल हैं. इनको खाने से कुछ लोगों को सीने में जलन, शरीर में सूजन और पेट में परेशानी जैसी कई शिकायतें होती हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि कई मसाले और हर्ब्स ऐसे हैं जिनको डाइट में शामिल करने से शरीर में सूजन की दिक्कत कम या खत्म होती है. healthline में छपी खबर के अनुसार जांच में पता चला है की ऐसे 9 मसालें हैं जो सूजन (Inflammation) को कम करने में बेहद सहायक हैं. आइए बताते हैं इनके बारे में.

    अदरक
    सर्दी-ज़ुकाम हो, माइग्रेन, मतली, गठिया या हाई ब्लड प्रेशर, सालों से अदरक का उपयोग इन सबके इलाज के लिए किया जाता रहा है. अब जांच में ये भी सामने आया है कि अदरक सूजन को कम करने में भी बहुत मदद करती है. 1010 लोगों पर की गई जांच के दौरान 16 में सामने आया है कि 4 से 12 सप्ताह तक रोजाना 1000-3000 मिलीग्राम अदरक लेने से सूजन के मार्करों में काफी कमी आई है.

    लहसुन
    लहसुन को बहुत गुणकारी माना जाता है. गठिया, खांसी, कब्ज, संक्रमण, दांत दर्द के साथ कई अन्य तकलीफों में लहसुन का इस्तेमाल सैकड़ों सालों से किया जा रहा है. जांच में सामने आया है की लहसुन सूजन को भी खत्म करने में सहायक है. लहसुन के ज्यादातर फायदे इसमें मौजूद एलिसिन, डायलील डाइसल्फ़ाइड और एस-एलिलिसिस्टीन जैसे सल्फर कंपाउंड्स से मिलते हैं. 830 से ज्यादा लोगों पर की गई जांच के दौरान 17 में ये पाया गया कि जिन लोगों ने 4 से 48 हफ्तों तक लहसुन की खुराक ली, उसने शरीर में सूजन बढ़ाने वाले तत्व को काफी कम कर दिया.

    इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में जरूर खाएं चौलाई का साग, इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग कर बीमारियों को रखेगा दूर

    हल्दी
    हल्दी को तो हमेशा से ही सर्वगुण सम्पन्न माना जाता है. इसमें करक्यूमिन नाम का एंटीऑक्सिडेंट शरीर को फायदा पहुंचाता है और ऐसे तत्व को कम करता है जो सूजन को बढ़ाने का काम करता है. 1,223 लोगों पर की गयी जांच के दौरान 15 में ये पाया गया है कि जिन्होंने 3 दिन से 36 सप्ताह तक 112 से 4000 मिलीग्राम प्रतिदिन हल्दी का सेवन किया उनमें सूजन,ऑस्टियोआर्थराइटिस और कई और बीमारियों को हराने की क्षमता बाकी लोगों की अपेक्षा ज्यादा थी.

    छोटी इलायची
    मुंह का स्वाद ठीक करना हो या मुंह से बदबू मिटाना हो, या सब्जी का टेस्ट बढ़ाना हो. छोटी इलायची का इस्तेमाल मसाले के तौर पर होता रहा है. लेकिन एक अध्ययन में पाया गया है कि इलायची की खुराक लेने से Inflammatory Markers जैसे सीआरपी, आईएल -6, टीएनएफ-α, और एमडीए कम हो सकते हैं. 80 लोगों पर 8 सप्ताह तक किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि 3 ग्राम इलायची रोजाना लेने से सूजन के निशान कम हो जाते हैं.

    काली मिर्च
    काली मिर्च को मसालों के राजा के रूप में जाना जाता है, क्योंकि यह दुनिया भर में लोकप्रिय है. लोग अस्थमा और कई अन्य गैस्ट्रिक बीमारियों का इलाज करने के लिए काली मिर्च का इस्तेमाल करते हैं. हाल ही में इस पर भी शोध किया गया जिसके रिजल्ट ये बताते हैं कि इसमें मौजूद पिपेरिन शरीर में सूजन को कम करने में अहम भूमिका निभा सकता है.

    जिनसेंग
    जिनसेंग एक ऐसा पौधा है जिसे लोग औषधीय गुणों के लिए इस्तेमाल करते हैं. जिनसेंग कई स्वास्थ्य लाभों के साथ जुड़ा हुआ है. इसमें मौजूद जिनसिनोसाइड्स शरीर में सूजन को कम करता है. हाल ही में हुए 409 जांचों में से 7 में ये पाया गया कि 1000 से 3000 मिलीग्राम जिनसेंग को 3 से 32 सप्ताह में दैनिक रूप से लेने वाले लोगों के सूजन मार्करों में काफी कमी आई है.

    ग्रीन टी
    ग्रीन टी एक हर्बल चाय है, जिसे काफी लोग इस्तेमाल करते हैं. एक पशु और टेस्ट-ट्यूब अध्ययन से पता चला है कि इसे पीने से आंत्र रोग,अल्सरेटिव कोलाइटिस और क्रोहन रोग की सूजन को कम करने में मदद मिली है. ग्रीन टी पॉलीफेनॉल्स भी ओस्टियोआर्थराइटिस, रुमेटीइड गठिया, अल्जाइमर रोग, मसूड़ों की बीमारियों और यहां तक कि कुछ कैंसर जैसी बीमारी में फायदेमंद है.

    रोजमेरी
    रोजमेरी (Rosmarinus officinalis) एक स्वादिष्ट, सुगंधित जड़ी बूटी है. शोध बताते हैं कि ये दौनी सूजन को कम करने में मदद कर सकती है. ऑस्टियोआर्थराइटिस वाले 62 लोगों में 16 सप्ताह के एक अध्ययन में पाया गया कि रोज़मरीन एसिड की अधिक मात्रा वाली चाय पीने से दर्द और जकड़न काफी कम हो जाती है. साथ ही घुटनों में गतिशीलता भी बढ़ जाती है. साथ ही एसिड एटोपिक जिल्द की सूजन, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस, अस्थमा, मसूड़ों की बीमारी सहित कई अन्य सूजन मार्करों में भी कमी आती है.

    इसे भी पढ़ेंः रात को बिस्‍तर में नहीं आती नींद? तो करें ये उपाय, मिनटों में दिखेगा असर

    दालचीनी
    दालचीनी एक स्वादिष्ट मसाला है, इसको स्वाद और खुशबू के लिए इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन शोध में पाया गया है कि ये सूजन को कम करने में मददगार है. 690 से अधिक लोगों में 12 अध्ययनों के दौरान ये पाया गया कि 10 से 60 दिनों के लिए प्रतिदिन 1500 से 4000 मिलीग्राम दालचीनी लेने से शरीर में आई सूजन में कमी आती है और शरीर का एंटीऑक्सीडेंट स्तर बढ़ता है.

    Tags: Health, Health tips, Healthy Foods

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर