Home /News /lifestyle /

दिल्ली में राजमा-चावल का असली स्वाद चखना हो तो कनॉट प्लेस में 'ढाबा फूड' पर पहुंचें

दिल्ली में राजमा-चावल का असली स्वाद चखना हो तो कनॉट प्लेस में 'ढाबा फूड' पर पहुंचें

छोटी सी दुकान ‘ढाबा फूड’ के यहां बिकने वाला राजमा-चावल दिल्ली में खास मशहूर है.

छोटी सी दुकान ‘ढाबा फूड’ के यहां बिकने वाला राजमा-चावल दिल्ली में खास मशहूर है.

Famous Food Outlets In Delhi: दिल्ली (Delhi) के कनॉट प्लेस (Connaught Place) के सुपर बाजार परिसर में म्यूनिसिसपल मार्केट है, जिसमें ‘ढाबा फूड’ (Dhaba Food) के नाम से एक छोटी सी दुकान है, जहां बिकने वाला भोजन बहुत मशहूर है. यहां राजमा-चावल (Rajma Chawal), कड़ी-चावल और छोले-चावल खाने के लिए दूर-दूर से लोग चले आते हैं.

अधिक पढ़ें ...

(डॉ. रामेश्वर दयाल) 

Famous Food Outlets In Delhi: कनॉट प्लेस (Connaught Place) को दिल्ली (Delhi) का दिल इसलिए माना जाता है, क्योंकि वह कई विशेषताओं को समेटे हुए है. इसे देश के पहले मॉल का दर्जा हासिल है तो शॉपिंग, घुमक्कड़ी और तफरीह के मसलों पर भी यह दिल्ली के दूसरे बाजारों या इलाकों से बिल्कुल भिन्न है. खानपान को लेकर तो कनॉट प्लेस गजब है. देश के सभी राज्यों के साथ-साथ यहां कॉन्टिनेंटल भोजन भी आसानी से उपलब्ध है.

अगर आप कनॉट प्लेस और उसके कल्चर को पुराने वक्त से जानते हैं तो यहां पर तीन-चार ठिए ऐसे हैं जहां के राजमा-चावल (Rajma Chawal) की खासी पब्लिसिटी है. सालों पहले भी इन दुकानों पर खाने वालों का मजमा लगता था और आप आज भी वहां जाएंगे तो राजमा-चावल खाने वाले वहां खड़े दिखाई देंगे. लोगों में इस डिश का अलग ही क्रेज है. आज हम आपको यहां के एक ऐसे ही ठिए पर लिए चल रहे हैं, जो सालों से लोगों को इसी तरह का डिश खिला रहा है.

अलग ही मजा देगा यहां का राजमा-चावल

कनॉट प्लेस (Connaught Place) के आउटर सर्कल (Outer circle) में बहुत बड़ा सुपर बाजार है. यह मयूर भवन में हैं, जिसके बाहर फायर ब्रिगेड स्टेशन भी है. इसी सुपर बाजार परिसर में म्यूनिसिसपल मार्केट है, जिसमें ‘ढाबा फूड’ (Dhaba food) के नाम से एक छोटी सी दुकान है, लेकिन यहां बिकने वाला भोजन खास मशहूर है. यह कनॉट प्लेस की उन गिनी- चुनी दुकानों में से एक है, जहां राजमा-चावल, कड़ी-चावल व छोले-चावल खाने के लिए लोग चले आते हैं. अगर आप किसी काम से कनॉट प्लेस आए हैं और आपको मालूम है कि यहां के ढाबों में राजमा-चावल का मजा अलग है, तो आप इसे खाने के लिए जरूर पहुंचेंगे. दोपहर के वक्त तो इस दुकान पर खासी भीड़ लग जाती है और लोग खड़े होकर ही दुकान के बाहर इन्हें खाते हुए मिल जाएंगे. असल में इस ढाबे पर इस डिश में जिस तरह से दूसरे खाद्य पदार्थ डालकर परोसा जाता है, उससे भी उसका स्वाद बढ़ जाता है और वह दूसरी जगहों पर बिकने वाले राजमा-चावल से अलग हो जाता है.

यह भी पढ़ें- सूखे मेवों से भरपूर दाल और गाजर हलवे का लेना है मज़ा तो चर्च मिशन रोड पर ‘ज्ञानीज़ दी हट्टी’ पर आएं

बूंदी का रायता और पापड़ इसके स्वाद को अलग बना देते हैं

आप ऑर्डर देंगे तो प्लेट में चावल के ऊपर गाढ़ा राजमा फैलाया जाएगा. प्लेट के एक तरफ ही बूंदी का गाढ़ा रायता भी बिखेर दिया जाएगा. साथ में कटी हुई प्याज तो होगी ही, साथ में अचारी मिर्च भी मिलेगी. इस डिश को शानदार बनाने लिए प्लेट के ऊपर ही तले हुए करारे पापड़ भी रख दिए जाते हैं. अब इसे खाइए, अलग ही मजा देगा. चम्मच से राजमा-चावल के साथ रायता को मिलाइए. इसे खाते हुए साथ में प्याज और हरी मिर्च का भी स्वाद चखिए और साथ में पापड़ को तोड़-तोड़कर मुंह में रखते रहिए. मजा ही मजा. ऐसा भोजन दिल्ली में कनॉट प्लेस के अलावा शायद ही कहीं और मिलता होगा. कुछ लोग तो पापड़ को क्रश कर उसे राजमा-चावल पर बिखेर लेते हैं और अलग ही स्वाद बनाकर खाते हैं. इस दुकान पर इसी तरह से कढ़ी-चावल, छोले चावल भी परोसे जाते हैं. आपको जो भी खाने का मन करे, आजमा सकते हैं. एक प्लेट की कीमत 80 रुपये है.

डिश को शानदार बनाने लिए प्लेट के ऊपर ही तले हुए करारे पापड़ भी रख दिए जाते हैं.

डिश को शानदार बनाने लिए प्लेट के ऊपर ही तले हुए करारे पापड़ भी रख दिए जाते हैं.

20 साल से राजमा-चावल के अलावा और भी आइटम

दुकान ने वैरायटी को बढ़ाते हुए शाही पनीर- चावल के अलावा छोले-पठूरे भी बेचना शुरू कर दिए हैं. इसके अलावा खाने के कुछ और आइटम भी बेचे जाते हैं, लेकिन लोगों को सबसे अधिक आनंद तो यहां के राजमा-चावल में ही मिलता है. करीब 20 साल पहले इस काम को अनिल मेहता (Anil Mehta) ने शुरू किया था. आज उनके बेटे भी साथ में हाथ बंटा रहे हैं. उनका कहना है कि राजमा-चावल भी कनॉट प्लेस की पहचान बन चुका है, इसलिए हम क्वॉलिटी पर खास ध्यान देते हैं. इसलिए लोग सालों से खाने आ रहे हैं.

यह भी पढ़ें- दिल्ली में मथुरा जैसे पेड़े का लेना है स्वाद तो गौरी शंकर मंदिर के पास ‘बृजवासी मिठाई वाला’ पर आएं

सुबह 9 बजे लोगों द्वारा राजमा-चावल खाने का दौर शुरू होता है, जो शाम 6 बजे तक चलता है. जितने बजे खाइए, सब कुछ गरमा-गरम मिलेगा. अवकाश के दिन तो लोग परिवार समेत खाने आ जाते हैं. अवकाश कोई नहीं है.

नजदीकी मेट्रो स्टेशन: राजीव चौक

Tags: Food, Lifestyle, Street Food

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर