Home /News /lifestyle /

Emotional Shayari: 'जीवन का संगीत अचानक अंतिम सुर को छू लेता है...' पढ़ें ग़मगीन शायरी

Emotional Shayari: 'जीवन का संगीत अचानक अंतिम सुर को छू लेता है...' पढ़ें ग़मगीन शायरी

Emotional Shayari, ग़मगीन शायरी

Emotional Shayari, ग़मगीन शायरी

Shayari: मन उदास हो तो जिंदगी और गम के इर्द-गिर्द घूमते लफ्जों से बनी शायरियां दिल कोे सुकून पहुंचाती हैं. पढ़ें ये चुनिंदा इमोशनल शेर (Emotional Sher)

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    ग़म की बंद मुट्ठी में रेत सा मिरा जीवन  जब ज़रा कसी मुट्ठी ज़िंदगी बिखरती है  - अतीक़ अंज़र

    ग़म की बंद मुट्ठी में रेत सा मिरा जीवन,
    जब ज़रा कसी मुट्ठी ज़िंदगी बिखरती है
    – अतीक़ अंज़र
    हम ने सारा जीवन बाँटी प्यार की दौलत लोगों में  हम ही सारा जीवन तरसे प्यार की पाई पाई को  - अज़ीज़ बानो दाराब वफ़ा

    हम ने सारा जीवन बाँटी प्यार की दौलत लोगों में,
    हम ही सारा जीवन तरसे प्यार की पाई पाई को
    – अज़ीज़ बानो दाराब वफ़ा
    ऐसा हो ज़िंदगी में कोई ख़्वाब ही न हो  अँधियारी रात में कोई महताब ही न हो  - ख़लील मामून

    ऐसा हो ज़िंदगी में कोई ख़्वाब ही न हो,
    अँधियारी रात में कोई महताब ही न हो
    – ख़लील मामून
    दर्द की हद से गुज़रना तो अभी बाक़ी है  टूट कर मेरा बिखरना तो अभी बाक़ी है  - राशिद कामिल

    दर्द की हद से गुज़रना तो अभी बाक़ी है,
    टूट कर मेरा बिखरना तो अभी बाक़ी है
    – राशिद कामिल
    हुआ यूँ कि फिर मुझे ज़िंदगी ने बसर किया  कोई दिन थे जब मुझे हर नज़ारा हसीं मिला  - अदा जाफ़री

    हुआ यूँ कि फिर मुझे ज़िंदगी ने बसर किया,
    कोई दिन थे जब मुझे हर नज़ारा हसीं मिला
    – अदा जाफ़री
    जीवन का संगीत अचानक अंतिम सुर को छू लेता है  हँसता ही रहता है फिर भी मेरे अंदर मरने वाला  - ज़फर इमाम

    जीवन का संगीत अचानक अंतिम सुर को छू लेता है,
    हँसता ही रहता है फिर भी मेरे अंदर मरने वाला
    – ज़फर इमाम (साभार रेख़्ता)

    Tags: Books, Lifestyle, Literature

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर