लाइव टीवी

पीरियड्स से पहले होती है कुछ इस तरह की परेशानी, तुरंत आजमाएं ये उपाय

News18Hindi
Updated: February 6, 2020, 6:38 AM IST
पीरियड्स से पहले होती है कुछ इस तरह की परेशानी, तुरंत आजमाएं ये उपाय
पीरियड फ्लू का सबसे बड़ा कारण पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर में होने वाले हॉर्मोनल बदलाव हैं.

कई बार लड़कियों में पीरियड्स की शुरुआत से कुछ दिनों पहले फ्लू जैसे लक्षण सामने आने लगते हैं. इसे 'पीरियड फ्लू' कहा जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2020, 6:38 AM IST
  • Share this:
पीरियड्स के दौरान ज्यादातर लड़कियों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है. पेट के निचले हिस्से में दर्द, ऐंठन और मूड स्विंग होना तो काफी सामान्य है लेकिन कई बार लड़कियों में पीरियड्स की शुरुआत से कुछ दिनों पहले फ्लू जैसे लक्षण भी सामने आने लगते हैं. दरअसल इसे 'पीरियड फ्लू' कहा जाता है. सामान्य फ्लू की तरह ये समस्या रेस्पिरेटरी इंफेक्शन के कारण नहीं होती है. कुछ लोग तो इसे प्रेग्नेंसी भी समझ लेते हैं. आइए आपको बताते हैं पीरियड फ्लू के बारे में.

इसे भी पढ़ेंः ऑफिस के काम को बेहतर करने में मदद करेगी वियाग्रा, जानिए क्या है मामला

पीरियड फ्लू के लक्षण कई बार पीरियड्स के कुछ दिनों पहले ही दिखने लगते हैं, इसलिए उल्टी, बुखार, मतली जैसे लक्षणों के कारण कुछ महिलाएं यह समझ लेती हैं कि वो प्रेग्नेंट हो गई हैं. ऐसे में बिना जानकारी के किसी दवा का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए. आप कंफर्मेशन के लिए घर पर ही छोटा सा प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं. हालांकि कुछ घरेलू उपायों की मदद से इसके लक्षणों को कम किया जा सकता है.

उल्टी, बुखार जैसे लक्षणों के कारण कुछ महिलाएं यह समझ लेती हैं कि वो प्रेग्नेंट हो गई हैं.


क्या है पीरियड फ्लू का कारण?
डॉक्टरों की मानें तो पीरियड फ्लू का सबसे बड़ा कारण पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर में होने वाले हॉर्मोनल बदलाव हैं. वैसे तो हर महिला के जीवन में कई ऐसे मौके आते हैं, जब हॉर्मोन्स असंतुलित हो जाता है लेकिन हर बार महिला को फ्लू जैसा महसूस हो ऐसा बिल्कुल जरूरी नहीं.

पीरियड फ्लू के लक्षणपीरियड्स के दौरान होने वाली इस खास समस्या को 'पीरियड फ्लू' नाम दिया गया है. ये समस्या महिलाओं में पीरियड्स शुरू होने के कुछ दिनों पहले या उसी दौरान शुरू हो जाती है. इसमें फ्लू जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं. आइए आपको बताते हैं इसके लक्षणों के बारे में.

  • पेट में मरोड़ और ऐंठन की समस्या

  • मांसपेशियों में तेज दर्द

  • बुखार आना

  • चक्कर आना

  • उल्टी जैसा महसूस होना

  • कब्ज की परेशानी

  • थकान और आलस की समस्या

  • लगातार सिर दर्द होना


पीरियड फ्लू कोई मेडिकल कंडीशन नहीं है और न ही इसका कारण माइक्रोब्स होते हैं.


घरेलू उपाय करेंगे मदद
पीरियड फ्लू कोई मेडिकल कंडीशन नहीं है और न ही इसका कारण माइक्रोब्स होते हैं, इसलिए इसका कोई सटीक इलाज नहीं है. हालांकि डॉक्टरों के मुताबिक कुछ बातों का ध्यान रखकर इस समस्या को कम किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंः अनियमित पीरियड्स और इनफर्टिलिटी की वजह हो सकती है इस हॉर्मोन की कमी, जानें इसे कैसे बढ़ाएं

  • हीटिंग पैड के इस्तेमाल से पेट के निचले हिस्से के दर्द को कम किया जा सकता है.

  • ज्यादा से ज्यादा आराम करें.

  • कई बार कब्ज की समस्या या उल्टी होने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है. इसलिए खूब पानी पिएं और लिक्विड डाइट लेते रहें. पानी उबाल कर पिएं.

  • फास्ट फूड और जंक फूड के बजाय फल, सब्जियां, नट्स, अनाज जरूर खाएं. इनमें फाइबर की मात्रा बहुत अच्छी होती है.

  • कम से कम तनाव लें और दिनभर अपने मनपसंद कामों में व्यस्त रहें.

  • भरपूर नींद भी जरूरी है. नींद की कमी से भी कई तरह की समस्याएं होती हैं.

  • अगर आपको समस्या ज्यादा लगती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 6:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर