इन चीजों को खाने से बच्चों को हो सकता है पेट में इंफेक्शन, आज ही रोकें

इन चीजों को खाने से बच्चों को हो सकता है पेट में इंफेक्शन, आज ही रोकें
1 से 2 साल की उम्र के बच्चों को कुछ चीजें खिलाने से उन्हें हेल्थ प्रॉब्लम हो सकती है.

आजकल 1 से 2 साल के बच्चों को ही लोग बिस्कुट, नमकीन, दूध में भिगोकर कई तरह के फ्रूट्स देते हैं. इन चीजों के साथ बच्चे के शरीर में नमक भी जाता है जो उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2020, 9:45 AM IST
  • Share this:
पुरानी कहावत है शरीर स्वस्थ्य तो दिमाग भी दुरुस्त. शरीर और दिमाग को दुरुस्त करने के लिए जरूरी है हेल्दी डाइट. एक व्यक्ति अपनी डाइट में बेशक से लापरवाही बरत सकता है, लेकिन जब बात बच्चों की आती है तो इसमें लापरवाही बरतने का सवाल ही नहीं होता. बच्चे के मानसिक और शारीरिक विकास के लिए सही पोषण जरूरी है जो उन्हें मिलता है हेल्दी डाइट से. पर क्या आप जानते हैं कुछ चीजें जिन्हें आप बच्चों को हेल्दी समझकर खिला रहे हैं उससे उन्हें नुकसान हो सकता है.

जी हां 1 से 2 साल की उम्र के बच्चों को कुछ चीजें खिलाने से उन्हें हेल्थ प्रॉब्लम हो सकती है. अगर, वक्त रहते इन चीजों का सेवन बच्चों की डाइट से न हटाया जाए तो उनके पाचन तंत्र पर असर पड़ सकता है और उनके पेट में इंफेक्शन का खतरा हो सकता है. आइए जानते हैं कौन सी वो चीजें जिन्हें बच्चों को खिलाने से परहेज करना चाहिए.

नमक (Salt)



आजकल 1 से 2 साल के बच्चों को ही लोग बिस्कुट, नमकीन, दूध में भिगोकर कई तरह के फ्रूट्स देते हैं. इन चीजों के साथ बच्चे के शरीर में नमक भी जाता है जो उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है. अगर, बच्चा मां का दूध पीता है तो उसमें मौजूद सोडियम शरीर में नमक की कमी नहीं होने देते हैं. ऐसे में ध्यान रहे कि बच्चे को ज्यादा नमकीन का सेवन न करने दिया जाए.
शहद (Honey)

सर्दी, खांसी में अक्सर बच्चों को शहद दिया जाता है. शहद का सेवन एक निश्चित मात्रा में किया जाए तो ये बच्चे की सेहत के लिए बहुत अच्छा है, लेकिन अत्यधिक मात्रा में इसका सेवन बच्चे को कराने से बोटुलिस्म नामक बीमारी हो सकती है. दरअसल, शहद की तासीर थोड़ी सी गर्म होती है. बात अगर, बोटुलिस्म की जाए तो यह एक प्रकार का बैक्टीरिया है जो बच्चों की आंत में होता है. इसके कारण बच्चों के पेट में अक्सर हल्का-हल्का दर्द रहता है. अगर, आपका बच्चा अक्सर रोता है, पेट के इर्द-गिर्द हाथ फेरता है तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं.

रिफाइंड शुगर

कम हो या ज्यादा चीन खाना बच्चों और बड़ों दोनों के लिए ही अनहेल्दी है. अगर, बच्चा एक साल से कम का है तो उसे ज्यादा चीनी वाली चीजे न खिलाए. जो महिलाएं बच्चों को अपना दूध किसी कारणवश नहीं पिलाती हैं वो अक्सर दूध के साथ चीनी मिलाकर बच्चों को पिलाती है. रिफाइंड शुगर बच्चे के मानसिक विकास पर असर डाल सकती है. साथ ही बच्चे को मोटापे, कैविटी जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं. अगर, आपको बच्चों को दूध के साथ कुछ मीठा ही देना है तो आप गुड़ का इस्तेमाल कर सकती हैं.

किन अन्य चीजों का ज्यादा सेवन करने से बच्चों की सेहत, शारीरिक और मानसिक विकास में बाधा आ सकती है इसके बारे में ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज