अपना शहर चुनें

States

असमय सफेद होते बालों के लिए अपनाएं ये 4 आयुर्वेदिक नुस्‍खे, बाल होंगे काले

बालों को काला करने के लिए करी पत्ते (Curry Leaves) का प्रयोग काफी फायदेमंद है.
बालों को काला करने के लिए करी पत्ते (Curry Leaves) का प्रयोग काफी फायदेमंद है.

Ayurvedic Remedies For Greying Hair: असमय बालों का सफेद होना (Grey Hair) आजकल आम बात होती जा रही है. दवाइयों के साइड इफेक्‍ट से बचने के लिए आप आयुर्वेदिक उपचारों (Ayurvedic Remedies) का सहारा ले सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 10:03 AM IST
  • Share this:
Ayurvedic Remedies For Greying Hair: काले, लंबे और घने बालों की चाहत किसे नहीं होती लेकिन बदलती लाइफ स्‍टाइल और बढ़ते प्रदूषण की वजह से असमय बालों का सफेद होना आजकल आम बात होती जा रही है. इसकी कई और वजहें भी हैं. बालों का समय से पहले सफेद होना शरीर में पित्त दोष (Biliousness) का एक लक्षण भी होता है. इसके अलावा मेडिकल प्रॉब्‍लम्‍स (जैसे अल्बिनिज्म और विटिलिगो), आनुवांशिक कारक, केमिकल्‍स का उपयोग (जैसे बालों में ब्लीचिंग या कलर का अत्यधिक उपयोग) और हार्मोनल प्रॉब्‍लम्‍स (जैसे थायराइड की समस्या, प्रेग्‍नेंसी) भी अक्सर इस समस्या को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं. इसके उपचार के लिए हम डॉक्‍टर के पास जा सकते हैं लेकिन अगर आप दवाइयों के साइड इफेक्‍ट से बचना चाहते हैं तो आयुर्वेदिक उपचारों (Ayurvedic Remedies) का सहारा ले सकते हैं.

करी पत्‍ते का प्रयोग

बालों को काला करने के लिए करी पत्ते (Curry Leaves) का प्रयोग काफी फायदेमंद है. इसमें मौजूद विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और आयोडीन,  सेलेनियम, जिंक, आयरन जैसे मिनरल्स बालों को सुंदरता और मजबूती देते हैं.बीटा केरोटिन और प्रोटीन की भरपूर मात्रा होने के कारण यह सफेद बालों की परेशानी को भी दूर करता है. इसके इस्‍तेमाल के लिए आप 50 ग्राम करी पत्ते को 500 मिलीलीटर नारियल के तेल या किसी अन्य तेल में अच्छी तरह से उबालें. इस मिश्रण को ठंडा होने दें और इसे छानकर किसी बोतल में रख लें. अब अपने स्‍कैल्‍प और बालों की मालिश करने के लिए इस तेल का उपयोग करें. आधे घंटे के बाद शैम्पू से साफ कर लें.



इसे भी पढ़ें : Camphor Face Pack: स्किन के लिए फायदेमंद है कपूर, जानें इसे लगाने का तरीका


भृंगराज का प्रयोग

सफेद बालों से बचने का यह सबसे अच्‍छा प्राकृतिक तरीका है. आप अपने बालों में नियमित रूप से भृंगराज तेल की मसाज कर सकते हैं. आप चाहे तो इसे कैस्टर ऑयल के साथ मिलाकर लगा सकती हैं. ये दोनों ही तेल बालों को प्राकृतिक रूप से काला करने के लिए प्रभावी हैं. आप अपने हेयर पैक में भी भृंगराज पाउडर मिलाकर इसका प्रयोग कर सकती हैं. हफ्ते में दो बार भृंगराज पेस्ट को अपने बालों के स्कैल्प पर लगाएं और 20 मिनट के बाद बालों को  धो दें.

प्याज का प्रयोग

प्याज में सल्‍फर पाया जाता है जो न सिर्फ बालों को गिरने से रोकता है बल्कि उन्‍हें प्राकृतिक रूप से काला भी करता है. प्याज में मौज़ूद एंटीऑक्सीडेंट बालों की ग्रोथ को बेहतर बनाने में मदद करता है और एंजाइम बालों को जड़ों से मजबूत बनाता है. इसका इस्‍तेमाल करने के लिए आप प्याज को कूच लें और मलमल के कपड़े की मदद से इसका रस निकाल लें. इसके रस में कॉटन डुबाएं और स्कैल्प में अच्छी तरह लगाएं. हल्के हाथों से बालों पर मसाज करें. 15 मिनट बाद शैंपू कर लें. कुछ ही दिनों में फर्क दिखेगा.

आंवले का प्रयोग

आंवला प्राकृतिक रूप से सफेद बालों की समस्या दूर करता है. विटामिन सी और अन्य एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर आंवले में फ्री-रेडिकल्स से लड़ने की क्षमता होती है जो सफेद बालों की समस्या को दूर करती है. इसके इस्‍तेमाल के लिए नारियल तेल गर्म कर इसमें आंवला पाउडर और मेथी पाउडर डालें. इस पेस्ट को ठंडा कर बालों और स्‍कैल्‍प पर लगाएं. अच्छी तरह मसाज करें और रातभर छोड़ दें. इस पेस्ट को हफ्ते में एक बार इस्तेमाल करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज