अपना शहर चुनें

States

क्या आप जानते हैं पार्सले की पत्तियों के ये खास फायदे, इम्यूनिटी से जुड़ा है कनेक्शन

पार्सले की पत्तियां कई पोषक तत्वों से भरपूर हैं जो हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकती हैं.
पार्सले की पत्तियां कई पोषक तत्वों से भरपूर हैं जो हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकती हैं.

पार्सले की पत्तियों या अजमोद (Parsley) में कई शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट (Antioxident) तत्व मौजूद होते हैं जो स्वास्थ्य को लाभ पहुंचा सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 7:22 AM IST
  • Share this:
पार्सले या अजमोद (Parsley) एक औषधीय हर्ब है. इसके पत्ते, तने और बीजों का कई व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है. अजमोद पोषक तत्वों और एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidents) से भरपूर है. अजमोद का उपयोग उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure), एलर्जी और श्वास सम्बन्धी बीमारियों के इलाज के लिए भी किया जाता है. यह चमकीले हरे रंग (Green Colour) का होता है और इसमें हल्का, कड़वा स्वाद होता है जो कई व्यंजनों के साथ अच्छा लगता है. हेल्थलाइन की खबर के अनुसार इसे खाने से स्वास्थ्य को कई प्रकार के लाभ पहुंच सकते हैं. आइए जानते हैं इसके सेहत से जुड़े फायदों के बारे में.

एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर
पार्सले की पत्तियों या अजमोद में कई शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट तत्व मौजूद होते हैं जो स्वास्थ्य को लाभ पहुंचा सकते हैं. एंटीऑक्सिडेंट तत्व मुक्त कणों से सेलुलर क्षति को रोकते हैं. शरीर को एंटीऑक्सिडेंट और मुक्त कणों के स्वस्थ संतुलन के लिए स्वास्थ्य बनाए रखने की जरूरत होती है. पार्सले की पत्तियों या अजमोद की पत्तियों में मुख्य एंटीऑक्सिडेंट तत्व फ्लैवोनॉइड्स, कैरोटीनॉयड, विटामिन सी मौजूद होते हैं. अजमोद के शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट कोशिका क्षति को रोकने और कुछ बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः छोटी सी दिखने वाली दालचीनी सेहत पर करती है ऐसा जादू, होते हैं ये 4 बड़े फायदे
रक्त शर्करा को विनियमित करें


अजमोद और इसके आवश्यक तेल, मिरिस्टिसिन नामक एक एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध होते हैं. मिरिस्टिसिन रक्त शर्करा के स्तर को विनियमित करने में मदद कर सकता है. यह इंसुलिन प्रतिरोध और सूजन को भी कम कर सकता है.

हड्डियों के लिए लाभदायक
हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए कुछ विटामिन्स और खनिजों की जरूरत होती है. ये सभी पोषक तत्व पार्सले की पत्तियों में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. इसमें विटामिन-के भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो ओस्टियोब्लास्ट्स नामक हड्डी-निर्माण कोशिकाओं का समर्थन करके मजबूत हड्डियों के निर्माण में मदद करता है. यह विटामिन अस्थि खनिज घनत्व को बढ़ाने वाले कुछ प्रोटीनों को भी सक्रिय करता है और हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है.

पाचन में मदद करे
अजमोद का उपयोग पाचन और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों के इलाज में मदद करने के लिए किया जाता है. अजमोद में मौजूद भरपूर फाइबर सामग्री पाचन में मदद करती है. यह भोजन को पाचन तंत्र में स्थानांतरित करने में मदद करता है और आंत में अच्छे बैक्टीरिया के लिए एक प्रीबायोटिक के रूप में भी कार्य करता है. पार्सले की पत्तियों का रस पाचन प्रक्रिया को सुचारु रूप से चलाने में मदद करता है.

एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर
पार्सले की पत्तियों का जूस जीवाणुरोधी गुणों से भरपूर होता है. इसके जूस का नियमित सेवन भोजन में बैक्टीरिया के विकास को भी रोक सकता है. इसका नियमित रूप से सेवन कई बीमारियों से लड़ने में मदद करने के साथ साथ शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाता है.

इसे भी पढ़ेंः कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने के लिए जरूर खाएं ये 4 सुपरफूड्स, तुरंत दिखेगा असर

हृदय को रखे स्वस्थ
पार्सले की पत्तियां कई पोषक तत्वों से भरपूर हैं जो हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकती हैं. यह बी विटामिन फोलेट का एक अच्छा स्रोत है, जो हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है. डाइट में फोलेट के उच्च सेवन से हृदय रोग का खतरा काफी हद तक कम हो सकता है. पार्सले की पत्तियां या अजमोद फोलेट से समृद्ध होती हैं साथ ही इसमें विटामिन-बी की भरपूर मात्रा मौजूद होती है जो दिल की रक्षा करता है और हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है.

इम्यूनिटी करे मजबूत
अजमोद में मौजूद एपिगेनिन तत्व शरीर में सूजन से लड़ता है. अजमोद में विटामिन सी भी होता है. इसमें मौजूद पोषक तत्व एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद करते हैं. अजमोद में केवफेरफेरोल और क्वेरसेटिन जैसे फ्लेवोनोल्स होते हैं, जो ऑक्सीडेटिव तनाव और सेलुलर क्षति से लड़ते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज