लाइव टीवी

सावधान! 9 घंटे से ज्यादा सोने वालों को हो सकता है ब्रेन स्ट्रोक का खतरा

News18Hindi
Updated: December 14, 2019, 9:55 AM IST
सावधान! 9 घंटे से ज्यादा सोने वालों को हो सकता है ब्रेन स्ट्रोक का खतरा
सुबह देर तक सोना आपके स्वास्थ्य के लिए बुरा साबित हो सकता है.

एक हालिया शोध के अनुसार सुबह देर तक सोना आपके स्वास्थ्य के लिए बुरा साबित हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 14, 2019, 9:55 AM IST
  • Share this:
जो लोग हर रात 9 घंटे या उससे ज्यादा समय सोते हैं उनमें स्ट्रोक होने का खतरा आठ घंटे से कम सोने वालों की तुलना में 23 फीसदी ज्यादा होता है. एक हालिया शोध में यह खुलासा हुआ है. इस शोध के अनुसार सुबह देर तक सोना आपके स्वास्थ्य के लिए बुरा साबित हो सकता है. वहीं जो लोग दोपहर में 90 मिनट से ज्यादा सोते हैं, उनमें स्ट्रोक का खतरा दोपहर में 30 मिनट से कम सोने वालों की तुलना 25 फीसदी ज्यादा होता है.

इसे भी पढ़ेंः नाइट शिफ्ट में करते हैं काम तो जरूर पढ़ें ये खबर, कहीं जिंदगी भर न पड़े पछताना

मेमोरी और भाषा कौशल में गिरावट
न्यूरोलॉजी नामक पत्रिका में प्रकाशित शोध में ऐसा दावा किया गया है. नए शोध में दावा किया गया है कि ज्यादा देर तक आंख बंद रहने या ज्यादा नींद लेने से मेमोरी पर बुरा असर पड़ता है. शोध के दौरान वैज्ञानिकों ने पाया कि जो व्यक्ति 9 घंटे या उससे अधिक की नींद लेते हैं उनकी मेमोरी और भाषा कौशल में महत्वपूर्ण गिरावट देखी जा सकती है. शोध के बाद वैज्ञानिकों ने दावा किया कि सात या आठ घंटे की नींद लेना सबसे बेहतर है और इससे इन खतरों को टाला जा सकता है. लेकिन उनका कहना था कि यदि व्यक्ति के मस्तिष्क में किसी प्रकार का व्यावधान या रोग हो, तो उसे नींद ज्यादा आती है.

इसे भी पढ़ेंः क्या आपको पता है पुरुषों को भी होता है मेनोपॉज, जरूर पढ़ें ये खबर

दिमाग में रक्त प्रवाह प्रभावित
इस अध्ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों के ध्यान, मेमोरी, भाषा के साथ-साथ मस्तिष्क स्वास्थ्य और उसमें होने वाले बदलावों का निरीक्षण किया. वैज्ञानिकों के अनुसार ज्यादा सोने से दिमाग में जख्म हो जाता है, जिसे व्हाइट मैटर हाइपर इंटेंसिटी भी कहा जाता है. इन जख्मों के चलते दिमाग में रक्त प्रवाह भी प्रभावित होता है. एमआरआई में दिखाई देने वाले ये सफेद घब्बे अवसाद और स्ट्रोक के खतरे को बढ़ाते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 9:46 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर