ऑफिस का नेगेटिव माहौल दूर करने के लिए अपनाएं कुछ जरूरी टिप्स

कई ऑफिसों में नेगेटिविटी एक प्रमुख समस्या है.
कई ऑफिसों में नेगेटिविटी एक प्रमुख समस्या है.

प्रत्येक कर्मचारी (Employee) अपने काम में उत्कृष्टता प्राप्त करना चाहता है ताकि वह अपने लक्ष्यों को पूरा कर सके और ऑफिस (Office) में सम्मान भी प्राप्त किया जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 9:20 AM IST
  • Share this:
ऑफिस में नकारात्मकता या नेगेटिविटी (Negativity) कम प्रोडक्टिविटी का सबसे बड़ा और अहम कारण है. इससे काम करने वाले लोगों के मनोबल में एनर्जी की कमी आती है और दक्षता भी नहीं रहती. कई संस्थानों में नेगेटिविटी एक प्रमुख समस्या है. इससे मनोबल बढ़ाने के तरीके खोजने में भी संघर्षों का सामना करना पड़ता है. यहां कुछ तरीके बताए गए हैं जिनसे कार्यस्थल से नकारात्मकता दूर की जा सकती है.

अधिक जिम्मेदारियां पूरी करें
प्रोडक्टिविटी के मामले में कोई भी पीछे नहीं रहना चाहता. प्रत्येक कर्मचारी अपने काम में उत्कृष्टता प्राप्त करना चाहता है ताकि वह अपने लक्ष्यों को पूरा कर सके और ऑफिस में सम्मान भी प्राप्त किया जा सके. इसलिए, अगर उन्हें अधिक ज़िम्मेदारियां और कार्य दिए जाएं जिससे वे अपनी क्षमताओं को सिद्ध कर सकें, तो यह उन्हें खुश कर सकता है और उन्हें अधिक से अधिक मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित भी कर सकता है.

इसे भी पढ़ेंः Diwali 2020: जानें कब मनाई जाएगी दिवाली, क्या है दीपावली का महत्व और शुभ मुहूर्त
सभी के साथ समान रूप से पेश आएं


पक्षपात दफ्तरों में कोई नई बात नहीं है. हालांकि हर व्यक्ति को पक्षपात से बचना चाहिए. समान अवसर और जवाबदेही के साथ हर व्यक्ति के साथ समान बर्ताव करना चाहिए. कम्पनी की उचित पॉलिसी के तहत सभी में कामों का बंटवारा समान रूप से होना चाहिए. इससे माहौल में ताजगी बनी रहती है.

अभिव्यक्ति का मौका दें
कर्मचारियों की राय और सुपरवाइजर द्वारा ली जाती है तो उन्हें अपनी पहचान और वैल्यू नजर आती है. अगर कर्मचारी को बोलने का अवसर नहीं दिया जाएगा तो उन्हें में लेट डाउन की भावना आ सकती है. कर्मियों की चिंताओं और सवालों के लिए उचित समय अंतराल पर फीडबैक लेना काफी जरूरी चीज है.

इसे भी पढ़ेंः Diwali 2020: दिवाली पर अपनाएं ये वास्तु टिप्स, मां लक्ष्मी की कृपा से होगी धन की वर्षा

कर्मचारी पर भरोसा करें
व्यवसायिक जीवन में भरोसा एक अहम पहलु है इसलिए ऊंचे पदों पर बैठने वाले लोगों और सुपरवाइजरों द्वारा एक सुरक्षित और स्वस्थ वातावरण बनाने की जरूरत होती है. जहां भरोसा और ईमानदारी होती है, उस कम्पनी में कर्मचारी मुश्किल से ही खिलाफ होते हैं. इसके अलावा यह अनुकूल माहौल भी बनाता है जो टीम और कार्य भावना के लिए जरूरी है.

कर्मचारी को प्रोत्साहित करें
संस्थानों के भीतर पुरस्कार वितरण प्रणाली से कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने और उनका मनोबल बढ़ाने की शानदार रणनीति है. पुरस्कार से कर्मचारियों को मेहनत करने की प्रेरणा मिलती है. इससे संस्थान के प्रति भी सम्मान का भाव पैदा होता है. एक रचनात्मक और सकारात्मक कार्यस्थल के लिए यह एक रास्ता तैयार करता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें).
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज