Gudi padwa 2020: इन खूबसूरत शायरी और मैसेज के जरिए अपनों को दें गुड़ी पड़वा की बधाई

Gudi padwa 2020: इन खूबसूरत शायरी और मैसेज के जरिए अपनों को दें गुड़ी पड़वा की बधाई
गुड़ी पड़वा के दिन लोग एक-दूसरे से मिलते हैं.

गुड़ी पड़वा के दिन अगर, आप भी अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, परिवार वालों को बधाई देना चाहते हैं तो हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ खास शुभकामना संदेश.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2020, 1:25 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
Gudi Padwa 2020: चैत्र नवरात्रि के साथ हिंदू नववर्ष की शुरुआत होती है. हिंदू नववर्ष को आंध्र प्रदेश, कर्नाटक में उगादी के नाम से जाना जाता है. वहीं, महाराष्ट्र में इसे गुड़ी पड़वा (Gudi Padwa 2020) के नाम से जानते हैं. गुड़ी पड़वा का त्योहार पूरे महाराष्ट्र में धूमधाम से मनाया जाता है. इस साल गुड़ी पड़वा का त्योहार 25 मार्च को मनाया जाएगा.

गुड़ी पड़वा के दिन लोग एक-दूसरे से मिलते हैं. मिठाई बांटते हैं और हिंदू नववर्ष की बधाई देते हैं. हालांकि वर्तमान समय में लोग एक-दूसरे के घर जाने से ज्यादा सोशल मीडिया के जरिए बधाई देते हैं. गुड़ी पड़वा के दिन अगर, आप भी अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, परिवार वालों को बधाई देना चाहते हैं तो हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ खास शुभकामना संदेश.

बड़ों का करो सम्मान,
बच्चों को दो प्यार,



इस संकल्प के साथ मनाओ गुड़ी पड़वा का त्योहार.



नए पत्ते आते है वृक्ष ख़ुशी से झूम जाते हैं
ऐसे मौसम में ही तो नया आगाज होता है
हम यूंही हैप्पी न्यू ईयर नहीं मनाते
हिन्दू धर्म में यह त्योहार प्राकृतिक बदलाव से आते हैं.
हैप्पी गुड़ी पड़वा.

नवदुर्गा के आगमन से सजता है नया साल,
गुड़ी के त्योहार से खिलता है नया साल,
कोयल गाती है नए साल का मल्हार,
संगीतमय हो जाता है सारा संसार,
चैत्र की शुरुआत से होती है नई शुरुआत,
यही है हिंदू नव वर्ष का शुभारंभ.
हैप्पी गुड़ी पाड़वा.

मधुर संगीत सा साल खिले,
हर एक पल खुशियां ही खुशियां मिले,
दिया-बाती से सजाओ गुड़ी का यह पर्व,
ऐसे ही रोशन रहे आपका नव वर्ष,
हैप्पी गुड़ी पाड़वा.

संगीतमय हो जाता है सारा संसार,
चैत्र की शुरुआत से होती है नई शुरुआत,
यही है हिंदू नव वर्ष का शुभारंभ.
हैप्पी गुड़ी पाड़वा.

आई हैं बहारे, नाचे हम और तुम
पास आये खुशियां और दूर जाए ग़म
प्रकृति की लीला है छाई
आप सभी को दिल से गुड़ी पड़वा की बधाई.

नए दिन की नई सुबह
चलो मनाएं एक साथ,
है यही गुड़ी का पर्व
दुआ करें सदा रहें हम साथ-साथ
हैप्पी गुड़ी पड़वा.

नए पत्ते आते है पेड़ खुशी से झूम जाते हैं
ऐसे मौसम में ही तो नया आगाज होता है
हम यूं ही गुड़ी पड़वा नहीं मनाते
हिन्दू धर्म में यह त्योहार प्राकृतिक बदलाव से आते.

नया दिन और एक नयी सुबह
चलो मनाएं एकसाथ
है यह गुड़ी का पर्व
दुआ करें सदा रहें हम साथ-साथ.

आई हैं बहारे, नाचे हम और तुम
पास आये खुशियां और दूर जाए ग़म
प्रकृति की लीला हैं छाई
सभी को दिल से गुड़ी पड़वा की बधाई

वृक्षों पर सजती नये पत्तों की बहार
हरियाली से महकता प्रकृति का व्यवहार
ऐसा सजता हैं गुड़ी का त्योहार
मौसम ही कर देता नववर्ष का सत्कार
गुड़ी पड़वा की बधाई..

खुशियां हो ओवरफ्लो
मस्ती कभी न हो लो
धन और शोहरत की हो बौछार
ऐसा आये आपके लिए गुड़ी पड़वा का त्योहार
गुड़ी पड़वा की हार्दिक शुभकामनाएं
First published: March 20, 2020, 12:28 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading