लाइव टीवी

क्या आप भी विज्ञापन देखकर सामान खरीदते हैं?

News18Hindi
Updated: February 7, 2020, 11:53 AM IST
क्या आप भी विज्ञापन देखकर सामान खरीदते हैं?
चेहरे के रंग को गोरा बनाने वाली क्रीम वाले विज्ञापन दिखाने पर कंपनियों को 50 लाख रुपये का जुर्माना भरना पड़ सकता है.

क्या आप भी टीवी पर रंग-बिरंगे विज्ञापनों को देखते हैं और फेयरनेस क्रीम को खरीद लेते हैं? विज्ञापन में क्रीम जैसे रिजल्ट देखती है, वैसे न मिलने पर निराशा तो होती है. उस समय ऐसा लगता है क्यों इतने पैसे बर्बाद किए इस फालतू सी फेयरनेस क्रीम के लिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 7, 2020, 11:53 AM IST
  • Share this:
क्या आपकी हाइट कम है? आपको दोस्तों और रिश्तेदारों के सामने हाइट की वजह से शर्मिंदगी महसूस होती है? तो अपनाइए ये कैप्सूल. जो आपको सिर्फ 15 दिनों में देगा दोगुनी हाइट. क्या आपने भी कुछ इन्हीं तरह के विज्ञापन देखकर प्रोडक्ट्स को खरीदा है और रिजल्ट पॉजिटिव नहीं आया है? अगर, हां तो जाहिर सी बात है कि आपके मन में भी प्रोडक्ट को खरीदने के बाद दुख हुआ होगा. हो सकता है कि इन प्रोडक्ट्स का साइड इफेक्ट भी आपको देखने को मिले. तो चिंता मत करिए इन भ्रामक विज्ञापनों पर सरकार लगाम लगाने की तैयारी कर रही है.

चेहरे के रंग को गोरा बनाने वाली, बालों को लंबा करने वाली, शरीर की हाईट को बढ़ाने वाली, मोटापा कम करने का दावा करने वाली क्रीम और दवाओं वाले विज्ञापन दिखाने पर कंपनियों को 5 साल तक की सजा और 50 हजार रुपये का जुर्माना भरना पड़ सकता है.

भ्रामक विज्ञापनों को रोकने के लिए मौजूदा ड्रग्स एंड मैजिक रेमिडीस एक्ट 1954 में संशोधन करने का फैसला किया गया है.
भ्रामक विज्ञापनों को रोकने के लिए मौजूदा ड्रग्स एंड मैजिक रेमिडीस एक्ट 1954 में संशोधन करने का फैसला किया गया है.


पुराने एक्ट में किया जाएगा बदलाव

केंद्र सरकार द्वारा प्रोड्क्ट्स को बेचने के लिए इस्तेमाल करने वाले भ्रामक विज्ञापनों को रोकने के लिए मौजूदा ड्रग्स एंड मैजिक रेमिडीस (ऑब्जेक्शनेबल एडवर्टाइजमेंट) एक्ट 1954 में संशोधन करने का फैसला किया है. ड्रग्स एंड मैजिक रेमिडीस में होने वाले संशोधन पर अधिकारियों का कहना है कि शारीरिक तौर पर किसी भी तरह का आकर्षण बनाने वाले झूठे विज्ञापनों पर नकेल कसने के लिए सरकार द्वारा यह कदम उठाया जा रहा है.

 

इसे भी पढ़ें : वर्जिनिटी वापस पाने के लिए महिलाएं कर रही हैं ये खतरनाक काम, लोग बोले- 'बैन करो इसे'इसके तहत कंपनियों को 10 लाख रुपए तक जुर्माना और दो साल कारावास का प्रावधान किया जा रहा है. अधिकारियों के मुताबिक, अगर इसके बाद भी कंपनियां इस तरह के भ्रामक विज्ञापन दिखाती हैं तो उन पर 50 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है.

मोटापे से छुटाकारा जैसे विज्ञापनों दिखाने वाली कंपनियों पर सरकार सख्त कार्रवाई करेगी.
मोटापे से छुटाकारा जैसे विज्ञापनों दिखाने वाली कंपनियों पर सरकार सख्त कार्रवाई करेगी.


इन विज्ञापनों पर रहेगी नजर
त्वचा गोरा करने वाले, सफेद वालों को काला करने वाले, शरीर को लंबा करने वाले और मोटापे से छुटाकारा, बालों को लंबा करने जैसे विज्ञापनों पर सख्त कार्रवाई होगी. बता दें कि भारत में कई ऐसे कंपनियां हैं जो अपने प्रोडक्ट्स को बेचने के लिए शरीर को आकर्षक बनाने का झूठा दावा करती हैं. टीवी, अखबार, रेडियो समेत कई जगहों पर ऐसे विज्ञापनों का प्रचार किया जाता है और ग्राहकों को यकीन दिलाया जाता है कि इन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से शरीर का काया पूरी तरह से बदल जाएगी. आम ग्राहक भी इन विज्ञापनों को सच मानकर उत्पाद खरीद लेते हैं. लेकिन इनसे कुछ खास फायदा नहीं होता.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 11:15 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर