अपना शहर चुनें

States

झगड़े के बाद रूठे पार्टनर को ऐसे मनाएं, इन तरीकों से कहें सॉरी

झगड़े के बाद रूठे पार्टनर को ऐसे मनाएं
झगड़े के बाद रूठे पार्टनर को ऐसे मनाएं

Relationship Tips: अगर आपका पार्टनर भी झगड़े के बाद आपसे रूठा बैठा है और आप उसे मनाने के तरीक सोच रहे हैं तो आपके लिए यहां कुछ ख़ास टिप्स हैं...

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2020, 8:57 AM IST
  • Share this:
कई बार जा चाहते हुए भी हमारा झगड़ा अपने पार्टनर के साथ हो जाता है और बाद में दोनों तरफ से माफ़ी मांगने के तरीके सोचे जाते हैं. कई बार माफ़ी मांगने के लिए उचित शब्दों का चयन करना भी मुश्किल लगने लगता है. सही समय पर और सही शब्दों के साथ माफी मांगने पर रिश्ते में आई खटास जल्दी खत्म हो जाती है. अगर आपका पार्टनर भी झगड़े के बाद आपसे रूठा बैठा है और आप उसे मनाने के तरीक सोच रहे हैं तो आपके लिए यहां कुछ ख़ास टिप्स हैं...

पार्टनर को वैल्यू दें:
मनमुटाव के बाद आप अपने पार्टनर को पूछें कि इस तनावपूर्ण माहौल को ठीक करने के लिए मुझे क्या करना चाहिए. इससे आपके पार्टनर को समझ आएगा कि आपने उसे वैल्यू दी है. इससे तनाव कम करने में मदद तो मिलेगी ही, साथ ही दिल भी हल्का हो जाएगा. एक-दूसरे को वैल्यू का अहसास कराना जरूरी है.

झगड़े के बारे में अगले दिन बात करें:
झगड़े और बाद-विवाद के बाद माहौल गर्म हो जाता है, ऐसे में दोनों पार्टनर मुद्दे को स्पष्ट करने की कोशिश उसी समय नहीं करें. इससे और ज्यादा तनाव का माहौल हो सकता है. जो भी घटित हुआ, इसके बारे में चर्चा अगले दिन के लिए छोड़ दें. तब तक माहौल शांत हो जाता है और बात करना आसान होता है.



भावनाओं को समझें:
झगड़े के बाद पार्टनर के इमोशन को समझने की कोशिश करें. झगड़ा खत्म करने के लिए आप कह सकते हैं कि मैं आपकी भावनाओं की कद्र करता हूं या करती हूं. इससे यह भी पता चलेगा कि आपने अपनी तरफ से तनावपूर्ण स्थिति को ठीक करने का प्रयास किया है.

सॉरी कहें
किसी भी झगड़े का अंत करने के लिए यह शब्द बेस्ट माना जा सकता है. अपनी गलती मानते हुए कहें कि सॉरी मुझसे गलती हुई, मेरा इरादा आपका दिल दुखाना नहीं था. दिल से मांगी गई माफ़ी से किसी भी इंसान का गुस्सा शांत किया जा सकता है. ईमानदारी से ऐसा करने से आपका पार्टनर खुश हो सकता है.

वादा करें:
जो गलती आपने की है, उस पर काम करने का वादा आप अपने पार्टनर से कर सकते हैं. उन्हें यह कहें कि मैंने जो गलती की गई, वह फिर से रिपीट नहीं होगी. मैं अपनी गलतियों को सुधारने का पूरा प्रयास करूंगा या करूंगी. इससे एक-दूसरे का मनमुटाव जल्दी ही खत्म करने में मदद मिलेगी. गलती सुधारने का वादा करके उस पर काम करना अहम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज