क्या गले में खराश होना कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि करता है? जान लें ये बातें

गले में खराश और खांसी के लिए कई सारे लक्षणों को देखकर कोरोना वायरस की जांच कराना ही सही विकल्प है.
गले में खराश और खांसी के लिए कई सारे लक्षणों को देखकर कोरोना वायरस की जांच कराना ही सही विकल्प है.

हर इंसान का शरीर कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ अलग तरीके से काम करता है. गले में खराश (Sore Throat) हो सकती है लेकिन इसके साथ अन्य लक्षण भी देखे जा सकते हैं. इसमें गले की खुजली भी हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 8:52 AM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर अब भी कई चीजें पता नहीं है लेकिन लक्षणों (Symptoms) के बारे में कम या ज्यादा हर किसी को मालूम है. गले में खराश (Sore Throat) को भी कोरोना वायरस इन्फेक्शन का लक्षण माना जाता है लेकिन क्या यह वास्तव में पुख्ता तरीके से कोरोना इन्फेक्शन का लक्षण है? वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन यानी WHO द्वारा कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने के 6 महीने बाद भी इसमें हर दिन बढ़ोतरी ही होती हुई दिख रही है. वायरस के साथ गलत जानकारियां और भ्रम भी हर दिन तेजी से बढ़ रहे हैं. वायरस की तेजी को देखते हुए तथ्यों को गढ़ी गई बातों से अलग करने की जरूरत है. जानकारी के लिए ऐसा करने की जरूरत है क्योंकि गलत बातें फैलना खतरनाक साहित हो सकता है.

ये भी पढ़ें - कोरोना वायरस से पड़ रहा पुरुषों के सेक्स हॉर्मोन्स पर असर, जानिए

Covid 19 के लक्षण के रूप में गले में खराश को माना जाता है. आखिरकार यह कितना निश्चित है? चीन में शुरुआती स्टडी में सामने आया था कि 55 हजार कोरोना मरीजों में 14 फीसदी को ही गले में खराश थी. अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार लक्षणों का विकास व्यक्ति के हिसाब से अलग-अलग हो सकता है. निश्चित रूप से यह कोई नहीं जानता लेकिन हर इंसान का शरीर वायरस के खिलाफ अलग तरीके से काम करता है. गले में खराश हो सकती है लेकिन इसके साथ अन्य लक्षण भी देखे जा सकते हैं. इसमें गले की खुजली भी हो सकती है. गले में खराश के अलावा अन्य बीमारियों की उपस्थिति भी एक मुद्दा है. हो सकता है, सर्दी हुई हो, गले में टोंसिल हो या अन्य कोई बीमारी हो.



ये भी पढ़ें - कोरोना रोकने में मददगार है फेस मास्‍क, 25 फीसदी कम हुए मामले
सोशल मीडिया पर कई तरह के मीम देखे गए हैं जिनमें ऑथोरिटी से साधारण फ्लू की खांसी और कोरोना वायरस की खांसी में अंतर बताने के लिए पूछा जाता है. हालांकि इन पर भरोसा नहीं करना चाहिए. गले में खराश और खांसी के लिए कई सारे लक्षणों को देखकर कोरोना वायरस की जांच कराना ही सही विकल्प है. कोरोना वायरस के मरीजों में सबसे ज्यादा खांसी, बुखार और थकान के लक्षण देखे जाते हैं. अगर आपको गले में खराश के साथ अन्य लक्षण भी हैं, तो खुद को आइसोलेट करें. अगर आपके पास नियमित फिजिशियन है, तो उनसे बात करके लक्षणों के बारे में बताएं और उनकी सलाह को फॉलो करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज