इस उपन्यास के लिए मिला था भीष्म साहनी को साहित्य अकादमी पुरस्कार

उनके द्वारा लिखे गए 6 उपन्यासों में से 'तमस' सबसे प्रसिद्ध हुई. इसके लिए भीष्म साहनी को 1975 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था.

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 5:38 PM IST
इस उपन्यास के लिए मिला था भीष्म साहनी को साहित्य अकादमी पुरस्कार
उनके द्वारा लिखे गए 6 उपन्यासों में से तमस सबसे प्रसिद्ध हुई. इसके लिए भीष्म साहनी को 1975 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था.
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 5:38 PM IST
आज यानी 8 अगस्त के दिन ही साल 1915 में हिंदी साहित्य के प्रमुख स्तंभों में से एक भीष्म साहनी का जन्म हुआ था. ये भी अजीब बात है कि जिसे हम हिंदी साहित्य का प्रमुख स्तंभ कह रहे हैं, उन्होंने अंग्रेजी साहित्य की पढ़ाई की थी. हिंदी साहित्य के सबसे बड़े आलोचक नामवर सिंह ने एक बार भीष्म साहनी के लिए कहा था,'हैरानी होती है यह देख कर कि रावलपिंडी से आया हुआ आदमी जो पेशे से अंग्रेज़ी का अध्यापक था और जिसकी भाषा पंजाबी थी, वह हिंदी साहित्य में एक प्रतिमान स्थापित कर रहा था'.

भीष्म साहनी को हिन्दी साहित्य में प्रेमचंद की परंपरा का अग्रणी लेखक माना जाता है. शायद ही कोई पुस्तक प्रेमी उनकी कालजयी रचना 'तमस' से अछूता हो. उनके इस लोकप्रिय उपन्यास पर टीवी सीरियल से लेकर फिल्म भी बन चुकी है. उनके द्वारा लिखे गए 6 उपन्यासों में से 'तमस' सबसे प्रसिद्ध हुई. इसके लिए भीष्म साहनी को 1975 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था. इसी वर्ष वे पंजाब सरकार के शिरोमणि लेखक पुरस्कार से भी सम्मानित किए गए.

भारत के विभाजन के ईर्द-गिर्द बुनी गई थी तमस की कहानी

आजादी के ठीक पहले भारत में हुए साम्प्रदायिक दंगों की कहानी कहता है 'तमस'. 'तमस' कुल पांच दिनों की कहानी को लेकर बुना गया उपन्यास है. जब भीष्म साहनी अपने बड़े भाई बलराज साहनी (जो की एक बहुत बड़े फिल्म निर्माता थे) के साथ भिवंडी के दंगे वाले इलाक़ों में गए और उन उजड़े मकानों, तबाही और बर्बादी का मंज़र देखा तो उन्हें 1947 के रावलपिंडी का दृश्य याद आया और दिल्ली लौटने के बाद उन्होंने 'तमस' लिखना शुरू कर दिया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 5:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...