अपना शहर चुनें

States

वर्चुअल रेस-फिटनेस का नया तरीका, जानें ख़ास बातें 3

वर्चुअल दुनिया में बढ़ने लगा है, वर्चुअल रेस का चलन.
वर्चुअल दुनिया में बढ़ने लगा है, वर्चुअल रेस का चलन.

हर कोई फिट रहना चाहता है. इसके लिए रूटीन में एक्सरसाइज का होना जरूरी है और इस वर्चुअल दुनिया में वर्चुअल रेस से बेहतर इसका कोई विकल्प नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 12:20 PM IST
  • Share this:
सेहतमंद रहना हर कोई चाहता है और इसके लिए रूटीन में एक्सरसाइज को शामिल करना भी जरूरी है. लेकिन इस भागती- दौड़ती और वर्चुअल होती जा रही दुनिया में ऐसा करना थोड़ा मुश्किल लगता है. इससे पार पाने के लिए ही वर्चुअल वर्ल्ड में वर्चुअल रेस का कांसेप्ट (concept) आया. अगर आपने कभी इसके बारे में नहीं सुना तो यहां हम आपको इस तरह की रेस और इसका हिस्सा बनने की पांच वजहों के बारे में बताने जा रहे हैं.

वर्चुअल रेस क्या हैः  

वर्चुअल (Virtual ) रेसिंग वह है जहां आप एक बड़ी वर्चुअल टीम के हिस्से के तौर पर अपनी जगह पर अपने पेस (Pace) से फिटनेस पाने का चैलेंज लेते हैं.  जब आप चैलेंज पूरा कर लेते हैं, तो इसे सबूत के तौर पर अपलोड करते हैं और आपका मेडल पोस्ट किया जाता है. यह केवल रर्नस (Runners) के लिए नहीं है. हर उम्र और क्षमताओं वाले हजारों लोग दुनिया भर से इसमें भाग लेते हैं. दौड़ना, चलना, साइकिल चलाना, या किसी स्पेशल कारण (Cause)  के लिए रेसिंग चैलेंज कुछ भी हो सकता है.



इसे भी पढ़ेंःपॉजिटिव थिंकिंग भी जीवन में धकेल सकती है पीछे, जानें क्या है सच्चाई


क्या हैं वर्चुअल रेस में भाग लेने के कारणः 

यह रेस इसलिए पॉपुलर है क्यों कि इससे लोगों को कुछ ढंग का काम करने का अहसास होता है. कई स्टडीज बताती हैं कि न दौड़ने वाले लोगों की तुलना में रनर्स अधिक खुश रहते हैं. ऐसे समूहों में शामिल होना प्रेरणा पाने और आत्मविश्वास पैदा करने का शानदार तरीका है. इसके अलावा, एक रेसर के तौर पर आपको दौड़ के रोमांच का अनुभव भी मिलता है और फिर अंत में दौड़ के लिए पदक भी.

ऐसा कुछ जिस पर यकीन है उसे प्रोत्साहन करते हैंः

एक स्पेशल कॉज के लिए रेसिंग विशेषकर जो आपके दिल के करीब है, आपको बहुत बड़ा और अहम कुछ पा लेने का अहसास दे सकती हैं.

कुछ हासिल करने की भावनाः 

एक चैलेंज को खत्म करना और मेडल लेना आपको गर्व और कुछ पा लेने के  असल अहसास को महसूस कराता है. अपनी अपनी पहली दौड़ पूरी की हो या अपनी ही पिछली रेस का बेस्ट रेकॉर्ड तोड़ा हो. यह अहसास आपको लंबे समय तक खुशी देता रहेगा.

इसे भी पढ़ेंः 4 कारण जो बताते हैं कि भावनाओं को व्यक्त करना क्यों है जरूरी

बेहतरीन शारीरिक फायदेः  

दौड़ना एक्सरसाइज का एक शानदार तरीका है.  इससे तनाव, अवसाद ही दूर नहीं होता बल्कि अच्छी नींद भी आती है. आपका मूड अच्छा होता है क्योंकि दौड़ने से शरीर में   बूस्टिंग हार्मोन रिलीज होते हैं.

फोकस्ड रखता हैः 

यह लक्ष्य बनाने के बाद उस पर टिके रहने का शानदार तरीका है. जो फोकस और अनुशासन आप यहां सीखते हैं वो अन्य क्षेत्रों में आपकी मदद कर सकता है, जैसे कि काम के क्षेत्र में. (Disclaimer:इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज