मधुमक्खी काट ले तो दर्द और सूजन से राहत दिलाएंगे ये घरेलू उपाय

मधुमक्खी के काटने पर इन तरीकों से मिलेगी राहत. Image/Shutterstock

मधुमक्खी के काटने (Bee Stings) से जहां तेज दर्द (Pain) होता है, वहीं कई बार दर्द और जहर के प्रभाव से बुखार तक आ जाता है. तो कुछ लोगों को इससे एलर्जी (Allergies) और खुजली तक हो जाती है.

  • Share this:
    मधुमक्खी यूं तो देखने में बहुत छोटी लगती है, मगर अगर यह काट ले तो बहुत तकलीफ होती है. इसके डंक (Bee Stings) मारने वाली स्किन लाल पड़ जाती है और इस पर सूजन आ जाती है. साथ ही स्किन (Skin) पर खुजली महसूस होती है. वहीं तेज दर्द (Pain) की वजह से आराम नहीं आता. यहां तक कि कई बार दर्द और जहर के प्रभाव से बुखार तक आ जाता है. कुछ लोगों को तो एलर्जी (Allergies) तक हो जाती है. वैसे तो मधुमक्खी के डंक का असर कुछ घंटों से लेकर करीब 3 तीन तक रह सकता है, मगर तत्‍काल आराम के लिए घर पर ही कुछ उपाय करके इसके दर्द से राहत पाई जा सकती है.

    सबसे पहले डंक को निकाल दें
    अगर आपके मधुमक्खी काट ले तो सबसे पहले उसका डंक निकालने की कोशिश करें. इसके निकलने से इसके जहर का असर कम हो जाएगा. इसके बाद प्रभावित स्किन को किसी एंटीसेप्टिक साबुन से धोकर साफ कर लें.

    ये भी पढ़ें - अपने चश्मे को इन टिप्‍स की मदद से करें साफ, नहीं पड़ेगी स्क्रैच

    शहद का इस्तेमाल भरेगा घाव
    कई औषधीय गुणों से भरपूर शहद भी मधुमक्खी के काटने पर राहत पहुंचाता है. शहद का एंटी-बैक्टीरियल गुण संक्रमण को बढ़ने से रोकता है. इसलिए घाव पर शहद लगा लें. यह दर्द में राहत देता है. साथ ही यह खुजली को कम करने में प्रभावी होता है.

    एलोवेरा जैल करेगी दर्द कम
    मधुमक्खी काट ले तो एलोवेरा जैल लगाने से राहत मिलती है. एलोवेरा जैल को अपनी प्रभावित स्किन पर लगा लें. इसमें मौजूद सूजन-रोधी और दर्द निवारक गुण जलन को कम करते हैं.

    बर्फ लगाना रहेगा फायदेमंद
    मधुमक्खी के डंक मारने से दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए आप बर्फ का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं. इसके लिए प्रभावित जगह पर बर्फ का टुकड़ा लगाएं. इससे दर्द में आराम मिलेगा.

    ये भी पढ़ें - कर रहे वर्क फ्रॉम होम? निजी-प्रोफेशनल लाइफ में बिठाएं तालमेल

    सिरका से मिलेगी राहत
    इसके अलावा आप सिरके का इस्तेमाल भी मधुमक्‍खी के जहर के प्रभाव को कम करने के लिए कर सकते हैं. इससे घाव का दर्द और सूजन कम होते हैं. साथ ही खुजली में भी राहत मिलती है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
    Published by:Naaz Khan
    First published: