क्या है सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा (Soft tissue sarcoma) जिससे जूझ रहे थे अरुण जेटली

News18Hindi
Updated: August 24, 2019, 3:14 PM IST
क्या है सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा (Soft tissue sarcoma) जिससे जूझ रहे थे अरुण जेटली
यह एक रेयर कैंसर होता है. जब हमारे शरीर के सेल्स डीएनए के अंदर भी विकसित होने लगती हैं, तब यह बीमारी उत्पन्न होती है

Arun jaitely अरुण जेटली जिस सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा (Soft tissue sarcoma) से पीड़ित थे, वह एक रेयर कैंसर होता है. जब हमारे शरीर के सेल्स डीएनए के अंदर भी विकसित होने लगती हैं, तब यह बीमारी उत्पन्न होती है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2019, 3:14 PM IST
  • Share this:
पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के बड़े नेता अरुण जेटली Arun jaitely का शनिवार यानी आज दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया. वो लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे. दरअसल, दो साल पूर्व ही उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था, जहां वह डायलसिस पर थे. इसके बाद अगले साल 14 मई को उनका किडनी ट्रांसप्लांट किया गया. किडनी ट्रांसप्लांट के बाद से ही जेटली के बाएं पैर में एक रेयर कैंसर हो गया. जिसका नाम था (Soft tissue sarcoma) सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा. इसके इलाज के लिए वह अमेरिका भी गए पर वक्त के साथ उनकी स्थिति खराब होती चली गई और आखुरकार उनका देहांत हो गया.

क्या होता है सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा

यह एक रेयर कैंसर होता है. जब हमारे शरीर के सेल्स डीएनए के अंदर भी विकसित होने लगती हैं, तब यह बीमारी उत्पन्न होती है. ये सेल्स में ट्यूमर की तरह विकसित होता है और धीरे-धीरे पूरे शरीर में फैलने लगता है. यह शरीर के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकती है. चाहे वो आपके कंधे हों या पैर. इसे सर्जरी के जरिए निकाला जा सकते है.इसके अलावा रेडिएशन और कीमोथेरेपी के जरिये भी इसका इलाज संभव है, लेकिन यह साइज, प्रकार और जगह पर निर्भर करता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 3:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...