देर रात तक जगने की आदत है तो हो जाएं सावधान!

एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि देर रात तक जागने वाले लोगों को डायबिटीज और दिल की बीमारी का खतरा बना रहता है

News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 1:19 PM IST
देर रात तक जगने की आदत है तो हो जाएं सावधान!
एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि देर रात तक जागने वाले लोगों को डायबिटीज और दिल की बीमारी का खतरा बना रहता है
News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 1:19 PM IST
क्या आपको भी देर रात तक जगने की आदत है? क्या आप भी उन्हीं लोगों में से हैं, जो देर रात जगकर मोबाइल पर टीवी या वेबसीरीज देखते रहते हैं? तो आपको बता दें कि एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि देर रात तक जागने वाले लोगों को डायबिटीज और दिल की बीमारी का खतरा बना रहता है. इसका खुलासा हाल ही में हुए एक स्टडी में हुआ है जिसमें बताया गया है कि देर रात तक जागने वाले लोगों का पूरा रूटीन खराब हो जाता है.

  • नींद न आने की वजह से ऐसे लोग डिप्रेशन के शिकार भी हो सकते हैं. देर रात तक जागने से खाने-पीने का रूटीन भी बिल्कुल खराब हो जाता है, जिसके चलते आपके शरीर का मोटापा बढ़ने लगता है. ऐसा अगर आपके घर परिवार में कोई कर रहा है या फिर आपको खुद देर रात तक जागने की आदत है तो आज ही सावधान हो जाइए.

  • इंसान का शरीर 24 घंटे के हिसाब से चलता है. हमें कब खाना है, कब सोना है और कब जगना है ये सब हमारे ऑगर्न तय करते हैं. ऐसे में अगर आप अपने शरीर को सही समय पर खाना या आराम नहीं देंगे तो आगे चलकर आपके शरीर को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.


  • शोधकर्ताओं के अनुसार देर रात तक जागने वाले लोग ज्यादातर अनहेल्दी डाइट का सेवन करते हैं. इन लोगों में से शराब, मीठी चीजें, चाय और कॉफी पीने की आदत होती है. जबकी सही समय पर सोने वाले लोग ऐसा बिल्कुल नहीं करते हैं. उन्हें सही समय पर भूख लगती है और वह जल्द ही किसी चीज के आदी भी नहीं बनते.

  • जो लोग सही समय से सोते नहीं है वो उठते भी सही समय पर नहीं हैं और ऐसे में उनका पूरा दिन भी खराब हो जाता है. ऐसे लोगों को उम्र से पहले ही डायबिटीज जैसी बीमारी हो जाती है. इसके अलावा भी कई और खतरनाक बीमारियां होने की आशंका रहती है. देर रात तक जगने वाले सुबह जल्दी नहीं उठते हैं और सही समय पर नाश्ता भी नहीं कर पाते हैं. यह गलत आदतें उनकी दिनचर्या खराब करती है.

  • जो लोग देर रात को सोते है और सुबह देर से उठते है इसका असर उनके दिमाग और हॉर्मोन पर भी पड़ता है. स्टडी में बताया गया है कि ऐसे लोगों के दिमाग में व्हाइट मैटर बहुत ही खराब स्थिती में होता है. विशेष रूप से दिमाग के उन हिस्सों में होता है जहां से दुख के भाव पैदा होते हैं और इसलिए ऐसे लोग ज्यादा तनाव में रहते हैं.

  • Loading...


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 20, 2019, 12:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...