लाइव टीवी

फैशन ने बढ़ाया इटली में कोरोना का असर, चीन के वुहान से है सीधा कनेक्शन

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 2:26 PM IST
फैशन ने बढ़ाया इटली में कोरोना का असर, चीन के वुहान से है सीधा कनेक्शन
इटली का उत्तरी हिस्सा फैशन और गारमेंट इंडस्ट्री के कारण फल-फूल रहा है.

कोरोना वायरस ने चीन के बाद सबसे अधिक इटली में तबाही मचा रखी है. इटली में कोरोना से मरने वालों की संख्या चीन के ज्यादा हो गई है है. चीन के शहर वुहान से निकले कोरोना ने सबसे अधिक इटली को अपने जद में ले रखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 2:26 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपने चपेट में ले रखा है. इस समय पूरी दुनिया में कोरोना वायरस को लेकर भय का माहौल बना हुआ है. कोरोना वायरस के चलते भारत के 548 जिलों में लॉकडाउन कर दिया गया है. साथ ही लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने के लिए कहा जा रहा है. सरकार लोगों से अपील कर रही है कि घर में रहकर हर जरूरी काम करें, कोरोना को लेकर अफवाहों पर यकीन न करें और मन में पॉजिटिविटी बनाए रखें. क्या आपको पता है कि चीन के बाद कोरोना का सबसे ज्यादा असर इटली में दिखाई दिया है. क्या है इसके पीछे का कारण. क्या आप जानते हैं फैशन और वुहान से इटली के कोरोना का सीधा है कनेक्शन. आइए आपको बताते हैं कैसे.

इसे भी पढ़ेंः Coronavirus: Care Home में रहने वाली 92 वर्षीय महिला ने लोगों से की ऐसी गुहार, देखकर छलक जाएंगे आंसू

फैशन है मुख्य वजह
इटली में कोरोना वायरस के फैलने की मुख्य वजह वहां का फैशन बताया जा रहा है. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के अनुसार इसका चीन से डाइरेक्ट कनेक्शन है. कोरोना वायरस ने चीन के बाद सबसे अधिक इटली में तबाही मचा रखी है. इटली में कोरोना से मरने वालों की संख्या चीन के ज्यादा हो गई है है. चीन के शहर वुहान से निकले कोरोना ने सबसे अधिक इटली को अपने जद में ले रखा है. एशिया में चीन तो यूरोप में इटली नोवेल कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित है.



चीन दुनिया को सस्ता मैनुफैक्चरिंग उपलब्ध कराता है
दरअसल, इटली का उत्तरी हिस्सा फैशन और गारमेंट इंडस्ट्री के कारण फल-फूल रहा है. प्रतिष्ठित वैश्विक ब्रांड जैसे गुची और प्राडा का यही पहला बेस है. चूंकि चीन दुनिया को सस्ता मैनुफैक्चरिंग उपलब्ध कराता है इसलिए इटली के ज्यादातर फैशन ब्रांड चीन के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. इटली के इन फैशन हाउस में सस्ते कामगारों के रूप में चीन के रहने वाले श्रमिकों को रखा जाता है, जिनमें से अधिकांश वुहान के नागरिक हैं.

इटली की फैक्ट्री में एक लाख से अधिक चीनी नागरिक
सिर्फ इटली से वुहान के लिए सीधी फ्लाइट है और इटली की फैक्ट्री में एक लाख से अधिक चीनी नागरिक काम करते हैं. आपको बता दें कि चीनी नागरिकों ने धीरे-धीरे इटली में अपनी पैठ बना ली है और यहां कई फैशन फर्म के मालिक चीनी नागरिक हैं. वहीं, एक अन्य रिपोर्ट बताती है कि यहां करीब 3 लाख चीनी लोग हैं और उनमें से 90 फीसदी लोग इटली की गारमेंट फैक्ट्रीज में काम करते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, यहां हजारों छोटी कंपनियां है जो कि निर्यात का काम करती हैं. ये क्षेत्र आपस में जुड़ हुए भी हैं.

इसे भी पढ़ेंः Coronavirus की वजह से कर रहे हैं वर्क फ्रॉम होम तो ऐसे बनाएं इसे Interesting

मृतकों की संख्या काफी ज्यादा
इस सच्चाई को जानने के बाद इटली के प्रशासन की नींद कोरोना वायरस के खतरे को लेकर खुली और जब खुली तो यह तेजी से फैल चुका था. विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस ने इटली पर दो तरह से अटैक किया है. पहले तो यहां मृतकों की संख्या काफी ज्यादा है. इसके अलावा करीब 60 प्रतिशत आबादी 40 या उससे ऊपर के उम्र की है, जिनमें से 23 प्रतिशत आबादी 65 से ऊपर के उम्र की है. आपको बता दें कि इटली की 100 अरब डॉलर की फैशन इंडस्ट्री पूरी तरह से चीन पर निर्भर है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 2:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर