Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    प्रेग्नेंसी महसूस होने के बाद भी टेस्ट है नेगेटिव, ये कारण हो सकते हैं जिम्मेदार

    प्रेग्नेंसी महसूस होने के बाद भी टेस्ट है नेगेटिव, जानें क्यों
    प्रेग्नेंसी महसूस होने के बाद भी टेस्ट है नेगेटिव, जानें क्यों

    पीरियड्स मिस होना एक अलार्म होता है और यह आपको गर्भावस्था (Pregnancy) का आभास करा सकता है. यदि आपका टेस्ट नेगेटिव आता है, तो पीरियड्स करीब हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 25, 2020, 7:41 AM IST
    • Share this:
    क्या मॉर्निंग सिकनेस महसूस होना, पीरियड्स में समय और स्तनों में सूजन के बाद भी आपका प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव आता है? तत्काल परिणाम वाली टेस्टिंग किट सही संकेत देती है लेकिन कभी-कभार नेगटिव आने पर भी आपको 2 से 3 बार विभिन्न अंतरालों पर परीक्षण लेना चाहिए. इससे पता चल जाएगा कि आप वास्तव में गर्भवती हैं या नहीं. यहां कुछ ऐसे कारण बताए जा रहे हैं जहां आपको गर्भावस्था जैसा महसूस होता है लेकिन वास्तव में प्रेग्नेंसी नहीं होती.

    टेस्ट का जल्दी होना
    अक्सर टेस्ट जल्दी होने से यह दर्शाता है कि आप गर्भवती नहीं हैं. आपको सही तारीख पर खुद का परीक्षण करने के लिए पैकेज पर दिए गए निर्देशों के अनुसार से चलना चाहिए. यदि अब भी टेस्ट नेगेटिव आता है, तो आप कुछ दिनों के अंतराल के बाद एक बार फिर से टेस्ट कर सकती हैं.

    अत्यधिक हाइड्रेटेड
    अक्सर बहुत अधिक पानी पीने से प्रेग्नेंसी टेस्ट के गलत परिणाम दिख सकते हैं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अतिरिक्त पानी पीने के बाद यूरिन पतला हो जाता है जिससे परीक्षण की सटीकता कम हो जाती है. यह सुनिश्चित करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप सुबह टेस्ट करने से पहले रात को अतिरिक्त पानी न पीएं.



    फ़ॉल्ट टेस्टिंग
    एक्सपायर्ड या फ़ॉल्ट टेस्ट किट के माध्यम से परीक्षण करने से गलत परिणाम भी हो सकते हैं. स्टोरेज की शर्तें भी सही परिणाम का निर्धारण करने में एक भूमिका निभाती है. आपको अपने बाथरूम कैबिनेट या कोठरी में किट को स्टोर करना होगा और बहुत गर्म या ठंडे कंडीशन से इसके संपर्क को रोकना होगा.

    हार्मोनल असंतुलन
    अक्सर पीरियड्स मिस होना एक अलार्म होता है और यह आपको गर्भावस्था का आभास करा सकता है. यदि आपका टेस्ट नेगेटिव आता है, तो पीरियड्स करीब हैं. अगर पीरियड्स दो से तीन सप्ताह देरी से आते हैं, तो आपको डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए. अगर आप PCOD से पीड़ित हैं, तो देरी ज्यादा लम्बी हो सकती है.

    दवाओं के साइड इफेक्ट
    यदि आप नियमित रूप से गोलियां या अन्य गर्भनिरोधक दवाओं की गोलियों का उपयोग कर रहे हैं, तो वे आपकी प्रेग्नेंसी के परिणामों में भी हस्तक्षेप कर सकते हैं. ये दवाएं शरीर पर हार्ड होती हैं और न केवल मासिक धर्म चक्र के साथ हस्तक्षेप करती हैं, बल्कि गर्भधारण में एक समस्या भी पैदा कर सकती हैं. ऐसी स्थिति में डॉक्टर या स्त्री रोग विशेषज्ञ से सम्पर्क करना उचित होगा.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज