आंखों की फुंसी 'गुहेरी' का इन घरेलू तरीकों से करें इलाज, जल्द कम होगा दर्द और सूजन

इस समय में जरूरी है कि कॉन्टैक्ट लेंस को निकलाकर चश्मे का इस्तेमाल किया जाए.

आंख की पलकों पर बाहर या फिर अंदर की तरफ दाना निकल आने को ही गुहेरी या फुंसी कहा जाता है. यह फुंसी काफी दर्दनाक होती है. दर्द के साथ इसमें सूजन भी आ जाती है.

  • Share this:
    बदलते मौसम में आंख की फुंसी एक आम समस्या होती है. ज्यादातर समय जब सर्दियां जाने लगती हैं और गर्मी की शुरुआत होने लगती है तब आंखों में फुंसी उभरने लगती है. इसे कई नामों से जाना जाता है. आम बोलचाल की भाषा में इसे गुहेरी कहते हैं. आंख की पलकों पर बाहर या फिर अंदर की तरफ दाना निकल आने को ही गुहेरी या फुंसी कहा जाता है. यह फुंसी काफी दर्दनाक होती है. दर्द के साथ इसमें सूजन भी आ जाती है.

    हालांकि यह कोई गंभीर बीमारी नहीं है लेकिन इसमें तकलीफ बहुत होती है. यहां तक कि पलक झपकाना भी मुश्किल हो जाता है. कई बार इससे आंख में खुजली और जलन होती है और तेज रोशनी से दिक्‍कत होने लगती है. अब परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि कुछ घरेलू उपायों की मदद से आप इस समस्‍या को आसानी से दूर कर सकते हैं. आइए आपको बताते हैं कौन से हैं वो घरेलू नुस्खे.

    इसे भी पढ़ेंः महिलाओं की सेहत के लिए रामबाण है केसर वाला दूध, शरीर से इन बीमारियों को रखेगा दूर

    हल्दी
    हर किचन में मौजूद हल्‍दी कई रोगों की दवा होती है. इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह दर्द को कम कर सकती है. आंख की गुहेरी से राहत पाने के लिए पैन में 2 कप पानी और 1 चम्मच हल्दी डाल कर इसे अच्छी तरह से उबाल लें. फिर इसे ठंडा करके आंख पर सूखे और साफ कपड़े से लगाएं. इससे बहुत जल्दी आराम मिलता है और दर्द भी कम हो जाता है.

    कैस्‍टर ऑयल
    कैस्टर ऑयल में मौजूद तत्व जलन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं. यह ऑयल गुहेरी के इलाज और उन्हें जल्दी ठीक करने के लिए उपयोगी है. इसके लिए सबसे पहले आंखों को अच्छी तरह से धो लें और उन्हें गर्म पानी में कॉटन को भिगो कर सेंक लें. सिंकाई के बाद थोड़ी मात्रा में कैस्टर ऑयल लेकर उसे गुहेरी पर लगा लें. जल्द ही आराम मिलेगा.

    ग्रीन टी
    ग्रीन टी अपने एंटीबैक्टीरियल गुणों की वजह जाना जाता है. इसमें बैक्टीरिया को खत्म करने के गुण मौजूद होते हैं. यह गुहेरी की रोकथाम के लिए भी बहुत फायदेमंद है. ग्रीन टी पैक में मौजूद टैनिन इंफेक्‍शन बढ़ने से रोकता है. इसके अलावा इससे आंखों से सूजन और दर्द से राहत मिलती है. ग्रीन टी के टी बैग को गर्म पानी में डुबोकर आंखों या उस स्थान पर रखें जहां गुहेरी का प्रभाव हो. जब टी बैग ठंडे हो जाएं तो दोबारा इसे गरम पानी में डुबोकर इसका इस्तेमाल करें.

    एलोवेरा जैल
    एलोवेरा को त्वचा संबंधी कई तरह के रोगों को दूर करने के लिए लाभकारी माना जाता है. यह त्वचा में होने वाली जलन को कम करता है और स्किन इंफेक्‍शन से होने वाले रोगों को भी दूर रखता है. आंख की गुहेरी से राहत पाने के लिए एलोवेरा काफी कारगर साबित हो सकता है. इसके लिए एलोवेरा जैल को निकालकर आंख पर लगाएं और 20 मिनट बाद साफ पानी से धो लें. एलोवेरा में मौजूद तत्व बैक्टीरिया को खत्म करने और इंफेक्‍शन को रोकने में मदद करते हैं.

    अमरूद के पत्ते
    अमरूद के पत्ते भी गुहेरी को खत्म करने में मदद करते हैं. इस उपाय को करने के लिए पैन में कुछ मात्रा में पानी लें और फिर अमरूद के 4 पत्तों को साफ कपड़े में बांध कर पानी में डुबो कर उबालें. इसके बाद पत्तियों के ठंडा होने पर इससे आंखों की गुहेरी की सिकाई करें. आपको जल्द ही इस समस्या से राहत मिलेगी.

    इसे भी पढ़ेंः अपनी डाइट में जरूर शामिल करें नीम, इन 5 बीमारियों को रखेगा दूर

    गर्म पानी और सेंधा नमक
    गर्म पानी और सेंधा नमक से सिंकाई करने से जल्द आराम मिलता है. इससे दर्द और सूजन भी कम हो जाता है. इससे पलकों या आंखों के किनारों पर जो दाने होते हैं वो तेजी से बढ़कर पक जाते हैं, इस तरह प्राकृतिक तरीके से पस निकल जाता है और जल्दी ही सुधार आने लगता है. इसके लिए गर्म पानी में साफ सूती कपड़े को भिगोकर निचोड़ लें. इससे गुहेरी की सिकाई करें.

    Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.