Shayari: दिल से निकली आवाज़ है शायरी, आज पढ़ें मुहब्‍बत भरा कलाम

Shayari: शायरी में हर जज्‍़बात को खूबसूरत अल्‍फ़ाज़ में पिरोया गया है. Image Credit/Pexels Burst
Shayari: शायरी में हर जज्‍़बात को खूबसूरत अल्‍फ़ाज़ में पिरोया गया है. Image Credit/Pexels Burst

Shayari: उर्दू शायरी (Urdu Shayari) में मुहब्‍बत (Love) की बात की गई है. साथ ही इसमें हर जज्‍़बात (Emotion) को पूरी ख़ूबसूरती के साथ पेश किया गया है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 7:35 AM IST
  • Share this:
Shayari: शेरो-सुख़न (Shayari) की दुनिया में हर जज्‍़बात (Emotion) को बेहद ख़ूबसूरती के साथ काग़ज़ पर उकेरा गया है. शायरी में जहां मुहब्‍बत का इज़हार बेहद खूबसूरत शब्‍दों में किया गया है, वहीं दर्द, जुदाई, मायूसी, उदासी और नाउम्‍मीदी से भरे जज्‍़बात को भी पूरी अहमियत दी गई है. शायरों ने हर जज्‍़बात को बहुत ही गहरे और खूबसूरत अल्‍फ़ाज़ में पिरोया है. आज हम शायरों के ऐसे ही बेशक़ीमती कलाम से चंद अशआर आपके लिए 'रेख्‍़ता' के साभार से लेकर हाजिर हुए हैं. शायरों के ऐसे अशआर जिसमें बात मुहब्‍बत के इज़हार की हो और शायर की कैफियत, उनके दिल की हालत का जिक्र हो. आप भी इसका लुत्‍फ़ उठाइए...

ये कहना था उन से मोहब्बत है मुझ को
ये कहने में मुझ को ज़माने लगे हैं
ख़ुमार बाराबंकवी
सब कुछ हम उन से कह गए लेकिन ये इत्तिफ़ाक़
कहने की थी जो बात वही दिल में रह गई


जलील मानिकपुरी

ये भी पढ़ें - Nida Fazli Birth Anniversary: 'निदा' फ़ाज़ली की ज़िंदगी के अनसुने पहलू 

हाल-ए-दिल क्यूं कर करें अपना बयां अच्छी तरह
रू-ब-रू उन के नहीं चलती ज़बाँ अच्छी तरह
बहादुर शाह ज़फ़र

एक दिन कह लीजिए जो कुछ है दिल में आप के
एक दिन सुन लीजिए जो कुछ हमारे दिल में है
जोश मलीहाबादी

इश्क़ के इज़हार में हर-चंद रुस्वाई तो है
पर करूं क्या अब तबीअत आप पर आई तो है
अकबर इलाहाबादी

तुझ से किस तरह मैं इज़हार-ए-तमन्ना करता
लफ़्ज़ सूझा तो मआ'नी ने बग़ावत कर दी
अहमद नदीम क़ासमी

दिल सभी कुछ ज़बान पर लाया
इक फ़क़त अर्ज़-ए-मुद्दआ के सिवा
हफ़ीज़ जालंधरी

ये भी पढ़ें - 'पूछा जो उनसे चांद निकलता है किस तरह', पेश हैं इश्‍क़ भरे अशआर

इज़हार-ए-हाल का भी ज़रीया नहीं रहा
दिल इतना जल गया है कि आंखों में नम नहीं
इस्माइल मेरठी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज