मानसून सीजन में बालों के झड़ने से हैं परेशान, अपनाएं ये तरीके

मानसून में आप बालों के झड़ने उनके सफेद होने और डैंड्रफ की समस्या से जूझ रहे हैं.
मानसून में आप बालों के झड़ने उनके सफेद होने और डैंड्रफ की समस्या से जूझ रहे हैं.

शरीर (Body) में पोषक तत्वों (Nutrients) की कमी के कारण बाल झड़ने (Hair fall) शुरू हो जाते हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे उपायों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप बाल झड़ने को रोक सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2020, 12:03 PM IST
  • Share this:
मॉनसून (Monsoon) सीजन में हेयरफॉल की प्रॉब्लम काफी होती है. शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण बाल झड़ने लगते हैं. विशेष रूप से लौह, जस्ता खनिज, प्रोटीन और विटामिन की कमी बालों का झड़ना बढ़ा देती है. वहीं अगर आप स्ट्रेटनिंग, कलरिंग, स्ट्रीकिंग जैसे उपचार कराते हैं तो सावधान हो जाइए, क्योंकि ये आपके बालों को नुकसान पहुंचाते हैं. मॉनसून के दौरान हवा में नमी बढ़ने के कारण कई तरह के बैक्टीरियल और फंगल संक्रमण भी बढ़ जाते हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार तनाव भी बाल झड़ने का एक प्रमुख कारक है, कोविड 19 के दौर में हर कोई किसी न किसी तरह के तनाव से गुजर रहा है. खासकर वो महिलाएं जो घर के काम के साथ-साथ अन्य प्रबंधन भी करता हैं ज्यादा तनाव में हैं. आइए जानते हैं बालों के झड़ने को कम करने के लिए कौन- कौन से तरीकों को अपनाया जा सकता है...

* आयरन से भरपूर भोजन करना सही रहेगा. ऐसे भोजन विशेष रूप से डार्क चॉकलेट, कोको और अनप्रोसेस्ड कोको पाउडर आयरन-मैंगनीज मैग्नीशियम और जस्ता के अच्छे स्त्रोत माने जाते हैं.



* एक स्वस्थ आहार लेना जरूरी है. सन बीज, चिया बीज, कद्दू और तिल के बीज, बादाम और अखरोट खनिज, ओमेगा 3 और आवश्यक फैटी एसिड के अच्छे स्रोत माने जाते हैं.
* महिलाओं को अपने बालों पर ऑर्गेनिक नारियल और हिबिस्कस तेल का प्रयोग करना चाहिए. साथ ही हाइड्रेटिंग पैराबेन-मुक्त शैम्पू का उपयोग बालों में लगाना सही रहेगा.

लॉकडाउन में पेरेंट्स बच्चों की फिटनेस का ऐसे रख सकते हैं ध्यान, अपनाएं ये पांच तरीके

* हेयर मेसोथेरेपी की विधि का सहारा लिया जा सकता है. इसमें बालों की जड़ के बगल में विटामिन को इंजेक्ट किया जाता है, क्षतिग्रस्त बालों के रोम के चारों ओर रक्त परिसंचरण को उत्तेजित करता है और इससे बालों का झड़ना रुकता है.

* पीआरपी उपचार का उपयोग बालों के झड़ने को रोक सकता है. इसमें एन्डोथेलियल और एपिडर्मल ग्रोथ फैक्टर आदि से भरपूर सेंट्रीफ्यूजन गोल्डन सीरम निकालने के बाद आपका अपना ब्लड सैंपल क्षतिग्रस्त बालों के रोम के बगल में इंजेक्ट किया जाता है.

* पीआरपी उपचार के द्वारा सिर के सूजन को ठीक किया जा सकता है. यह बालों के चारों ओर रक्त संचार यानी कि ब्लड फ्लो को बढ़ाता है. यह प्रभावी रूप से बालों के झड़ने को रोकता है . यह चमक भी बढ़ाता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज