Home /News /lifestyle /

बहुत जल्दी आ जाएगी हेपटाइटिस सी की सस्ती दवाई, गरीबों को नहीं होगी परेशानी

बहुत जल्दी आ जाएगी हेपटाइटिस सी की सस्ती दवाई, गरीबों को नहीं होगी परेशानी

हेपेटाइटिस सी एक तरीके का लिवर का संक्रमण है. (Image: Shutterstock)

हेपेटाइटिस सी एक तरीके का लिवर का संक्रमण है. (Image: Shutterstock)

New drug for hepatitis C: मलेशिया ने हेपटाइटिस सी की सस्ती दवाई इजाद की है जिसका क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है.इस दवाई से लाखों गरीब लोगों की जान बचाई जा सकती है. हेपटाइटिस सी को साइलेंट किलर (silent killer) कहा जाता है क्योंकि ज्यादातर मामलों में इसकी पहचान ही नहीं हो पाती. जब तक पता चलता है तब तक मरीज की मौत हो जाती है. गरीब देशों में ज्यादातर लोग इतनी महंगी दवाई को खरीदने में असमर्थ है.

अधिक पढ़ें ...

    New cheap drug for hepatitis C: हेपटाइटिस सी (hepatitis C) जानलेवा बीमारी है. अगर सही समय पर इसका इलाज नहीं किया जाए तो मरीज की मौत तक हो सकती है. फिलहाल इस बीमारी के लिए बहुत महंगी दवाइयां उपलब्ध है. गरीब देशों में ज्यादातर लोग इतनी महंगी दवाई को खरीदने में असमर्थ है. अब मलेशिया ने दावा किया है कि उसने हेपटाइटिस सी के लिए दुनिया में अब तक की सबसे सस्ती और सबसे प्रभावकारी दवाई इजाद किया है. इस दवाई से लाखों गरीब लोगों की जान बचाई जा सकती है.

    हेपटाइटिस सी को साइलेंट किलर (silent killer) कहा जाता है क्योंकि ज्यादातर मामलों में इसकी पहचान ही नहीं हो पाती. जब तक पता चलता है तब तक मरीज की मौत हो जाती है. अल जजीरा में छपी रिपोर्ट के मुताबिक मलेशिया में पिछले पांच साल से इस दवा के लिए रिसर्च की जा रही थी. जून में मलेशियाई सरकार ने रेविडेसविर (ravidasvir) के साथ सोफोसवुविर (sofosbuvir) दवा के इस्तेमाल की मंजूरी दे दी.

    इसे भी पढ़ेंः Coronavirus: फल-सब्जी को क्या साबुन से साफ करने की जरूरत है, जानें एक्सपर्ट की राय

    मलेशिया और थाईलैंड में क्लिनिकल ट्रायल
    मलेशिया के ड्रग फॉर निगलेक्टेड डिजीज इनीसिएटिव (Drugs for Neglected Diseases initiative -DNDi) ने बताया कि हमने मध्य आय़ वाले देशों के साथ इस दवा को विकसित करने का फैसला लिया था ताकि दुनिया में हर किसी तक इसकी पहुंच उपलब्ध हो सके. इस दवा का क्लिनिकल ट्रायल मलेशिया और थाईलैंड में चल रहा है. जल्द ही इस दवा को सस्ती कीमत पर बाजार में उतारेंगे. नई दवा डाइरेक्ट एक्टिंग एंटीवायरल (direct-acting antiviral -DAA) है जिसे मिस्र की जेनरिक दवा कंपन फारको (Pharco) के साथ विकसित किया गया है. पहली डीडीए दवा सोफोसवुविर (Sofosbuvir ) को अमेरिका में 2013 में ही मंजूरी मिल चुकी थी लेकिन यह दवा अब भी अपेक्षाकृत महंगी है.

    इसे भी पढ़ेंः वजन घटाने के लिए जिम्मेदार इन तीन हॉर्मोंस पर इस तरह करें नियंत्रण

    सात करोड़ लोग हैं हेपटाइटिस सी पीड़ित
    विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के मुताबिक दुनिया में 7.1 करोड़ लोग हेपटाइटिस सी के साथ जी रहे हैं. इस बीमारी में वायरस खून में प्रवेश कर जाता है जो अंततः लीवर सिरोसिस का कारण बन जाता है. हेपटाइटिस सी लीवर कैंसर की बीमारी का भी कारण बनता है. इसके लिए अब तक कोई वैक्सीन नहीं बनी है. यह लीवर को प्रभावित करती है लेकिन जब तक लीवर संक्रमित होता है तब तक कोई खास लक्षण दिखाई नहीं देता है.

    Tags: Health, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर