लाइव टीवी
Elec-widget

अब हड्डी टूटने पर नहीं लगेगा प्लास्टर, नई तकनीक से खुजली और बदबू से भी मिलेगी मुक्ति


Updated: November 21, 2019, 12:56 PM IST
अब हड्डी टूटने पर नहीं लगेगा प्लास्टर, नई तकनीक से खुजली और बदबू से भी मिलेगी मुक्ति
cast21

अमेरिका की एक स्टार्टअप (Startups in America) ने प्लास्टर का ऐसा विकल्प तैयार (Plaster cast option) किया है जिसे पहन कर आप नदी, तालाब, स्वीमिंग पूल या समंदर कहीं भी नहा सकते हैं. यह न तो गिला होगा बल्कि बेहद हल्का और हवादार भी रहेगा.

  • Last Updated: November 21, 2019, 12:56 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. हड्डी टूटने में होने वाले दर्द (Ortho Pain Relief) के अलावा सबसे बड़ा साइड अफेक्ट (Side Effects of Fracture ) होता है उसे जोड़ने के लिए लगने वाला प्लास्टर (Fracture Plaster). यहां तक तो फिर भी ठीक है इसके बाद पारंपरिक प्लास्टर में आपको खुजली और बदबू मुसीबत और बढ़ा देते हैं. लेकिन जल्दी है प्लाटर ऑफ पेरिस कास्ट (Plaster of Paris) से आपको मुक्ति मिल सकती है. अमेरिका की एक स्टार्टअप (Startups in America) ने प्लास्टर का ऐसा विकल्प तैयार (Plaster cast option) किया है जिसे पहन कर आप नदी, तालाब, स्वीमिंग पूल या समंदर कहीं भी नहा सकते हैं. यह न तो गिला होगा बल्कि बेहद हल्का और हवादार भी रहेगा.

cast21
प्लाटर ऑफ पैरिस का कास्ट अमूमन सफेद या नीले रंग का होता है.


अमेरिका की कास्ट21 नाम के एक स्टार्टअप ने यह नया अविष्कार किया है. इसे पहले तो शरीर के जिस हिस्से की हड्डी टूटी वहां फिट कर दिया जाता है. इसके बाद पहनाए गए ढांचे में राल जैसा तरल पदार्थ भर दिया जाता है. यह लिक्विड पहनाए गए ढांचे के अंदर ही सख्त होकर आपकी हड्डी को जुड़ने के लिए जरूरी सपोर्ट प्रदान करता है.

cast21
प्लाटर ऑफ पैरिस का कास्ट अमूमन सफेद या नीले रंग का होता है.


इस नए ढांचे की खासियत यह है कि इसे मनचाहे कलर में पहना जा सकता है. प्लाटर ऑफ पैरिस का कास्ट अमूमन सफेद या नीले रंग का होता है. हड्डी जुड़ने के बाद इसे काटना भी नहीं पड़ता. इसके एक कोने में वाल्व होता जिसे खोलकर आसानी से कास्ट उतारा जा सकता है.

cast21
पारंपरिक प्लास्टर में आपको खुजली और बदबू मुसीबत और बढ़ा देते हैं.


इस कास्ट को लगाने के लिए मरीज का नाप फ्लेक्सिबल यानी शरीर के आकार के अनुरूप मुड़ने वाली टेप से लिया जाता है. इसके बाद कास्ट ढांचा हाथ या जहां भी हड्डी टूटी है वहां चढ़ाया जाता है. अब कास्ट21 के पेटेंट कराए लिक्विड या राल को कास्ट के ट्यूब में भर दिया जाता है.
Loading...

cast21
प्लाटर ऑफ पेरिस कास्ट से आपको मुक्ति मिल सकती है.


पूरी तरह से भरने के तीन मिनट बाद यह लिक्विट जेल का रूप धारण कर लेता है. अब डॉक्टर कास्ट को मरीज के टूटे हुए अंग के हिसाब से उसे फिट कर सकता है. इसके अगले पांच से सात मिनट में मे यह कास्ट सख्त हो जाता है. फाइबरग्लास के बने इस कास्ट लगाने में कुल 20 मिनट का समय लगता है.

ये भी पढ़ें:

बचाना चाहते हैं अपनी बत्तीसी तो अपनाएं यह आसान तरीका

सावधान! आपकी वॉशिंग मशीन है कीटाणुओं का घर, ऐसे करें बचाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 12:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...